भारत के 5 अनोखे रेलवे स्टेशन, यहां जाने के लिए लेना पड़ता है वीजा (Visa)

Visa
Facebook
Twitter
Telegram
WhatsApp

भारत के 5 अनोखे रेलवे स्टेशन, यहां जाने के लिए लेना पड़ता है वीजा (Visa)

न्यूज़ डेस्क:- भारत में रेलवे को जीवन रेखा माना जाता है। यह सभी वर्गों के लोगों के लिए परिवहन का एक सुलभ और सस्ता साधन है। भारत में 7000 से अधिक रेलवे स्टेशन हैं। कई रेलवे स्टेशन अपनी खूबसूरती के लिए जाने जाते हैं तो कई अपने लंबे प्लेटफॉर्म और साफ-सफाई आदि के लिए। ऐसे में आइए नजर डालते हैं भारत के 5 सबसे अनोखे रेलवे स्टेशनों की सूची पर।

नवापुर रेलवे स्टेशन

भारत के सबसे अलग और अनोखे रेलवे स्टेशनों की लिस्ट में नवापुर रेलवे स्टेशन का नाम सबसे ऊपर आता है। इस स्टेशन का एक हिस्सा महाराष्ट्र में है, जबकि दूसरा हिस्सा गुजरात में है। इसी वजह से नवापुर रेलवे स्टेशन दो अलग-अलग राज्यों में बंटा हुआ है, जहां प्लेटफॉर्म से लेकर बेंच तक हर चीज पर महाराष्ट्र और गुजरात लिखा हुआ है. स्टेशन पर 4 भाषाओं, अंग्रेजी, हिंदी, मराठी और गुजराती में भी घोषणाएं की जाती हैं।

यह भी पढ़िए| दुनिया (World) के 10 सबसे बड़े साम्राज्य, जिनकी वीरता और ताकत के सामने दुनिया झुक गई थी 

बिना नाम वाला रेलवे स्टेशन

क्या आपने कभी बिना नाम के रेलवे स्टेशन के बारे में सुना है? या किसी ऐसे स्टेशन के बारे में सुना है जो बिना किसी नाम के पूरी तरह से काम कर रहा हो। पश्चिम बंगाल में बर्धमान से 35 किमी दूर बांकुरा-मसग्राम रेलवे लाइन पर स्थित इस अनाम रेलवे स्टेशन का निर्माण वर्ष 2008 में किया गया था, जिसे रैनागढ़ नाम दिया गया था। लेकिन रैना गांव के लोगों को रेलवे स्टेशन का यह नाम पसंद नहीं आया इसलिए उन्होंने रेलवे बोर्ड से स्टेशन का नाम बदलने की शिकायत की तो इस स्टेशन के बोर्ड से रैनागढ़ का नाम हटा दिया गया. तभी से यह रेलवे स्टेशन बिना नाम के चल रहा है।

यह भी पढ़िए:- Ajab-Gazab: इतिहास के सबसे अमीर आदमी की कहानी, जिसकी दौलत का आज तक आंकलन नहीं किया गया

झारखंड का बेनाम स्टेशन

रांची से झारखंड की राजधानी तोरी जाने वाली ट्रेन भी एक अनाम स्टेशन से होकर गुजरती है. यहां किसी तरह का कोई साइन बोर्ड भी नहीं दिखेगा। 2011 में जब पहली बार इस स्टेशन से ट्रेन का संचालन शुरू हुआ तो रेलवे ने इसका नाम बरकिचंपी रखने की सोची। लेकिन कमले गांव के लोगों के विरोध के बाद यह स्टेशन भी गुमनाम रह गया. उन लोगों का कहना था कि इस रेलवे स्टेशन को बनाने में उनके गांव की जमीन और मजदूरों को लगाया गया है, इसलिए इस गांव का नाम कमले स्टेशन होना चाहिए. इस तरह इस विवाद के बाद भी इस स्टेशन का कोई नाम नहीं पड़ा है.

यह भी पढ़िए:-भारतीय नागरिक बिना वीजा (Visa) के इन देशों में कर सकते हैं यात्रा (Travel), बस पासपोर्ट साथ होना चाहिए

ट्रेन से यात्रा करने के लिए लेना होगा वीजा

अगर आप अटारी रेलवे स्टेशन से ट्रेन पकड़ना चाहते हैं या इस स्टेशन पर उतरना चाहते हैं, तो आपके पास वीजा होना चाहिए। भारत और पाकिस्तान की सीमा पर स्थित अमृतसर में अटारी रेलवे स्टेशन बिना वीजा (Visa) के सख्त वर्जित है। इस स्टेशन पर चौबीसों घंटे सुरक्षा बलों की निगरानी की जाती है, इसलिए अगर कोई व्यक्ति बिना वीजा के पकड़ा जाता है तो उस पर 14 विदेशी अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया जा सकता है और उस व्यक्ति को दंडित भी किया जा सकता है।



यह भी पढ़िए:-दुनिया (World) के इस देश में जेलें तो हैं लेकिन एक भी कैदी नहीं, सारी जेलें खाली

भवानी मंडी

दिल्ली-मुंबई रेलवे लाइन पर स्थित भवानी मंडी रेलवे स्टेशन के दो अलग-अलग राज्यों के लिंक हैं। यह अनोखा रेलवे स्टेशन राजस्थान और मध्य प्रदेश के बीच विभाजित है, जिसके कारण भवानी मंडी में रुकने वाली हर ट्रेन का इंजन राजस्थान में है जबकि इसके डिब्बे मध्य प्रदेश की भूमि में खड़े हैं। भवानी मंडी रेलवे स्टेशन के एक छोर पर राजस्थान का बोर्ड लगाया गया है, जबकि दूसरे छोर पर मध्य प्रदेश का बोर्ड लगाया गया है. दो राज्यों में विभाजित होने के कारण यह स्टेशन भारत के सबसे अनोखे रेलवे स्टेशनों में गिना जाता है, जो झालावाड़ जिले और कोटा मंडल के अंतर्गत स्थित है।



यह भी पढ़िए | इस देश में छपते थे भगवान राम (Ram) की तस्वीर वाले नोट, इतनी थी 1 मुद्रा की कीमत

इस आर्टिकल को शेयर करें

इस आर्टिकल को शेयर करें

TalkAaj (बात आज की) के समाचार ग्रुप Whatsapp से जुड़े
TalkAaj (बात आज की) के समाचार ग्रुप Telegram से जुड़े
TalkAaj (बात आज की) के समाचार ग्रुप Instagram से जुड़े
TalkAaj (बात आज की) के समाचार ग्रुप Youtube से जुड़े
TalkAaj (बात आज की) के समाचार ग्रुप को Twitter पर फॉलो करें
TalkAaj (बात आज की) के समाचार ग्रुप Facebook से जुड़े
TalkAaj (बात आज की) के समाचार ग्रुप को Google News पर फॉलो करें



 

Facebook
Twitter
Telegram
WhatsApp
TalkAaj

TalkAaj

Leave a Comment

Top Stories

Rakhi

Sawan Purnima के दिन क्यों मनाया जाता है Rakhi का त्योहार,पढ़ें राखी की रोचक कहानियां | The Significance of Raksha Bandhan in India

Sawan Purnima के दिन क्यों मनाया जाता है Rakhi का त्योहार,पढ़ें राखी की रोचक कहानियां | The Significance of Raksha Bandhan in India Rakhi का