LPG Gas Subsidy क्यों नहीं मिल रही है, जानिए कारण

LPG Gas Subsidy
Facebook
Twitter
Telegram
WhatsApp

LPG Gas Subsidy क्यों नहीं मिल रही है, जानिए कारण

न्यूज़ डेस्क: तेल कंपनियों ने इस महीने गैस सिलेंडर की कीमत में 50 रुपये की बढ़ोतरी की है, लेकिन सब्सिडी को लेकर स्थिति स्पष्ट नहीं है। कई उपभोक्ताओं ने इस महीने बढ़े हुए दाम पर सिलेंडर बुक कराए लेकिन सब्सिडी उनके खाते में नहीं पहुंची।

मुख्य विशेषताएं:

  • इस महीने गैस सिलेंडर की कीमत 50 रुपये बढ़ जाती है
  • लेकिन एलपीजी सब्सिडी को लेकर स्थिति स्पष्ट नहीं है
  • सरकार ने तेल कंपनियों को यह नहीं बताया कि सब्सिडी देनी है या नहीं
  • 14.2 किलो के सिलेंडर की कीमत में 50 रुपये की बढ़ोतरी की गई है।

तेल कंपनियों ने इस महीने एलपीजी गैस सिलेंडर के दाम 50 रुपये बढ़ाए हैं, लेकिन सब्सिडी को लेकर स्थिति स्पष्ट नहीं है। कई उपभोक्ताओं ने इस महीने बढ़े हुए दाम पर सिलेंडर बुक कराए लेकिन सब्सिडी उनके खाते में नहीं पहुंची। दिल्ली में 14.2 किलोग्राम गैस सिलेंडर की कीमत दिसंबर में बढ़कर 644 रुपये हो गई जो नवंबर में 594 रुपये थी। पांच महीने बाद गैस की कीमतें बढ़ाई गईं। गैस सिलेंडर की कीमत जुलाई से नहीं बदली थी।

ये भी पढ़े : इस महीने फिर से बढ़े LPG सिलेंडर के दाम, जानिए कितने रुपए देने होंगे अब

मई से रसोई गैस के अधिकांश उपभोक्ताओं के खाते में सब्सिडी नहीं आ रही है। इसका कारण यह था कि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर तेल की कीमतों में कमी और घरेलू रिफिल दर में वृद्धि ने सब्सिडी वाले सिलेंडर और वाणिज्यिक सिलेंडर की कीमत को समान बना दिया था। पिछले साल जून में दिल्ली में सब्सिडी वाले गैस सिलेंडर की कीमत 497 रुपये थी। तब से इसमें 147 रुपये की बढ़ोतरी हुई है। जून में दिल्ली में सब्सिडी 240 रुपये थी।

ये भी पढ़े:- नए साल से Check Payment का नियम बदल जाएंगे, जानिए क्या बदला है

कंफ्यूजन क्या है

इंडस्ट्री के लोगों का कहना है कि सरकार ने अभी तक सरकारी तेल कंपनियों को यह नहीं बताया है कि दिसंबर में सिलेंडर खरीदने वाले उपभोक्ताओं को सब्सिडी मिलेगी या नहीं। वित्त वर्ष 2019-20 में 22635 करोड़ रुपये से इस वित्त वर्ष की पहली छमाही में सरकार के लिए रसोई गैस सब्सिडी 1126 करोड़ रुपये तक गिर गई। तेल की कीमतों में कमी और घरेलू रिफिल दरों में वृद्धि के कारण 2019-20 में एलपीजी सब्सिडी में 28 प्रतिशत की कमी आई। 2018-19 में यह 31,447 करोड़ रुपये था।

ये भी पढ़े: केंद्र सरकार ने दी मंजूरी, 1 जनवरी से बदल जाएगा आपका Mobile Number, ये बदलाव होंगे बड़े

कितनी कीमतें

तेल कंपनियों ने इस महीने रसोई गैस के दाम बढ़ा दिए हैं। 14.2 किलो के सिलेंडर की कीमत में 50 रुपये की बढ़ोतरी की गई है। देश की सबसे बड़ी तेल कंपनी IOC के अनुसार, दिल्ली में सब्सिडी के बिना 14.2 किलो के गैस सिलेंडर की कीमत अब 644 रुपये हो गई है।

कोलकाता में यह बढ़कर 670.50 रुपये हो गई है। मुंबई में 644 रुपये और चेन्नई में 660 रुपये। इससे पहले, दिल्ली में सब्सिडी के बिना 14.2 किलो गैस सिलेंडर की कीमत 594 रुपये थी। कोलकाता में यह 620.50 रुपये, मुंबई में 594 रुपये और चेन्नई में 610 रुपये थी। इसी तरह, 19 किलो के सिलेंडर की कीमत दिल्ली में 1296 रुपये, कोलकाता में 1351.50 रुपये, मुंबई में 1244 रुपये और चेन्नई में 1410.50 रुपये हो गई है।

ये भी पढ़े: चीन को लगेगा करारा झटका! भारत में लगाएगी Samsung Mobile Display यूनिट, करेगी 4825 करोड़ रुपये का निवेश

गैस सिलेंडर पर सब्सिडी

सरकार एक वर्ष में प्रत्येक परिवार के लिए 14.2 किलोग्राम के 12 सिलेंडर की सब्सिडी देती है। अगर ग्राहक इससे ज्यादा सिलेंडर लेना चाहते हैं, तो उन्हें बाजार मूल्य पर खरीदना होगा। तेल कंपनियां हर महीने गैस सिलेंडर की कीमत की समीक्षा करती हैं। इसकी कीमतें औसत अंतरराष्ट्रीय बेंचमार्क और विदेशी मुद्रा दरों में बदलाव जैसे कारकों को निर्धारित करती हैं।

इस तरह से एलपीजी की कीमतों की जाँच करें

एलपीजी सिलेंडर की कीमत की जांच करने के लिए, आपको सरकारी तेल कंपनी की वेबसाइट पर जाना होगा। यहां की कंपनियां हर महीने नए रेट जारी करती हैं। (https://iocl.com/Products/IndaneGas.aspx) इस लिंक पर आप अपने शहर के गैस सिलेंडर की कीमत की जांच कर सकते हैं।

Facebook
Twitter
Telegram
WhatsApp
TalkAaj

TalkAaj

Leave a Comment

Top Stories

Maruti Alto 2022

इस दिन मार्केट में धूम मचाने आएगी Maruti Suzuki Alto 2022, लॉन्च से पहले जानें कीमत, फीचर्स और स्पेसिफिकेशन की पूरी डिटेल

इस दिन मार्केट में धूम मचाने आएगी Maruti Suzuki Alto 2022, लॉन्च से पहले जानें कीमत, फीचर्स और स्पेसिफिकेशन की पूरी डिटेल Maruti Alto 2022 :