Thursday, May 19, 2022
Homeहेल्थ डेस्कसहजन (Drumstick tree) हमेशा जवान रहने का खजाना है, जानिए आयुर्वेद में...

सहजन (Drumstick tree) हमेशा जवान रहने का खजाना है, जानिए आयुर्वेद में ऐसा क्यों कहा गया है कि अमृत सम

सहजन (Drumstick tree) हमेशा जवान रहने का खजाना है, जानिए आयुर्वेद में ऐसा क्यों कहा गया है कि अमृत सम

हेल्थ डेस्क:- अगर हमें ऐसा खाना मिले जो सेहत के लिए स्वादिष्ट और पोषक तत्वों से भरपूर हो तो दिन अच्छा हो जाता है, क्योंकि हमें सिर्फ हेल्दी फूड ही नहीं बल्कि अपने खाने में भी पूरी टेस्ट की जरूरत होती है और सच कहूं तो हमारे देश में ऐसी कई सब्जियां हैं, जो अनेक गुणों से युक्त है। बाजार में आसानी से उपलब्ध है। हम एक ऐसी सब्जी के बारे में बता रहे हैं जिसके फूल, पत्ते और फल काफी फायदेमंद माने जाते हैं। इसके निरंतर सेवन से व्यक्ति हमेशा फिट और जवां बना रहता है।

फिट इंडिया डायलॉग में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने ड्रमस्टिक या ड्रमस्टिक के बारे में बताया था। आप भी अक्सर इस सब्जी को अपने घर में जरूर बनाएं। इनमें कई औषधीय गुण होते हैं, जिनका उपयोग सदियों से बीमारियों के इलाज में किया जाता रहा है। विशेषज्ञों के अनुसार Drumstick tree (सहजन) के तना, पत्ते, छाल, फूल, फल और कई अन्य भागों को अलग-अलग तरीकों से इस्तेमाल किया जा सकता है, क्योंकि सहजन का पेड़ जड़ से लेकर फल तक बहुत फायदेमंद होता है। सहजन में एंटीफंगल, एंटीवायरल, एंटी-डिप्रेसेंट और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण भी होते हैं।

यह भी पढ़िए | Gharelu Nuskhe (घरेलू नुस्खे) | पेट की जलन, गैस और पेट फूलना का एकमात्र सही और सटीक इलाज है घरेलू नुस्खे, आज ही अपनाएं ये जड़ी-बूटियां, चुटकी में मिलेंगे ये फायदे

इसके अलावा सहजन (Drumstick tree) कई तरह से खनिजों से भरपूर होता है। यह कैल्शियम का गैर-डेयरी स्रोत है। इसमें पोटेशियम, जिंक, मैग्नीशियम, आयरन, कॉपर, फॉस्फोरस और जिंक जैसे कई पोषक तत्व भी होते हैं, जो न केवल हमारे शरीर को फिट रखते हैं बल्कि उचित विकास में भी मदद करते हैं।

सहजन को आहार में कैसे शामिल करें? (How to use drumstick moringa shahjan in daily diet)

सहजन के फल और पत्तियों को तीन अलग-अलग तरीकों से इस्तेमाल किया जा सकता है। पत्तियों को कच्चा, पाउडर या जूस के रूप में सेवन किया जा सकता है। सहजन के पत्तों को पानी में उबालकर शहद और नींबू के साथ मिलाकर पिया जा सकता है।

सहजन (Drumstick tree) का उपयोग सूप और करी में भी किया जा सकता है। एक चम्मच या लगभग 2 ग्राम सहजन का सेवन नियमित रूप से करना चाहिए। सही खुराक जानने के लिए मरीजों को डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए। औषधीय गुणों से भरपूर सहजन रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित रखता है। मधुमेह के रोगियों को इसका नियमित सेवन करना चाहिए। इसे अलग-अलग क्षेत्रों में अलग-अलग नामों से जाना जाता है। कहीं इसे सहजन, कभी मोरिंगा, कहीं सुरजन की फली तो कहीं मुंगा भी कहते हैं।

सहजन को क्‍यों कहा गया है अमृत? (Why is Drumstick called a nectar in Ayurveda?)

सहजन (Drumstick tree) को आयुर्वेद में अमृत के समान माना गया है क्योंकि सहजन को 300 से अधिक रोगों की औषधि माना गया है। इसलिए आयुर्वेद में इसे अमृत के समान माना गया है। इसके कोमल पत्ते और फल दोनों का प्रयोग सब्जी के रूप में किया जाता है। सहजन की फली, हरी पत्तियों और सूखे पत्तों में कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, कैल्शियम, पोटेशियम, आयरन, मैग्नीशियम, विटामिन-ए, सी और बी कॉम्प्लेक्स प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं।

 यह भी पढ़िए | Home Remedy: वजन कम करता है जीरे का पानी, ब्लड प्रेशर और कब्ज जैसी बीमारियों में भी फायदेमंद

सहजन की खूब‍ियां (Characteristics of Drumstick)

इसकी पत्तियों में विटामिन-सी होता है, इसका सेवन बीपी कम करने वाला माना जाता है। यहां तक कि यह वजन घटाने में भी मदद करता है। दक्षिण भारतीय घरों में सहजन का प्रयोग बहुत अधिक होता है।

drumsticks leaves benefits

सहजन खाने के फायदे (Shahjan Drumstick healt benefits in hindi)

  • सहजन (Drumstick tree) आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में भी मदद करता है।
  • रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत होती है।
  • कैल्शियम से भरपूर होने के कारण साइटिका, अर्थराइटिस में सहजन का प्रयोग बहुत फायदेमंद होता है।
  • सुपाच्य होने के कारण सहजन के लीवर को स्वस्थ रखने में भी यह काफी कारगर है।
  • सहजन के फूल का रस पिएं या इसकी सब्जी का सेवन पेट दर्द या पेट से संबंधित गैस, अपच और कब्ज जैसी समस्याओं में करें। या इसका सूप पिएं। अगर आपको ज्यादा फायदा चाहिए तो इसे दाल में डाल कर पकाएं.
  • सहजन आंखों के लिए भी अच्छा होता है। जिनकी रोशनी कम हो रही हो, तो सहजन की फली, उसके पत्ते और फूलों का प्रयोग अधिक से अधिक करना चाहिए।
  • सहजन कान के दर्द को दूर करने में भी बहुत उपयोगी होता है। इसके लिए इसकी ताजी पत्तियों को तोड़कर इसके रस की कुछ बूंदों को कान में डालने से आराम मिलता है।
  • जिन लोगों को पथरी की समस्या है उन्हें सहजन की सब्जी और सहजन का सूप जरूर पीना चाहिए। इससे पथरी निकल जाती है।
  • छोटे बच्चों के पेट में कीड़े हो तो सहजन के पत्तों का रस पिलाना चाहिए।
  • दांतों में कीड़े हों तो इसकी छाल का काढ़ा बनाकर पीना चाहिए। सहजन रक्तचाप को सामान्य करता है।
  • यह हृदय रोग में भी बहुत फायदेमंद होता है। साथ ही कोलेस्ट्रॉल को कम करता है। ऐसे में सहजन आपकी सेहत के लिए फायदेमंद साबित हो सकता है। हालाँकि, आपको डॉक्टर से भी सलाह लेनी चाहिए।

यह भी पढ़िए | Elaichi ke fayde: छोटी इलायची के बड़े फायदे

drumsticks flowers benefits

सहजन के फूलों के फायदे के बारे में जानते हैं क्या? (what you know about drumsticks benefits)

सहजन (Drumstick tree) के फूलों में प्रोटीन और कई विटामिन के साथ कई अन्य पोषक तत्व होते हैं। सहजन के फूल खाने के 7 फायदे (Health benefits of shahjan Flowers in hindi)

  • महिलाओं में यूरिन इन्फेक्शन की समस्या बहुत आम है। इससे निजात पाने के लिए सहजन के फूलों की चाय बनाकर इसका सेवन करें।
  • जिन गर्भवती महिलाओं को दूध कम आने की समस्या होती है, उन्हें सहजन के सूखे फूल या इसका काढ़ा बनाकर पीना शुरू कर देना चाहिए। प्रभाव सकारात्मक रहेगा।
  • इम्युनिटी बढ़ाने के लिए सहजन के फूलों को रोजाना के आहार में सब्जी, चाय या किसी भी तरह से शामिल किया जा सकता है। इनमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट हानिकारक फ्री रेडिकल्स के प्रभाव को रोकने में मदद करते हैं।
  • पाचन तंत्र को ठीक रखने के लिए सहजन के फूल का सेवन करना बेहतर होता है। ये फूल फाइबर से भरपूर होते हैं, जो आपके पाचन तंत्र को स्वस्थ रखने में मदद करते हैं।
  • सहजन के फूल वजन कम करने में भी मदद करते हैं। इन फूलों में क्लोरोजेनिक एसिड नामक एंटीऑक्सीडेंट होता है, जो शरीर में मौजूद अतिरिक्त फैट को बर्न करने में मदद करता है।
  • सहजन के फूल के सेवन से बालों का झड़ना बंद हो जाता है। बाल बढ़ते हैं और रूखापन खत्म होता है और उनकी चमक बढ़ती है।
  • सहजन के फूलों का सेवन पुरुषों में शक्ति बढ़ाने के लिए भी किया जा सकता है। फूलों के सेवन से थकान और कमजोरी दूर होगी और ताकत का विकास होगा।

यह भी पढ़िए| जानिए ग्रीन टी के फायदे और नुकसान के बारे में | Green Tea Benefits And Side Effects In Hindi

drumsticks leaves benefits 0

सहजन की पत्तियों के फायदे (Health Benefits of Shahjan Moringa Leaves)

सहजन (Drumstick tree) के पत्तों में आयुर्वेद का खजाना है। इसकी पत्तियों में प्रोटीन के अलावा बीटा कैरोटीन, पोटैशियम और एंटीऑक्सीडेंट, एस्कॉर्बिक एसिड, फोलिक और फेनोलिक पाए जाते हैं जो कई बीमारियों के इलाज में काम आते हैं।

  • सहजन (Drumstick tree) के पत्तों में एस्कॉर्बिक एसिड, फोलिक और फेनोलिक पाया जाता है और 40 से अधिक एंटीऑक्सीडेंट पाए जाते हैं। इसकी पत्तियों के अर्क में मधुमेह विरोधी और एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं, जिसके कारण ये मधुमेह रोगियों के लक्षणों को कम करने में सहायक होते हैं। वे इंसुलिन के स्तर और संवेदनशीलता को भी बढ़ा सकते हैं, जिससे मधुमेह रोगियों को लाभ होता है।
  • सहजन के पत्तों का उपयोग आपके दिल को खराब कोलेस्ट्रॉल के प्रभाव से बचा सकता है। इन पत्तियों में अच्छी मात्रा में ओमेगा -3 फैटी एसिड होता है जो कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम कर सकता है।
  • सहजन की पत्तियों में पोटैशियम की अच्छी मात्रा होती है जो रक्तचाप को कम करने में कारगर है। पोटेशियम वैसोप्रेसिन (vasopressin) को नियंत्रित करता है और यह हार्मोन रक्त वाहिकाओं के कामकाज को प्रभावित करता है।
  • सहजन के पत्तों का उपयोग कैंसर के लक्षणों को कम करने के लिए किया जा सकता है। सहजन के पत्तों में विभिन्न प्रकार के एंटीऑक्सिडेंट और अन्य सक्रिय घटक होते हैं जो कैंसर कोशिकाओं और मुक्त कणों के प्रभाव को कम करने में सहायक होते हैं।
  • सहजन के पत्तों के रस में सिलीमारिन जैसे घटक होते हैं जो लीवर एंजाइम के कार्य को बढ़ाते हैं। यह घटक लीवर को जल्दी खराब होने से भी बचाता है।
  • सहजन के पत्तों के 100 ग्राम चूर्ण में कम से कम 28 मिलीग्राम आयरन होता है, जो अन्य खाद्य पदार्थों की तुलना में काफी अधिक होता है, इसलिए यह एनीमिया को ठीक करता है।
  • इसमें आयरन, जिंक, ओमेगा-3 फैटी एसिड और अन्य पदार्थ होते हैं जो मस्तिष्क के स्वास्थ्य को बढ़ाने में सहायक होते हैं। ओमेगा -3 मस्तिष्क की याददाश्त में सुधार करने में मदद करता है।

यह भी पढ़िए| Health Desk | शरीर को ‘चट्टान’ जैसी ताकत देकर कई बीमारियों से बचाती है ये सब्जी, हैरान कर देगे इसके फायदे

यह भी पढ़िए:- Heath Desk | मिट्टी के बर्तन में खाना क्यों बनाना चाहिए? यदि आप लाभ जानते हैं, तो आपको अपनी अज्ञानता पर पछतावा होगा!

यह भी पढ़िए:- Health Tips: पेट फूलने की समस्या से हैं परेशान तो इन चीजों को खाने से करें परहेज

(डिस्क्लेमर: इस लेख में दी गई जानकारी और सूचनाएं सामान्य धारणाओं पर आधारित है। Talkaaj हिंदी समाचार इनकी पुष्टि नहीं करता है। इन्हें लागू करने से पहले या इसके बारे में अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए डॉक्टरों से संपर्क जरूर करें।)

अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आया है तो इसे Like और share जरूर करें ।

इस आर्टिकल को अंत तक पढ़ने के लिए धन्यवाद…

Posted by Talkaaj 

🔥🔥 Join Our Group For All Information And Update, Also Follow me For Latest Information🔥🔥

🔥 WhatsApp                       Click Here
🔥 Facebook Page                  Click Here
🔥 Instagram                  Click Here
🔥 Telegram Channel                   Click Here
🔥 Koo                  Click Here
🔥 Twitter                  Click Here
🔥 YouTube                  Click Here
🔥 ShareChat                  Click Here
🔥 Daily Hunt                   Click Here
🔥 Google News                  Click Here

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments