Home शहर और राज्यराजस्थान Sukhdev Singh Gogamedi और Gangster Godara के बीच मोबाइल पर हुई बहस, फिर बरसानी शुरू कर दीं गोलियां…हत्याकांड में बड़ा खुलासा, जानें किस वजह से हुई बहस!

Sukhdev Singh Gogamedi और Gangster Godara के बीच मोबाइल पर हुई बहस, फिर बरसानी शुरू कर दीं गोलियां…हत्याकांड में बड़ा खुलासा, जानें किस वजह से हुई बहस!

Sukhdev Singh Gogamedi Murder Case: गैंगस्टर रोहित गोदारा ने सुखदेव सिंह गोगामेड़ी हत्याकांड की जिम्मेदारी ली है. माना जा रहा है कि शूटर नितिन फौजी और रोहित राठौड़ को अपने साथ गोगामेड़ के घर ले जाने वाला नवीन शेखावत भी रोहित गोदारा और लॉरेंस बिश्नोई गैंग से जुड़ा हुआ था. गोगामेड़ी की हत्या करते समय नवीन को शूटरों ने गोली मार दी थी.

by TalkAaj
A+A-
Reset
Sukhdev Singh Gogamedi Murder Case
Rate this post

Sukhdev Singh Gogamedi और Gangster Godara के बीच मोबाइल पर हुई बहस, फिर बरसानी शुरू कर दीं गोलियां…हत्याकांड में बड़ा खुलासा, जानें किस वजह से हुई बहस!

Jaipur News – Sukhdev Singh Gogamedi Murder Case: श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के अध्यक्ष Sukhdev Singh Gogamedi की हत्या के आरोपी नवीन शेखावत के मोबाइल फोन की कॉल डिटेल से पुलिस को अहम जानकारी मिली है। हत्या से पहले नवीन ने ही अपने मोबाइल से विदेश में बैठे गैंगस्टर रोहित गोदारा से गोगामेड़ी की बात कराई थी. इस बातचीत के दौरान दोनों के बीच तीखी नोकझोंक हुई. इसी बीच नवीन के साथ आए शूटर नितिन फौजी और रोहित राठौड़ ने अपने हथियार निकाल लिए और गोगामेड़ी पर फायरिंग शुरू कर दी. गोगामेड़ी में किसी से फोन पर बात करने और हत्या का पूरा नजारा कमरे में लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गया है.

बता दें कि इस सुखदेव सिंह गोगामेड़ी (Sukhdev Singh Gogamedi) हत्याकांड की जिम्मेदारी गैंगस्टर रोहित गोदारा ने ली है. माना जा रहा है कि शूटर नितिन फौजी और रोहित राठौड़ को अपने साथ गोगामेड़ के घर ले जाने वाला नवीन शेखावत भी रोहित गोदारा और लॉरेंस बिश्नोई गैंग से जुड़ा हुआ था. शूटरों ने गोगामेड़ी की हत्या करते समय नवीन की भी गोली मारकर हत्या कर दी.

स्कूल लाइसेंस का मामला भी सामने आया

श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के अध्यक्ष सुखदेव सिंह गोगामेड़ी राजस्थान की कांग्रेस सरकार में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के करीबी धर्मेंद्र राठौड़ के करीबी थे. इसलिए नवीन शेखावत एक निजी स्कूल के लाइसेंस के नियमितीकरण के सिलसिले में सुखदेव सिंह गोगामेड़ी से मिलने पहुंचे थे. इस दौरान नवीन के साथ शूटर रोहित और नितिन भी थे।

शादी का कार्ड देने का बहाना

यह भी बताया जा रहा है कि कपड़ा कारोबारी नवीन शेखावत जयपुर में रहते थे और पहले से ही सुखदेव सिंह गोगामेड़ी से जुड़े हुए थे. वह गोगामेड़ी के पास आता-जाता था. हत्याकांड वाले दिन वह अपनी बुआ के बेटे की शादी का कार्ड देने गोगामेड़ी पहुंचा था.

जयपुर में मिले हत्याकांड की प्लानिंग के सबूत

श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के अध्यक्ष Sukhdev Singh Gogamedi की जयपुर में ही हत्या की साजिश के सबूत मिले हैं. गोलीबारी में मारे गए नवीन सिंह शेखावत ने 30 नवंबर को वैशाली नगर से स्कॉर्पियो कार किराए पर ली थी. दो-तीन दिन के अंदर हत्या करने के बाद अपराधी किराए की कार से भागने की योजना बना रहे थे. लेकिन मुझे समय नहीं मिला, इसलिए मैं 5 दिसंबर को सुबह कंपनी वापस गया, 2,000 रुपये जमा किए और कार एक और दिन के लिए किराए पर ले ली।

जयपुर के झोटवाड़ा में आरोपी नवीन शेखावत, शूटर रोहित राठौड़ और नितिन फौजी ने सुखदेव सिंह गोगामेड़ी के सम्मान में 2 शॉल और पगड़ी खरीदीं. वैशाली नगर के चौराहे पर लगे सीसीटीवी कैमरे में तीनों स्कॉर्पियो में जाते दिख रहे हैं.

हमले के दिन छुट्टी पर क्यों थे 3 में से 2 बॉडीगार्ड?

नवीन सिंह शेखावत पहले भी सुखदेव सिंह गोगामेड़ी से मिल चुके थे और उनके घर आते-जाते थे. संभव है कि नवीन को ही पता चला हो कि सुखदेव सिंह गोगामेड़ी की सुरक्षा में तैनात तीन सुरक्षाकर्मियों में से दो छुट्टी पर हैं. हालांकि, पुलिस इस बात की जांच कर रही है कि हमले के दिन 3 में से 2 निजी सुरक्षाकर्मी छुट्टी पर क्यों थे.

22 साल के नितिन फौजी ने बरसाईं गोलियां

सीसीटीवी में देखा गया कि मोबाइल फोन पर किसी से बात कर रहे सुखदेव सिंह गोगामेड़ी को 22 साल के नितिन फौजी ने सबसे पहले गोली मारी. पास बैठे नवीन ने उसे रोकने की कोशिश की तो सिपाही ने उसे गोली मार दी जिससे उसकी मौत हो गई. हरियाणा के महेंद्रगढ़ जिले के दौंगड़ा जाट गांव के रहने वाले नितिन फौजी 19 जाट आर्मी बटालियन में कार्यरत हैं और उनकी पोस्टिंग फिलहाल अलवर में बताई जा रही है. नितिन फौजी के पिता अशोक कुमार भी सेना से सेवानिवृत्त हैं।

शूटर रोहित भी POCSO का आरोपी

गोगामेड़ी की हत्या करने वाला दूसरा शूटर रोहित राठौड़ राजस्थान के नागौर जिले का रहने वाला है. जिले के मकराना के जूसरी गांव निवासी रोहित राठौड़ का जयपुर के खातीपुरा के सुंदर नगर में मकान है. आरोपी के पड़ोसियों ने बताया कि रोहित राठौड़ को एक बार POCSO एक्ट के तहत गिरफ्तार किया गया था और जेल जाने के बाद वह कई गैंगस्टरों के संपर्क में आया.

गौरतलब है कि 5 दिसंबर को राजस्थान की राजधानी जयपुर में दो हमलावरों ने श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के अध्यक्ष Sukhdev Singh Gogamedi के घर में घुसकर उनकी हत्या कर दी थी. इस घटना के दौरान हमलावरों ने उनके साथ मौजूद नवीन शेखावत की भी गोली मारकर हत्या कर दी. वहीं घर में मौजूद एक अन्य व्यक्ति गंभीर रूप से घायल हो गया. हमले की जिम्मेदारी रोहित गोदारा गैंग ने ली है.

Talkaaj Whtasapp Channel Logo 2

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले पढ़ें Talkaaj (बात आज की) पर फॉलो करें Talkaaj News को FacebookTelegramTwitterInstagramKoo.

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Google News Follow Me

You may also like

Leave a Comment

Hindi News:Talkaaj पर पढ़ें हिन्दी न्यूज़ देश और दुनिया से, जाने व्यापार, सरकरी योजनायें, बॉलीवुड, शिक्षा, जॉब, खेल और राजनीति के हर अपडेट. Read all Hindi … Contact us: [email protected]

Edtior's Picks

Latest Articles

All Right Reserved. Designed and Developed by Talkaaj

Talkaaj.com पर पढ़ें हिन्दी न्यूज़ देश और दुनिया से, जाने व्यापार, सरकरी योजनायें, बॉलीवुड, शिक्षा, जॉब, खेल और राजनीति के हर अपडेट. Read all Hindi