Homeहेल्थ डेस्कMonkeypox Virus का नाम सुनते ही डरे नहीं, जानें इसके लक्षण और...

Monkeypox Virus का नाम सुनते ही डरे नहीं, जानें इसके लक्षण और सामान्य जानकारी

Monkeypox Virus का नाम सुनते ही डरे नहीं, जानें इसके लक्षण और सामान्य जानकारी

Monekypox Virus Information: मंकीपॉक्स वायरस के लगातार बढ़ते खतरे से डरें नहीं, बस इसके बारे में सामान्य जानकारी रखें। यहां इसके लक्षण और प्रसार से संबंधित महत्वपूर्ण जानकारी दी गई है।

Monkeypox Virus: विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के अनुसार, 19 देश मंकीपॉक्स से प्रभावित हैं और 131 से अधिक लोग मंकीपॉक्स (Monkeypox)  से पीड़ित हैं। शरीर पर बड़े-बड़े फोड़े और फफोले के साथ इस मंकीपॉक्स के और भी कई लक्षण हैं, जिनसे आप शायद अनजान होंगे। किसी भी वायरस की तरह Monkeypox Virus से बचने के लिए कुछ जरूरी सावधानियां बरतना बेहद जरूरी है, जिसके लिए इसकी सही जानकारी होनी चाहिए। यह भी जानिए कि Monkeypox शरीर को कैसे प्रभावित करता है।

मंकीपॉक्स वायरस क्या है? | What is Monkeypox Virus

ब्लूमबर्ग इंटेलिजेंस के सीनियर फार्मास्युटिकल एनालिस्ट सैम फाजेली (Sam Fazeli) के अनुसार, मंकीपॉक्स चिकनपॉक्स और चेचक की तरह एक ऑर्थोपॉक्स वायरस है। लेकिन, मृत्यु दर के मामले में यह चेचक की तुलना में कम समस्याग्रस्त है। मंकीपॉक्स जैसा कि इसके नाम से पता चलता है कि यह बंदरों द्वारा फैलाया जाने वाला वायरस नहीं है।

यह भी पढ़िए | Weight loss tips: रात को सोने से पहले सेवन करें ये 3 चीजें, गायब होगी पेट की चर्बी, दूर भाग जाएगा मोटापा

मंकीपॉक्स कैसे फैलता है?

  • मंकीपॉक्स (Monkeypox) पीड़ित के शरीर से निकलने वाले संक्रमित फ्लूइड (Contaminated Fluids) के संपर्क में आने से फैलता है। खासकर अगर व्यक्ति पीड़ित के बहुत करीब आता है तो इसके फैलने की संभावना सबसे ज्यादा होती है।
  • एक व्यक्ति मंकीपॉक्स से पीड़ित व्यक्ति के संपर्क में आने वाली सतह को छूने के बाद भी मंकीपॉक्स से पीड़ित हो सकता है।
  • कुछ रिपोर्टों के अनुसार, पीड़ित के साथ यौन संबंध बनाने या शारीरिक रूप से करीब आने से भी Monkeypox फैल सकता है।

मंकीपॉक्स के लक्षण

  • मंकीपॉक्स की शुरुआत सिरदर्द और बुखार से होती है। आमतौर पर इसके शुरुआती लक्षण किसी भी आम वायरल इंफेक्शन (Infection) से मिलते-जुलते होते हैं।
  • व्यक्ति के शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता प्रभावित होने लगती है। शरीर का तापमान बढ़ने लगता है और शरीर में कई तरह के रसायन निकलते हैं, जिससे मांसपेशियों में दर्द होता है।
  • 1 से 2 हफ्ते के बीच कई लोगों के शरीर में रैशेज होने लगते हैं, जो बाद में फोड़े हो जाते हैं।
  • फोड़े (Pustules) होने पर बैक्टीरियल इन्फेक्शन का खतरा होता है.

यह भी पढ़िए | सहजन (Drumstick tree) हमेशा जवान रहने का खजाना है, जानिए आयुर्वेद में ऐसा क्यों कहा गया है कि अमृत सम

Monkeypox से सावधान

  • Monkeypox Virus से पीड़ित होने के कुछ दिनों बाद टीका (Vaccine) लगवाने से इससे बचा जा सकता है।
  • यह कोविड से कम संक्रामक वायरस है। इसलिए ज्यादा घबराने की जरूरत नहीं है।
  • यह बहुत जल्दी नहीं फैलता है। संक्रमित व्यक्ति से आवश्यक दूरी बनाकर ही संक्रमण से बचा जा सकता है।

Disclaimer: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या डॉक्टर से सलाह लें। Talkaaj इस जानकारी की जिम्मेदारी नहीं लेता है।

यह भी पढ़िए | Gharelu Nuskhe (घरेलू नुस्खे) | पेट की जलन, गैस और पेट फूलना का एकमात्र सही और सटीक इलाज है घरेलू नुस्खे, आज ही अपनाएं ये जड़ी-बूटियां, चुटकी में मिलेंगे ये फायदे

अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आया है तो इसे Like और share जरूर करें ।

इस आर्टिकल को अंत तक पढ़ने के लिए धन्यवाद…

Posted by Talkaaj 

🔥🔥 Join Our Group For All Information And Update, Also Follow me For Latest Information🔥🔥

🔥 WhatsApp                       Click Here
🔥 Facebook Page                  Click Here
🔥 Instagram                  Click Here
🔥 Telegram Channel                   Click Here
🔥 Koo                  Click Here
🔥 Twitter                  Click Here
🔥 YouTube                  Click Here
🔥 ShareChat                  Click Here
🔥 Daily Hunt                   Click Here
🔥 Google News                  Click Here

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments