Homeअन्य ख़बरेंकारोबारBudget 2021: इन सरकारी कंपनियों में विनिवेश, जानिए कौन सी कंपनियां सरकार...

Budget 2021: इन सरकारी कंपनियों में विनिवेश, जानिए कौन सी कंपनियां सरकार के अधिकारों को खत्म करेंगी

Budget 2021: इन सरकारी कंपनियों में विनिवेश, जानिए कौन सी कंपनियां सरकार के अधिकारों को खत्म करेंगी

न्यूज़ डेस्क:– वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आज केंद्रीय बजट (Budget) पेश किया। इस दौरान, उन्होंने बताया कि सरकार ने रुपये बढ़ाने का लक्ष्य रखा है। वित्त वर्ष 2021-22 में विनिवेश से 2 लाख करोड़ रुपये, जो लगभग रु। पिछले वित्त वर्ष 2020-21 की तुलना में 35 हजार करोड़ कम। गौरतलब है कि पिछले बजट में सरकार ने विनिवेश से 2.1 लाख करोड़ रुपये जुटाने का लक्ष्य रखा था।

वित्त मंत्री ने इसकी घोषणा की

वित्त मंत्री ने अपने बजट भाषण में कहा कि सरकार की विनिवेश से 1.75 लाख करोड़ रुपये जुटाने की योजना है। अब तक, कुछ सरकारी कंपनियों में विनिवेश के बारे में निर्णय लिए गए हैं, जिन्हें वित्तीय वर्ष 2021-22 में पूरा किया जाएगा।

ये भी पढ़े:- Google ने दी चेतावनी अगर नए नियम को नही माना तो, आपका Gmail बंद हो जाएगा? जानिए क्या है सच्चाई 

वित्त मंत्री ने इन कंपनियों का उल्लेख किया

निर्मला सीतारमण ने कहा कि BPCL, एयर इंडिया, CONCOR, IDBI और SCI में विनिवेश अगले वित्तीय वर्ष में हस्ताक्षरित किया जा सकता है। इसके अलावा LIC का IPO अगले वित्त वर्ष में लॉन्च करने की भी योजना है। इसके अलावा, शेयर बाजार में उछाल को देखते हुए केंद्र सरकार कुछ सीपीएसई में ऑफर फॉर सेल के जरिए भी अपनी हिस्सेदारी बेच सकती है। इसी समय, अन्य निजीकरण सौदे भी नए वित्तीय वर्ष में पूरा होने की उम्मीद है।

ये भी पढ़े:- Budget 2021 की 21 बड़ी बातें, एक क्लिक में जानें सारी जानकारी

बीपीसीएल 60 हजार करोड़ देगी

जानकारी के मुताबिक, सरकार ने बीपीसीएल में अपनी पूरी हिस्सेदारी (52.98 फीसदी) यानी 114.91 करोड़ शेयर बेचने की तैयारी कर ली है। BPCL मजबूत बैलेंस शीट के साथ देश की दूसरी सबसे बड़ी तेल कंपनी है। कंपनी हमेशा सरकार को मुनाफा देती रही है।

दरअसल, बीपीसीएल के देशभर में करीब 17 हजार 138 पेट्रोल पंप हैं। सरकार ने घोषणा की है कि कंपनी का प्रबंधन नियंत्रण बीपीसीएल के रणनीतिक खरीदार को भी हस्तांतरित किया जाएगा। इसका मतलब है कि कंपनी का स्वामित्व खरीदार को भी जाएगा। बता दें कि बीपीसीएल को बेचकर सरकार को करीब 60 हजार करोड़ रुपये मिल सकते हैं।

ये भी पढ़े:- Aadhaar Card के माध्यम से आप कुछ ही मिनटों में PAN Card प्राप्त कर सकते हैं, यह है प्रक्रिया

सरकार एयर इंडिया से छुटकारा चाहती है

गौरतलब है कि सरकारी विमानन कंपनी एयर इंडिया कर्ज में डूबी है। ऐसे में सरकार इससे छुटकारा पाना चाहती है। आपको बता दें कि साल 2020 में सरकार ने एयर इंडिया को बेचने के लिए कई बोलियां लगाईं, लेकिन खरीदार नहीं मिला।

उम्मीद है कि सरकार अगले वित्तीय वर्ष में इसे बेच सकेगी। गौरतलब है कि वर्तमान में एयर इंडिया पर 60 हजार 74 करोड़ रुपये का कर्ज है, लेकिन अधिग्रहण के बाद खरीदार को केवल 23 हजार 286.5 करोड़ रुपये का भुगतान करना होगा।

ये भी पढ़े:-CBSE Board Exams 2021: CBSE के नए नियम, 10 वीं बोर्ड परीक्षा में कोई भी छात्र Fail नहीं होगा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments