नितिन गडकरी बोले- Electric Vehicles अपनाएंगे सभी, सिर्फ एक रुपए में 1 KM का सफर तय करेंगे

Electric Vehicles
Facebook
Twitter
Telegram
WhatsApp

नितिन गडकरी बोले- Electric Vehicles अपनाएंगे सभी, सिर्फ एक रुपए में 1 KM का सफर तय करेंगे

केंद्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्री Nitin Gadkari ने इलेक्ट्रिक वाहनों (Electric Vehicles) को अपनाने के फायदों के बारे में बताया। उन्होंने बताया कि पेट्रोल से इलेक्ट्रिक वाहन चलाना कितना सस्ता है और यह आपको कितना बचाता है।

केंद्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्री नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) ने शुक्रवार को 9वें एजेंडा आजतक में इलेक्ट्रिक वाहनों को अपनाने के फायदों के बारे में बताया। उन्होंने बताया कि पेट्रोल से इलेक्ट्रिक वाहन चलाना कितना सस्ता है और यह आपको कितना बचाता है।

देश में इलेक्ट्रिक व्हीकल (EV) को बढ़ावा देने पर नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) ने कहा कि फिलहाल हम देश में 8 लाख करोड़ रुपये के पेट्रोलियम का आयात करते हैं. आने वाले वर्षों में इसे बढ़ाकर 25 लाख करोड़ रुपये करना चाहिए, यह कोई बड़ी बात नहीं है। इसलिए हमें विकल्प पर ध्यान देना होगा ताकि देश के लोगों को एक स्थायी जीवन दिया जा सके।

यह भी पढ़िए| Electric Vehicles Future: लोग आसानी से अपना रहे हैं इलेक्ट्रिक वाहन, क्या उन्हें इलेक्ट्रिक वाहनों पर भरोसा करना चाहिए या नहीं?

बंद नहीं होंगी पेट्रोल-डीजल गाड़ियां

उन्होंने कहा कि Electric Vehicles आने पर सरकार पेट्रोल-डीजल वाहनों को नहीं रोकेगी। बल्कि यह भी एक विकल्प होगा। इसके अलावा वैकल्पिक ईंधन, जैव ईंधन और फ्लेक्स ईंधन इंजन जैसे विचारों पर भी अध्ययन जारी है।

Electric Vehicles का खर्च महज 1 रुपये प्रति किमी

गडकरी ने कहा कि अब अगर आप पेट्रोल कार चलाते हैं तो 1 किमी जाने का खर्च 10 रुपये आता है। डीजल पर इतना ही खर्च 7 रुपये है। ऐसे में इलेक्ट्रिक वाहन (Electric Vehicles) की कीमत मात्र 1 रुपये प्रति किलोमीटर है।

अगर पेट्रोल कार पर आपका मासिक खर्च 20,000 रुपये है। तो इलेक्ट्रिक वाहन (Electric Vehicles) पर यह खर्च 1500 से 2000 रुपए होगा। इससे आपको हर महीने 18000 रुपये की बचत होगी।

यह भी पढ़िए| Most Sold Car: ये सस्ती कार 10 साल में सबसे ज्यादा खरीदी गई, देती है 31km तक का माइलेज, जानिए और फीचर्स

प्रदूषण से भी बचाए Electric Vehicles

गडकरी ने कहा कि अब वह दिल्ली में रहते हैं, इसलिए प्रदूषण के कारण उन्हें कई बार संक्रमण हो जाता है। पेट्रोल-डीजल वाहनों से होने वाला प्रदूषण भी दिल्ली-एनसीआर में प्रदूषण के कई कारणों में से एक है। इलेक्ट्रिक वाहनों (Electric Vehicles) को बढ़ावा देने से इसमें भी कमी आएगी। इसके अलावा सरकार दिल्ली-एनसीआर के आसपास के बड़े प्रोजेक्ट्स पर भी काम कर रही है, जिससे यहां ट्रैफिक कम हुआ है।

यह भी पढ़िए| अगर कार (Car) खरीदने का बजट छोटा है तो ये खबर सिर्फ आपके लिए, 3-5 लाख रुपए में 6 दमदार हैचबैक, बेहतर माइलेज वाली कारें

यह भी पढ़िए| Best Mileage Cars: ये कारें देती हैं बेस्ट माइलेज, कीमत 5 लाख से कम

इस आर्टिकल को शेयर करें

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए –
TalkAaj (बात आज की) के समाचार ग्रुप Whatsapp से जुड़े
TalkAaj (बात आज की) के समाचार ग्रुप Telegram से जुड़े
TalkAaj (बात आज की) के समाचार ग्रुप Instagram से जुड़े
TalkAaj (बात आज की) के समाचार ग्रुप Youtube से जुड़े
TalkAaj (बात आज की) के समाचार ग्रुप को Twitter पर फॉलो करें
TalkAaj (बात आज की) के समाचार ग्रुप Facebook से जुड़े

Facebook
Twitter
Telegram
WhatsApp
TalkAaj

TalkAaj

Leave a Comment

Top Stories