Homeटेक ज्ञानFacebook की लत लोगों की नींद उड़ा रही, बच्चों के कामकाज और...

Facebook की लत लोगों की नींद उड़ा रही, बच्चों के कामकाज और पालन-पोषण पर भी पड़ रहा बुरा प्रभाव

Facebook की लत लोगों की नींद उड़ा रही, बच्चों के कामकाज और पालन-पोषण पर भी पड़ रहा बुरा प्रभाव

Facebook द्वारा किए गए एक आंतरिक सर्वेक्षण से पता चला है कि यह लत उसके 12.5 प्रतिशत उपयोगकर्ताओं (लगभग 360 मिलियन लोगों) को नुकसान पहुंचा रही है। Facebook की लत उनकी नींद की कार्यप्रणाली और बच्चों की देखभाल को नुकसान पहुंचा रही है।

अगर आप लंबे समय तक इंटरनेट मीडिया प्लेटफॉर्म से चिपके रहते हैं तो सावधान हो जाएं। यह लत आपको बीमार कर सकती है। फेसबुक द्वारा किए गए एक आंतरिक सर्वेक्षण से पता चला है कि यह लत उसके 12.5 प्रतिशत उपयोगकर्ताओं (लगभग 360 मिलियन लोगों) को नुकसान पहुंचा रही है। Facebook की लत उनकी नींद, कामकाज और बच्चों की देखभाल को नुकसान पहुंचा रही है। हालांकि, कंपनी ने इस मीडिया रिपोर्ट को झूठा बताया है।

अमेरिकी अखबार वॉल स्ट्रीट जनरल के मुताबिक, फेसबुक (Facebook) के शोधकर्ताओं ने पाया है कि इसके हर आठ में से एक यूजर इस इंटरनेट मीडिया प्लेटफॉर्म पर लंबे समय तक टिका रहता है। फेसबुक ने इसे अपने प्लेटफॉर्म का “समस्याग्रस्त उपयोग” कहा। शुक्रवार को अखबार की रिपोर्ट के मुताबिक, शोधकर्ताओं ने फेसबुक के आदी यूजर्स को किसी भी अन्य इंटरनेट मीडिया प्लेटफॉर्म की तुलना में सबसे खराब रेटिंग दी है।

(यह भी पढ़िए | फोन में बिना इंटरनेट के डेस्कटॉप पर चलाएं WhatsApp, आया है नया फीचर )

Facebook की पैरेंट कंपनी मेटा ने अखबार की इस रिपोर्ट को गलत बताया है। कंपनी ने कहा है कि अखबार ने कंपनी के आंतरिक दस्तावेज के एक हिस्से का इस्तेमाल गलत धारणा स्थापित करने के लिए किया है जो कि गलत है। मेटा में उपाध्यक्ष (अनुसंधान) प्रतिति रायचौधुरी ने एक ब्लॉग पोस्ट में कहा कि समस्याग्रस्त उपयोग का मतलब व्यसन नहीं है। टीवी और स्मार्टफोन जैसे अन्य उपकरणों के साथ लंबे समय तक रहने की लोगों की आदत के लिए समस्याग्रस्त उपयोग का उपयोग किया गया है।

अखबार की रिपोर्ट में कंपनी द्वारा किए गए एक आंतरिक अध्ययन के हवाले से बताया गया है कि कैसे इस इंटरनेट मीडिया प्लेटफॉर्म की लत लोगों के जीवन को प्रभावित कर रही है। रिपोर्ट में कहा गया है कि कंपनी के अध्ययन में यह भी कहा गया है कि Facebook अन्य इंटरनेट मीडिया प्लेटफॉर्म की तुलना में यूजर्स के लिए एक बड़ी समस्या बनता जा रहा है। हालांकि, मेटा का कहना है कि अध्ययन ने यह स्पष्ट कर दिया कि यह अध्ययन फेसबुक का उपयोग करने वाले लोगों की समस्याओं को समझने के लिए किया गया है।

( यह भी पढ़े:- ऑनलाइन ठगी (Online Fraud) के शिकार हुए तो 10 दिन में मिलेंगे पैसे, करना होगा ये काम )

इस आर्टिकल को शेयर करें

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए –
TalkAaj (बात आज की) के समाचार ग्रुप Whatsapp से जुड़े
TalkAaj (बात आज की) के समाचार ग्रुप Telegram से जुड़े
TalkAaj (बात आज की) के समाचार ग्रुप Instagram से जुड़े
TalkAaj (बात आज की) के समाचार ग्रुप Youtube से जुड़े
TalkAaj (बात आज की) के समाचार ग्रुप को Twitter पर फॉलो करें
TalkAaj (बात आज की) के समाचार ग्रुप Facebook से जुड़े

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments