Homeअन्य ख़बरेंकारोबारनौकरीपेशा लोगों को 5 घंटे काम करना होगा और PF बढ़ेगा, 10...

नौकरीपेशा लोगों को 5 घंटे काम करना होगा और PF बढ़ेगा, 10 अंकों में, समझेंगे केंद्र की योजना क्या है

नौकरीपेशा लोगों को 5 घंटे काम करना होगा और PF बढ़ेगा, 10 अंकों में, समझेंगे केंद्र की योजना क्या है

अगर आप भी काम करते हैं, तो 1 April से आपके लिए कुछ बड़े बदलाव हो सकते हैं। इन बदलावों के बाद आपके पीएफ, काम के घंटे और वेतन जैसे कई नियम बदलने वाले हैं। इसके अलावा आपकी ग्रेच्युटी और पीएफ भी बढ़ेगा। साथ ही आपकी टेक होम सैलरी कम हो जाएगी.

अगर आप भी काम करते हैं, तो नए वित्तीय वर्ष की शुरुआत से आपके लिए बड़े बदलाव हो सकते हैं 2021-22 यानी 1 April, 2021। इन बदलावों के बाद आपके भविष्य निधि (PF), काम के घंटे (Working Hours) और जैसे कई नियम वेतन (Salary) बदलने जा रहे हैं। इसके अलावा आपकी ग्रेच्युटी (Gratuity) और पीएफ भी बढ़ेगा। हालांकि, ग्रैच्‍युटी और पीएफ बढ़ने पर आपकी टेक होम या इनहैंड सैलरी (Take Home Salary) कम हो जाएगी.

इन बदलावों के लिए केंद्र सरकार द्वारा लाए गए बिल के नियम अभी भी चर्चा में हैं। इसे लागू करने के लिए अभी भी विचार-विमर्श किया जा रहा है। आपको बता दें कि ये बदलाव पिछले साल संसद में पारित वेज बिल पर कोड (Code on Wages Bill) की वजह से हो सकते हैं। इस वर्ष ये बिल 1 April 2021 से लागू होने की संभावना है। आइए हम आपको बताते हैं कि किस तरह के बदलाव हो सकते हैं?

ये भी पढ़े:- अगर आपके पास भी कार है, तो ध्यान दें, सरकार ग्रीन टैक्स (Green Tax) लगाने जा रही है, जानिए कितना जमा करना होगा

नए नियमों से 10 बिंदुओं में बदलाव को समझें

1. सरकारी योजना के अनुसार, 1 April से, मूल वेतन (सरकारी नौकरियों में मूल वेतन और महंगाई भत्ता) कुल वेतन का 50 प्रतिशत या उससे अधिक होना चाहिए।

2. केंद्र सरकार का दावा है कि वेतन में इस बदलाव से नियोक्ता और श्रमिकों दोनों को लाभ होगा।

3. नए नियमों के मुताबिक, आपके पीएफ में बढ़ोतरी होगी। साथ ही आपकी इनहैंड सैलरी भी कम हो जाएगी। दरअसल, नए नियमों के अनुसार, मूल वेतन कुल वेतन का 50 प्रतिशत या उससे अधिक होना चाहिए।

4. ज्यादातर नौकरीपेशा लोगों की सैलरी स्ट्रक्चर इस बदलाव के बाद पूरी तरह से बदल सकती है। बता दें कि मूल वेतन में वृद्धि से पीएफ भी बढ़ेगा, क्योंकि यह मूल वेतन पर आधारित है।

ये भी पढ़े:- एक लीटर पेट्रोल (Petrol) में बाइक जबरदस्त माइलेज देगी, बार-बार फ्यूल भरवाने की जरूरत नहीं होगी। जानें कैसे?

5. इसमें अधिकतम काम के घंटे 12 करने का भी प्रस्ताव किया गया है। इसके अलावा, ओवरटाइम में 15 से 30 मिनट के लिए अतिरिक्त काम शामिल करने का प्रावधान है।

6. वर्तमान में, यदि आप 30 मिनट से कम समय के लिए अतिरिक्त काम करते हैं, तो यह ओवरटाइम में गिना नहीं जाता है।

7. नए नियमों के अनुसार, 5 घंटे से अधिक समय तक लगातार काम करने पर प्रतिबंध लगा दिया जाएगा। सरकार का मानना ​​है कि कर्मचारियों को 5 घंटे काम करने के बाद आधे घंटे का ब्रेक दिया जाना चाहिए।

8. पीएफ राशि में वृद्धि के साथ, सेवानिवृत्ति राशि भी बढ़ जाएगी। सेवानिवृत्ति के बाद, लोगों को इस राशि से बहुत मदद मिलेगी।

ये भी पढ़े:-आपकी पुरानी कार कब कबाड़ बन जाएगी? स्क्रैपिंग पॉलिसी (Scrapping Policy) से संबंधित नए नियम जानें

9. पीएफ और ग्रेच्युटी बढ़ने से कंपनियों की लागत भी बढ़ेगी क्योंकि उन्हें भी कर्मचारियों के लिए पीएफ में अधिक योगदान देना होगा।

10. ये बदलाव पिछले साल संसद में पारित वेज बिल पर कोड (Code on Wages Bill) के कारण हो सकता है।

ये भी पढ़े:- SBI की इस विशेष नीति में हर दिन 100 रुपये से कम जमा करने पर आपको 2.5 करोड़ का कवर मिलेगा, जानिए विवरण ..

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें और  टेलीग्राम पर ज्वाइन करे और  ट्विटर पर फॉलो करें .Talkaaj.com पर विस्तार से पढ़ें व्यापार की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments