Car Safety Tips: कार के शीशे पर दिखे ये नंबर तो तुरंत मिटाए, नकली चाबियां बनाकर चोर चुरा सकते हैं कार, जानिए इससे कैसे बचें

Car Safety Tips
Facebook
Twitter
Telegram
WhatsApp
Rate this post

Car Safety Tips: कार के शीशे पर दिखे ये नंबर तो तुरंत मिटाए, नकली चाबियां बनाकर चोर चुरा सकते हैं कार, जानिए इससे कैसे बचें

नई दिल्ली। कार कंपनियों द्वारा बेची जाने वाली हर कार को एक यूनिक VIN यानी व्हीकल आइडेंटिफिकेशन नंबर दिया जाता है। यह कार के बेस नंबर के समान 17 अंकों का नंबर है। कार कंपनियों के लिए यह पहचान नंबर देना अनिवार्य है। चाहे कार हो, बाइक हो या बस-ट्रक, इस नंबर के बिना कोई भी वाहन नहीं बेचा जा सकता। लेकिन आपने ये तो सुना ही होगा कि टेक्नोलॉजी जहां सुविधा लेकर आती है, वहीं अपने साथ कुछ परेशानियां भी लेकर आती है।

दरअसल, आज इसी Vehicle Identification Number का इस्तेमाल कर वाहन चोरी भी किए जा रहे हैं। ऐसे कई मामले सामने आए हैं जहां चोरों ने VIN की मदद से कार चोरी की वारदात को अंजाम दिया है. यहां आज हम आपको बता रहे हैं कि आप अपनी VIN जानकारी को कार चोरों के हाथों में जाने से कैसे बचा सकते हैं। तो आइये जानते हैं.

Mahindra Thar 5 Door मार्केट में आते ही करेगी राज, मिलेगे कई शानदार नए फीचर्स

VIN से जानकारी चोरी होने का ख़तरा

VIN से आपकी जानकारी चोरी होने का ख़तरा बढ़ गया है. अगर आपकी कार के बाहर कहीं वाहन पहचान संख्या लिखी है तो आपको अधिक सतर्क रहने की जरूरत है। दरअसल, अपराधी इस नंबर के जरिए आपकी निजी जानकारी तक पहुंच सकते हैं। अगर आपकी कार का यह नंबर अपराधियों के हाथ लग जाता है तो वे आपके रजिस्टर्ड पते, नंबर, नाम, उम्र आदि की जानकारी हासिल कर सकते हैं.

Car Safety Tips: कार के शीशे पर दिखे ये नंबर तो तुरंत मिटाए, नकली चाबियां बनाकर चोर चुरा सकते हैं कार, जानिए इससे कैसे बचें

चाबी की हो सकती है क्लोनिंग?

कार के VIN की तरह कार की चाबी भी अनोखी होती है। लेकिन आपको यह जानकर हैरानी होगी कि अपराधी आपकी कार के व्हीकल आइडेंटिफिकेशन नंबर से चाबी का क्लोन भी बना सकते हैं। इसका मतलब यह है कि असली चाबी की आवश्यकता के बिना भी नकली चाबी बनाई जा सकती है। बाज़ार में ऐसे कई कुंजी क्लोनिंग उपकरण उपलब्ध हैं जिनके माध्यम से अपराधी नकली कार की चाबियाँ बना सकते हैं। इसके अलावा VIN का इस्तेमाल अपराधी चोरी की कार की पहचान छिपाने के लिए भी करते हैं। चोरी हुए वाहनों की पहचान बदलने के लिए उसी मेक और मॉडल की दूसरी कार के VIN का उपयोग किया जाता है।

Car Safety Tips: कार के शीशे पर दिखे ये नंबर तो तुरंत मिटाए, नकली चाबियां बनाकर चोर चुरा सकते हैं कार, जानिए इससे कैसे बचें

कैसे सुरक्षित रहें?

VIN नंबर एक 17 अंकों का कोड होता है जिसमें कार की निर्माण तिथि, इंजन क्षमता और ईंधन प्रकार के साथ-साथ उस संयंत्र के बारे में जानकारी होती है जिसमें वाहन का निर्माण किया जाता है। कई वाहनों में, वाहन पहचान संख्या (Vehicle Identification Number -VIN) चेसिस, बूटस्पेस या कार के अंदर सीट के नीचे मुद्रित होती है। इसके अलावा यह आपके वाहन की आरसी, बीमा पॉलिसी और डीलरशिप पर भी उपलब्ध है। हालाँकि, यदि VIN कार की विंडस्क्रीन की किसी बाहरी सतह पर है, तो आपकी जानकारी दूसरों के सामने आने का जोखिम है।

कई वाहनों पर, VIN विंडस्क्रीन पर स्टिकर के रूप में चिपका हुआ होता है। यदि आप VIN जानकारी को संरक्षित करना चाहते हैं, तो स्टिकर से नंबर को खरोंचें या स्टिकर को पूरी तरह से हटा दें। इसके अलावा कोशिश करें कि कार को हमेशा ऐसी जगह पार्क करें जहां आस-पास सीसीटीवी कैमरे लगे हों।

Car Safety Tips: कार के शीशे पर दिखे ये नंबर तो तुरंत मिटाए, नकली चाबियां बनाकर चोर चुरा सकते हैं कार, जानिए इससे कैसे बचें

NO: 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट Talkaaj.com (बात आज की)

(देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले पढ़ें Talkaaj (बात आज की) पर , आप हमें FacebookTwitterInstagramKoo और  Youtube पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Google News Follow Me
Facebook
Twitter
Telegram
WhatsApp
Print
TalkAaj

TalkAaj

Talkaaj.com is a valuable resource for Hindi-speaking audiences who are looking for accurate and up-to-date news and information.

Leave a Comment

Top Stories