Home देश Good News : COVID-19 वैक्सीन जुलाई 2021 तक 25 करोड़ लोगों तक...

Good News : COVID-19 वैक्सीन जुलाई 2021 तक 25 करोड़ लोगों तक पहुंचेगी : हर्षवर्धन

Good News : COVID-19 वैक्सीन जुलाई 2021 तक 25 करोड़ लोगों तक पहुंचेगी : हर्षवर्धन

Coronavirus Vaccine Update: केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन (Union Health Minister Dr. Harsh Vardhan) ने कहा कि सरकार इस दिशा में काम कर रही है ताकि हर कोई बराबर हो जाए जब कोरोनवायरस का टीका तैयार हो जाए।

मुख्य विशेषताएं:

  • केंद्र सरकार ने कोरोनावायरस वैक्सीन के लिए एक उच्च स्तरीय समिति बनाई है
  • स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि सरकार सभी के लिए टीका लगाने की योजना बना रही है
  • अगले साल जुलाई तक 20-25 मिलियन लोगों का टीकाकरण करना है
  • स्वास्थ्य मंत्रालय राज्य सरकारों को प्रारूप भेजता है, विवरण भरा जाना है

News Desk: भारत को कोरोनावायरस का टीका कब तक मिलेगा? यह किसको दिया जाएगा? टीकाकरण की व्यवस्था कैसे होगी? इन सभी सवालों का जवाब केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री डॉ। हर्षवर्धन ने दिया है। अपने साप्ताहिक कार्यक्रम ‘संडे संवाद’ में उन्होंने कहा कि सरकार हर नागरिक को टीके उपलब्ध कराने की तैयारी कर रही है।

ये भी पढ़ें:- CM Yogi Adityanath ने Hathras मामले पर कहा – जो विकास पसंद नहीं करते हैं, वे जातीय दंगा फैलाना चाहते हैं

इसके लिए एक उच्चस्तरीय समिति बनाई गई है। हर्षवर्धन ने कहा कि सरकार का लक्ष्य है कि जुलाई 2021 तक कोविद -19 द्वारा 20-25 करोड़ भारतीयों का टीकाकरण किया जाए। उन्होंने कहा कि सरकार 40 से 50 करोड़ खुराक प्राप्त करने और उनका उपयोग करने की योजना बना रही है।

 

टीके देने की क्या व्यवस्था है?

हर्षवर्धन ने कहा कि टीका तैयार होने के बाद टीकाकरण की योजना बनाई जा रही है। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य मंत्रालय एक फॉर्म तैयार कर रहा है। राज्य इसमें प्राथमिकता वाले समूहों का विवरण भरेंगे। इन लोगों को पहले वैक्सीन मिलेगी। हर्षवर्धन ने कहा कि यह टीका सबसे पहले कोविद -19 के प्रबंधन में लगे स्वास्थ्य कर्मियों को दिया जाएगा।

ये भी पढ़े:- पंजाब में Rahul Gandhi (राहुल गांधी) गरजे, बोले – सत्ता में आते ही तीनों कृषि कानूनों को कूड़ेदान में फेंक दिया जाएगा

इसमें सरकारी और निजी अस्पतालों, नर्सों, पैरामेडिक्स, कर्मचारियों, आशा कार्यकर्ताओं, सफाईकर्मियों के डॉक्टर शामिल होंगे। उन्होंने कहा कि यह अभ्यास अक्टूबर तक पूरा होने की उम्मीद है। राज्यों से कोल्ड चेन के अलावा, वैक्सीन भंडारण और वितरण के कई पहलुओं पर भी डेटा मांगा गया है।

COVID-19
File Photo PTI COVID-19

कंपनियां डेवलपर्स से सीधे कोरोनावायरस वैक्सीन खरीद सकेंगी, सरकार छूट दे सकती है

  • अभी यह तय नहीं है कि किन कंपनियों को टीके निर्माताओं से सीधे टीके खरीदने की अनुमति होगी। लेकिन एचटी की रिपोर्ट ने संकेत दिया कि पेट्रोलियम, स्टील, फार्मा, सीमेंट और कोयला जैसे बुनियादी उद्योगों से जुड़ी कंपनियां योजना का हिस्सा हो सकती हैं। इस कदम से सरकार पर वित्तीय दबाव भी कम होगा।
  • सरकार कंपनियों की वैक्सीन डील, उनकी खुराक, टीकाकरण से जुड़ी सभी प्रक्रियाओं पर नजर रखेगी। उप-केंद्रीकरण एक केंद्रीकृत निगरानी प्रणाली के माध्यम से किया जाएगा। टीकाकरण किसने कराया, इसका पूरा रिकॉर्ड किसे मिलेगा?
  • सरकार वर्तमान में टीकाकरण के लिए रसद और बुनियादी ढांचा स्थापित करने में लगी हुई है। अगले साल की शुरुआत में वैक्सीन लॉन्च की संभावना के मद्देनजर केंद्र ने राज्यों से भी संपर्क किया है। टीके की खुराक को जमे हुए (जमे हुए) रूप में परिवहन करना एक बड़ी चुनौती है। फिर उन्हें प्रशीतित किया जाना है।
  • भारत की बड़ी कंपनियों के लिए एक अलग चैनल शुरू करने के पीछे का उद्देश्य अर्थव्यवस्था को धीमा नहीं होने देना है। पहली तिमाही के बाद जीडीपी 23.9% बढ़ गई। इससे मोदी सरकार की कोरोना महामारी और अर्थव्यवस्था की स्थिति से निपटने पर सवाल उठे। ‘अनलॉकिंग’ तीन महीने के लॉकडाउन के बाद अब तक चार चरणों में की गई है। इसके तहत दुकानों, कार्यालयों, व्यापारिक प्रतिष्ठानों को चरणबद्ध तरीके से खोलने की अनुमति दी गई। ‘पुनः खोलने’ के प्रावधान 1 अक्टूबर से लागू हैं।

ये भी पढ़े :- School Reopening Guidelines : 15 अक्‍टूबर से स्कूल कैसे और किन शर्तों पर खुलेगा, सब कुछ जानें

डबल डोज वैक्सीन का क्या लाभ है?

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि सरकार कोविद -19 के प्रतिरक्षा डेटा की भी निगरानी कर रही है। हर्षवर्धन ने कहा कि महामारी को नियंत्रित करने के लिए, एकल-खुराक टीका प्राप्त करना अच्छा होगा। हालांकि एकल खुराक के लिए आवश्यक प्रतिरक्षा का स्तर कई बार उपलब्ध नहीं होता है। टीके की दो खुराक आमतौर पर पर्याप्त प्रतिरक्षा प्रदान करती हैं।

रूसी टीके के बारे में कोई निर्णय नहीं

हर्षवर्धन ने मुकदमे में आने वाली समस्याओं से संबंधित सवालों के जवाब भी दिए। उन्होंने कहा कि हल्के दुष्प्रभाव संभव हैं लेकिन टीका सुरक्षा का कोई खतरा नहीं है। हर्षवर्धन ने कहा कि टीकों के सभी परीक्षण निर्धारित पैमाने के तहत किए जाते हैं। उन्होंने कहा कि सरकार ने रूसी वैक्सीन स्पुतनिक वी के संबंध में कोई निर्णय नहीं लिया है।

 

ये भी पढ़े :-

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

बॉलीवुड में ड्रग का जाल: NCB की छापेमारी, दीपिका पादुकोण (Deepika Padukone) के मैनेजर करिश्मा प्रकाश के घर में ड्रग्स बरामद

बॉलीवुड में ड्रग का जाल: NCB की छापेमारी, दीपिका पादुकोण (Deepika Padukone) के मैनेजर करिश्मा प्रकाश के घर में ड्रग्स बरामद न्यूज़ डेस्क : नारकोटिक्स...

आम आदमी के लिए बड़ी खबर! आपके LPG सिलेंडर बुकिंग फोन नंबर को बदल दिया, फटाफट ऐसे करें चेक

आम आदमी के लिए बड़ी खबर! आपके LPG सिलेंडर बुकिंग फोन नंबर को बदल दिया, फटाफट ऐसे करें चेक News Desk: LPG गैस सिलेंडर Indane...

29 दिनों के बाद Armenia और Azerbaijan में शांति लौटेगी, इस देश ने कराया संघर्ष विराम

29 दिनों के बाद Armenia और Azerbaijan में शांति लौटेगी, इस देश ने कराया संघर्ष विराम World Desk: अर्मेनिया (Armenia) और Azerbaijan (अज़रबैजान) के बीच...

ये बेस्ट लैपटॉप (Laptops) 25 हजार से कम कीमत के, विवरण देख खरीदने का होगा मन

ये बेस्ट लैपटॉप (Laptops) 25 हजार से कम कीमत के, विवरण देख खरीदने का होगा मन  ऑटोमोबाइल डेस्क:- बजट लैपटॉप (Laptops) सेगमेंट में 25,000 रुपये...

Recent Comments