Aaj Ka Rashifal 04 July 2023: वृष, कर्क, तुला, कुंभ राशि वाले इन चीजों से रहें दूर, सभी राशियों का जानें आज का राशिफल

Aaj Ka Rashifal 04 July 2023
Facebook
Twitter
Telegram
WhatsApp
5/5 - (1 vote)

Aaj Ka Rashifal 04 July 2023: वृष, कर्क, तुला, कुंभ राशि वाले इन चीजों से रहें दूर, सभी राशियों का जानें आज का राशिफल

Horoscope Today 04 July 2023, Aaj Ka Rashifal: राशिफल की दृष्टि से 04 जुलाई 2023, वृष, कर्क, तुला, कुंभ राशि वाले इन चीजों से रहें दूर, जानें आज का राशिफल (Rashifal).

Horoscope Today 04 July 2023, Aaj Ka Daily Horoscope: ज्योतिष शास्त्र के अनुसार 04 जुलाई 2023, मंगलवार एक महत्वपूर्ण दिन है। आज दोपहर 01:38 बजे तक प्रतिपदा तिथि फिर द्वितीया तिथि रहेगी। आज सुबह 08:25 तक पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र, उत्तराषाढ़ा नक्षत्र रहेगा। आज वाशि योग, आनंदादि योग, सुनफा योग, बुधादित्य योग, ऐंद्र योग का ग्रहों का साथ मिलेगा। अगर आपकी राशि वृषभ, सिंह, वृश्चिक, कुंभ है तो आपको शश योग का लाभ मिलेगा। चंद्रमा दोपहर 01:44 बजे के बाद मकर राशि में रहेगा.

आज शुभ कार्य के लिए नोट कर लें शुभ मुहूर्त, आज है एक मुहूर्त. दोपहर 12:15 बजे से 02:00 बजे तक लाभ-अमृत का चौघड़िया रहेगा. वहीं दोपहर 03:00 बजे से 04:30 बजे तक राहुकाल रहेगा. अन्य राशियों के लिए क्या लेकर आ रहा है मंगलवार? आइए जानते हैं आज का राशिफल (Rashifal in Hindi)-

मेष राशि (Aries)-
चंद्रमा दसवें भाव में रहेगा जिससे घर के बुजुर्ग बुजुर्गों के नक्शेकदम पर चलेंगे। बिजनेस में पार्टनर से विवाद की स्थिति बन सकती है। नई योजनाओं से आपको लाभ मिलता रहेगा। एंड्रा, बुधादित्य योग के बनने से मार्केटिंग से संबंधित कर्मचारी संचार कौशल में निपुण होने पर ध्यान देना होगा, तभी उनके करियर में वृद्धि संभव है। दांपत्य जीवन और रिश्ते में दिन की शुरुआत अच्छी नहीं रहेगी। किसी बात पर अनबन हो सकती है। विद्यार्थियों को अपनी मेहनत के अनुरूप परिणाम न मिलने से मन उदास रहेगा। लेकिन आप प्रयास करते रहें, आपको सफलता जरूर मिलेगी। अपने स्वास्थ्य को लेकर विशेष रूप से सावधान रहें, क्योंकि रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाले ग्रह कमजोर चल रहे हैं, जिससे आपका स्वास्थ्य खराब हो सकता है।

श्रावण मास प्रारम्भ- कार्यक्षेत्र में हानि हो रही है तो वे लोग श्रावण मास में शिवलिंग पर बिल्वपत्र पर सफेद चंदन से श्रीराम लिखें, फिर जल से अभिषेक करा कर अर्पण सामग्री अर्पित करें. ऊँ नमो शिवाय के उच्चारण के साथ प्रत्येक बिल्वपत्र अर्पित करें.

वृषभ राशि (Taurus)-
चंद्रमा नवम भाव में रहेगा जिसके कारण अध्यात्म की ओर ध्यान रहेगा। बिजनेस में कुछ नए टेंडर आपको मिल सकते हैं। आपको अपनी योजना में सफलता मिलने की पूरी संभावना मिलेगी। कार्यस्थल पर आपको भाग्य का पूरा सहयोग मिलेगा। आप कंपनी के किसी काम के लिए बजट भी बना सकते हैं. नौकरीपेशा लोगों को अपनी सोच सकारात्मक रखनी होगी, सकारात्मक सोच से ही आप अपने काम में सफल होंगे। जीवनसाथी और रिश्तेदारों के प्रति आपकी जिम्मेदारियां बढ़ेंगी, जिसे पूरा करने में आप सफल रहेंगे। प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों को पढ़ाई में नए लोगों से मुलाकात से सफलता मिल सकती है। आंखों में जलन की समस्या परेशान कर सकती है.

श्रावण मास प्रारम्भ- अपनी कोई विशेष कार्य सिद्धि के लिये सदैव शिवलिंग पर दही से अभिषेक करें, फिर सादा जल से, फिर शहद से, फिर सादा जल से, फिर शक्कर से, फिर सादा जल से, फिर दूध मिश्रित जल की धारा के साथ द्वादश ज्योतिर्लिंग के मंत्रों का उच्चारण करें. फिर सफेद चंदन से तिलक कर हरसिंगार का इत्र लगायें.

मिथुन राशि (Gemini)-
चंद्रमा अष्टम भाव में रहेगा, जिसके कारण ससुराल में कुछ परेशानियां हो सकती हैं। ग्रहों की स्थिति व्यवसाय के लिए अनुकूल नहीं होने के कारण व्यवसाय में कुछ उतार-चढ़ाव देखने को मिलेंगे। जिसकी वजह से मन कुछ परेशान हो सकता है। व्यापार में नया निवेश करते समय सावधान रहें। ऑर्डर देर से मिलने के कारण आपका काम बढ़ सकता है। कार्यस्थल पर आपको अधिक मेहनत करनी पड़ सकती है। सीनियर्स का काम को लेकर दबाव रहेगा। चुनावी माहौल को लेकर कर्मचारी हताशा में रहेंगे। अगर आप अपने जीवनसाथी या किसी रिश्तेदार से किसी बात पर बात करना चाहते हैं तो सही समय आने पर ही उस पर चर्चा न करें। ब्लड प्रेशर की समस्या हो सकती है. खान-पान का ध्यान रखें.

श्रावण मास प्रारम्भ- धन प्राप्ति के लिये श्रावण मास में शिवलिंग पर शहद से अभिषेक करें. शहद से स्नान कराते समय ऊँ नमः शिवाय करालं महाकाल कालं कृपालं ऊँ नमः का जाप करते रहें. गाय को हरी घास अवश्य डालें, इससे आपके उपाय में अधिक तीव्रता आयेगी.

कर्क राशि (Cancer)-
चंद्रमा सातवें भाव में रहेगा जिससे पति-पत्नी के बीच प्रेम बढ़ेगा। बिजनेस में आपकी मुलाकात नए लोगों से होगी। आप कोई खास काम शुरू करने की कोशिश कर सकते हैं। कार्यक्षेत्र शुरू करने वाले दिन एक कार्य योजना बनाएं, उसके बाद ही काम करें, इससे काम समय पर पूरा करने में मदद मिलेगी। यदि कार्यस्थल पर पिछले कई दिनों से किसी पुरानी योजना पर काम नहीं हो रहा है तो आज उन पर काम शुरू करने का प्रयास करें। धीरे-धीरे आपको सफलता मिलेगी। कर्मचारियों, आपके आस-पास जो कुछ भी हो रहा है उस पर नज़र रखें। आपके वैवाहिक जीवन और रिश्ते में कोई बड़ा बदलाव आ सकता है। विद्यार्थियों का भाग्य साथ है लेकिन उचित परिणाम पाने के लिए आपको अतिरिक्त प्रयास करने होंगे। शुगर बढ़ने से परेशान रहेंगे। समय पर दवा लेते रहें.

श्रावण मास प्रारम्भ- समस्या से मुक्ति पाने के लिये श्रावण मास में शिवलिंग को दूध, दही, गंगाजल व मिश्री से स्नान कराना चाहिये. स्नान के साथ ऊँ चन्द्रमौलेश्वर नमः का जाप करते रहें. इस सामग्री से सदैव ही शिवलिंग को स्नान कराते हैं तो किसी भी प्रकार की कोई समस्या उनके पास नहीं आ सकती है.

सिंह राशि (Leo)-
चंद्रमा छठे भाव में रहेगा, जिससे शारीरिक तनाव से राहत मिलेगी। बिजनेस में आप वही करते रहेंगे जो आपका मन कहेगा। लेकिन जो भी करो सोच समझ कर करो. जो कारोबारी प्रॉपर्टी की खरीद-फरोख्त करना चाहते हैं वह दोपहर 12.15 बजे से 2.00 बजे के बीच कर लें. कार्यस्थल पर सहकर्मियों के साथ ऑफिस पार्टी में आनंद उठाएंगे। साथ ही समय का भी पूरा ख्याल रखें. नौकरीपेशा लोगों को कुछ समस्याओं से छुटकारा मिलेगा। ख़र्चों को दरकिनार कर जीवनसाथी और रिश्तेदार के साथ शॉपिंग करने का मन बन सकता है। खेलकूद के छात्र प्रतिस्पर्धा को लेकर थोड़े सतर्क रहेंगे। रक्त संबंधी किसी प्रकार का विकार हो सकता है।

श्रावण मास की शुरुआत- अगर आप शत्रुओं से सुरक्षा चाहते हैं तो श्रावण मास में शिवलिंग को शुद्ध घी से ऊं नम: शिवाय करालं महाकाल कालं कृपालं ऊं नम: मंत्र का जाप करते हुए स्नान कराएं। इस प्रयोग से सिंह राशि के जातक शत्रुओं से सदैव सुरक्षित रहेंगे, साथ ही आर्थिक संकट से भी बचे रहेंगे।

कन्या राशि (Virgo)-
चंद्रमा पंचम भाव में रहेगा, जिससे अचानक धन लाभ होगा। एंड्रा, बुधादित्य योग बनने से कार्यस्थल पर उच्च अधिकारियों से संबंध सुधारने के प्रयास करने पड़ेंगे, जिसमें आप सफल होंगे। व्यापारियों को अब कारोबार बढ़ाने के बारे में सोचना चाहिए, जिसके लिए उन्हें अधिक संघर्ष का सामना करना पड़ सकता है. नई पीढ़ी और विद्यार्थियों को सुबह-सुबह गणपति जी का ध्यान करना चाहिए, वे आपके सभी विघ्नों को हर लेंगे। घर के वरिष्ठ और बुजुर्ग लोगों के साथ महत्वपूर्ण विषयों पर चर्चा हो सकती है, जिसमें आपकी राय भी अहम भूमिका निभाएगी। विद्यार्थी अनावश्यक राजनीति और अन्य चीजों से दूरी बनाकर रखें, यही उनके लिए अच्छा रहेगा. वाहन की समय-समय पर सर्विस कराते रहें। वाहन सावधानी से चलाएं, चोट लग सकती है।

श्रावण मास प्रारम्भ- आर्थिक समस्या, अपयश अथवा अचानक हानि अनुभव करते हैं तो शिवलिंग पर दूध, घी और शहद से अभिषेक करें. बिल्वपत्र, मंदार के पुष्प, धतूरा तथा बेल का फल अर्पित करें, तत्पश्चात् भांग अर्पित करें. यदि ये लोग सदैव ही इन सभी सामग्री से अभिषेक करते हैं तो फिर कभी उपरोक्त कोई भी समस्या नहीं आती है. स्नान करते समय ऊँ नमः शिवाय मंत्र का जाप करते रहें.

तुला राशि (Libra)
चंद्रमा चतुर्थ भाव में रहेगा, जिससे माता का स्वास्थ्य अच्छा रहेगा। बिजनेस में साझेदारी के कार्यों में सावधानी बरतनी होगी। आप जो भी कार्य करें किसी जानकार व्यक्ति की सलाह लेकर और अपने विवेक और बुद्धि से करें। कार्यस्थल पर काम निपटाने की योजना में बार-बार बदलाव न करें। कर्मचारियों को कुछ मामलों में सावधान रहने की जरूरत है। पुरानी परेशानियां बनी रह सकती हैं। दांपत्य जीवन और रिश्ते में उत्साह के कारण कोई जोखिम न लें। किसी से कोई वादा न करें. कामकाजी महिला को घर की साफ-सफाई के साथ-साथ साज-सज्जा पर भी ध्यान देना होगा। विद्यार्थी वर्ग पढ़ाई को छोड़कर किसी और के लिए अनावश्यक कार्य करने के झंझट में न पड़ें। अपनी शिक्षा पर ध्यान दें.

श्रावण मास प्रारम्भ- किसी भी प्रकार की समस्या से बचने के लिए भोले भण्डारी की कृपा प्राप्त करने के लिए दही और गन्ने के रस से शिवलिंग को स्नान कराना चाहिए. स्नान के बाद गरीबों में थोड़ी मिश्री का दान अवश्य करना चाहिये.

वृश्चिक राशि (Scorpio)
चंद्रमा तीसरे भाव में रहेगा, जिससे मित्रों और रिश्तेदारों से मदद मिलेगी। बिजनेस में जो भी काम आपके लिए खास है, उसे निपटाने में सावधानी बरतें. आपकी मेहनत बढ़ सकती है। कार्यस्थल पर यदि कोई व्यक्तिगत समस्या है तो उससे जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी आपको मिल सकती है। नौकरीपेशा लोग किसी से पैसों से जुड़ा कोई वादा न करें। नई पीढ़ी और विद्यार्थियों की वाणी और व्यवहार से आपको समाज में सम्मान मिलेगा, साथ ही आपकी प्रतिष्ठा भी बढ़ेगी। जीवनसाथी और रिश्तेदारों की किसी गतिविधि से आप परेशान रहेंगे। इसके लिए आप उन्हें प्यार से कहने की कोशिश करें. लेकिन विद्यार्थियों को पढ़ाई में प्रगति मिलेगी। आप सिरदर्द से परेशान रहेंगे।

श्रावण मास प्रारम्भ- इस राशि का स्वामी मंगल होता है. इस राशि वाले यदि श्रावण मास में शिवलिंग पर तीर्थस्थान के जल तथा दूध में शक्कर एवं शहद मिलाकर स्नान कराने के बाद रक्त चंदन से तिलक करते हैं तो अत्यधिक लाभ प्राप्त होता है. इसके साथ शत्रुवर्ग भी परास्त होता है.

धनु राशि (Sagittarius)
चंद्रमा दूसरे भाव में रहेगा, जिससे पैतृक संपत्ति के मामले सुलझेंगे। आपके व्यवसाय में साझेदारी के काम में आपका कोई अपना ही रुकावट पैदा कर सकता है। निवेश की योजना में थोड़ी देरी आपके पक्ष में नहीं है। कार्यस्थल पर आसपास या साथ के लोगों को पैसों से जुड़ी कोई भी राय देने से बचें। नौकरीपेशा लोगों का सहकर्मियों से मतभेद हो सकता है। बुधादित्य योग बनने से आपको कार्यक्षेत्र में प्रमोशन लेटर मिल सकता है, जिसे पाकर आप बेहद खुश होंगे। विद्यार्थियों का अपने ही किसी मित्र से मनमुटाव हो सकता है। स्वास्थ्य की बात करें तो पुराने रोग उभर सकते हैं, ऐसे में आपको अपनी ओर से स्वास्थ्य संबंधी सभी प्रकार के मामलों का विशेष ध्यान रखना होगा।

श्रावण मास प्रारम्भ- सदैव शिवलिंग को कच्चे दूध में केशर, गुड़ व हल्दी मिलाकर स्नान कराना चाहिये. स्नान के बाद केशर व हल्दी से तिलक करें और पीले पुष्प अर्पित करें. स्नान कराते समय ऊँ नमो शिवाय गुरु देवाय नमः ऊँ का जाप करना चाहिये. विद्यार्थीवर्ग यदि ये उपाय करते हैं तो उन्हें विद्या में लाभ प्राप्त होता है.

मकर राशि (Capricorn)
चंद्रमा आपकी ही राशि में रहेगा, जिससे आत्मविश्वास में वृद्धि होगी. आपको कार्यस्थल पर होने वाली राजनीति से खुद को दूर रखने की कोशिश करनी होगी, अन्यथा आप बेवजह फंस सकते हैं। बिक्री बढ़ाने और ग्राहक के साथ नेटवर्क सक्रिय रखने के लिए व्यवसायी को आकर्षक ऑफर देने होंगे। आप अपनी सूझबूझ से विद्यार्थियों को विपरीत परिस्थितियों में ढालने में सफल रहेंगे। दांपत्य जीवन में सामंजस्य बनाए रखने का प्रयास करें, इसके लिए जितना हो सके वाद-विवाद से बचने का प्रयास करें। बिना डॉक्टर की सलाह के किसी भी तरह की दवा न लें, खुद डॉक्टर न बनें, नहीं तो आपको एलर्जी की चिंता हो सकती है, इससे आपकी परेशानी बढ़ सकती है।

श्रावण मास प्रारम्भ- शत्रुबाधा हो, मानसिक कष्ट रहते हों अथवा कार्यों में विघ्न आते हों तो श्रावण मास में घी, शहद, दही और बादाम के तेल से अभिषेक के बाद नारियल के जल से स्नान कराना चाहिये और नीले पुष्प अर्पित करने चाहिये. स्नान के समय ऊँ नमः शिवाय का जाप करना चाहिये.

कुंभ राशि (Aquarius)
चंद्रमा 12वें भाव में रहेगा, जिससे विदेशी संपर्कों से लाभ होगा। कार्यस्थल पर आपको अपने गुस्से पर काबू रखने की कोशिश करनी होगी, क्योंकि वरिष्ठ अधिकारियों से नोकझोंक होने की आशंका है। बिजनेस में ग्राहक की मांग को ध्यान में रखते हुए उत्पाद का निर्माण करें, उत्पाद की गुणवत्ता का ध्यान रखें। उत्पाद के प्रति लापरवाही आपकी व्यावसायिक छवि खराब कर सकती है। परीक्षा में बेहतर परिणाम पाने के लिए छात्रों को अभी से ही आगामी परीक्षाओं की तैयारी शुरू कर देनी चाहिए। संतान के किसी काम की वजह से समाज में आपका नाम खराब हो सकता है। स्वास्थ्य की बात करें तो खुद को फिट रखने के लिए आपको पौष्टिक आहार के सेवन पर ध्यान देना होगा।

श्रावण मास प्रारम्भ- कार्य हानि हो, पारिवारिक कष्ट रहते हो, धनहानि होती हो तो श्रावण मास में घी, शहद, शक्कर और बादाम के तेल से अभिषेक के बाद नारियल के जल से स्नान कराना चाहिये. हरसिंगार के इत्र के बाद सरसों के तेल से तिलक कर पुनः रोली से तिलक करें. नीले पुष्प अर्पित करने चाहिये. स्नान के समय महामृत्युंजय मंत्र का जाप करना चाहिए.

मीन राशि (Pisces)
चंद्रमा 11वें भाव में रहेगा जिससे आय में वृद्धि होगी। कार्यस्थल पर हां में हां मिलाने वाले लोगों से दूरी बनाकर रखें, ऐसे लोग आपका ध्यान काम से भटका सकते हैं। बुधादित्य योग बनने से कॉस्मेटिक बिजनेस में आपको कोई बड़ा ऑर्डर मिल सकता है। किसी पुरानी बात को लेकर जीवनसाथी और लव पार्टनर के साथ मनमुटाव की स्थिति बन सकती है। नई पीढ़ी में जीवन के प्रति सकारात्मक दृष्टिकोण होगा, जिससे उनमें जीवन जीने का नया जज्बा आएगा। यदि आप घर में कोई टूट-फूट, मरम्मत करवाना चाहते हैं तो फिलहाल रुक जाना ही बेहतर रहेगा। अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखें, स्वास्थ्य ही सब कुछ है, तली-भुनी चीजों से दूर रहें और हल्का भोजन करें।

श्रावण मास प्रारम्भ– शिवलिंग को कच्चे दूध में केशर व तीर्थजल मिलाकर स्नान कराना चाहिये. स्नान के बाद केशर व हल्दी से तिलक करें. पीले पुष्प व नागकेशर के साथ केशर के रेशे अर्पित करें. स्नान कराते समय ऊँ नमो शिवाय गुरु देवाय नमः ऊँ का जाप करना चाहिये. शत्रु परास्त होने के साथ समस्त सुखों की प्राप्ति होती है.

Posted by TalkAaj.com

click here

NO: 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट Talkaaj.com (बात आज की)

Talkaaj

आशा है आपको यह जानकारी बहुत अच्छी लगी होगी।
इस आर्टिकल को Share और Like करें, साथ ही ऐसे और लेख पढ़ने के लिए जुड़े रहें।

Join Our Group For All Information And Update, Also Follow me For Latest Information??

WhatsApp                       Click Here
Facebook Page                  Click Here
Instagram                  Click Here
Telegram                  Click Here
Koo                  Click Here
Twitter                  Click Here
YouTube                  Click Here
ShareChat                  Click Here
Daily Hunt                   Click Here
Google News                  Click Here

 

TAGS : – dainik rashifal,rashifal,aaj ka rashifal,daily rashifal,rashifal aaj ka,today rashifal,aaj ka rashifal live,rahshifal aaj ka,rashifal aajako,aajako rashifal,aaj ka rashifal indu prakash,mesh rashi ka rashifal,india tv rashifal,rashifal india tv,rashifal today,aajako rashifal 2080,nepali rashifal,aaj ka rashifal in hindi,aajako rashifal nepali,aajako rashifal 2080 today,today rashifal in nepali,rashifal today in nepali, Aaj Ka Rashifal 04 July 2023,Aaj Ka Rashifal
WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Google News Follow Me
Facebook
Twitter
Telegram
WhatsApp
Print
TalkAaj

TalkAaj

Talkaaj.com is a valuable resource for Hindi-speaking audiences who are looking for accurate and up-to-date news and information.

Leave a Comment

Top Stories