Homeहटके ख़बरेंहेलमेट (Helmet) को लेकर बदल गए हैं पुराने नियम, शर्तें तोड़ने पर...

हेलमेट (Helmet) को लेकर बदल गए हैं पुराने नियम, शर्तें तोड़ने पर होगी जेल, लगेगा 5 लाख रुपये तक का भारी जुर्माना

हेलमेट (Helmet) को लेकर बदल गए हैं पुराने नियम, शर्तें तोड़ने पर होगी जेल, लगेगा 5 लाख रुपये तक का भारी जुर्माना

1 जून 2021 से देश में सिर्फ ब्रांडेड हेलमेट की बिक्री होगी। दरअसल, सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय (MoRTH) ने मजबूत, हल्के और अच्छी गुणवत्ता वाले ब्रांडेड हेलमेट (Helmet) की बिक्री के लिए एक नया कानून लागू किया है। यह नया कानून देश में 1 जून 2021 से लागू हो जाएगा।

हेलमेट के पुराने नियमों को लेकर बड़ा बदलाव किया गया है। आपको बता दें कि 1 जून 2021 से देश में सिर्फ ब्रांडेड हेलमेट (Helmet) की बिक्री हो रही है। दरअसल, सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय (MoRTH) ने मजबूत, हल्के और अच्छी गुणवत्ता वाले ब्रांडेड हेलमेट (ISI Mark Helmet) की बिक्री के लिए एक नया कानून लागू किया है।

यह भी पढ़े:- एक साथ 4 डिवाइस पर चल सकेगा WhatsApp, हो रही धांसू फीचर की एंट्री

यह नया कानून देश में 1 जून, 2021 से लागू हो गया है। इस नियम के लागू होने के बाद देश में उन सभी हेलमेटों की बिक्री बंद हो गई है, जिन पर भारतीय मानक ब्यूरो या आईएसआई मार्क नहीं है। आसान भाषा में समझें तो घटिया क्वालिटी

लोकल हेलमेट (Local Helmet) बेचना अब अपराध माना जाएगा। वहीं, लोकल हेलमेट (Local Helmet) का उत्पादन भी अवैध हो गया है।

यह भी पढ़े:- LIC कन्यादान पॉलिसी: जमा करें सिर्फ 130 रुपये, बेटी की शादी पर मिलेंगे पूरे ₹27 लाख, जानिए कैसे?

नया कानून कब शुरू हुआ?

दरअसल, केंद्र सरकार ने 26 नवंबर 2020 को एक नोटिफिकेशन जारी किया था, जिसमें स्थानीय या नकली हेलमेट बनाने और बेचने दोनों पर जुर्माना और जेल का प्रावधान किया गया था. अधिसूचना में कहा गया है, “सभी दोपहिया हेलमेट BIS प्रमाणित होने चाहिए और उन पर भारतीय मानक (ISI) का निशान होना चाहिए।” इसमें कहा गया है कि बिना हेलमेट के दोपहिया वाहन चलाने वाले व्यक्ति पर एक जून 2021 से मुकदमा चलाया जा सकता है और उस पर जुर्माना लगाया जा सकता है।

यह भी पढ़े:- WhatsApp पर फर्जी ख़बरों को इन 5 तरीकों से पता लगायें, जानें पूरी जानकारी

1 साल तक की जेल और 5 लाख रुपये तक का जुर्माना

नया नियम केवल हेलमेट यूजर्स तक ही सीमित नहीं है। बल्कि 1 जून से गैर-ISI हेलमेट बनाने, बेचने, स्टोर करने या आयात करने पर 1 लाख रुपये से लेकर 5 लाख रुपये तक के जुर्माने के साथ एक साल की कैद का प्रावधान है।

क्यों लाया जा रहा है नया नियम?

इस नए नियम को लागू करने का मकसद सड़क किनारे मिलने वाले स्थानीय और घटिया किस्म के हेलमेट (बिना ISI मार्क) की बिक्री को रोकना है. दरअसल, स्थानीय हेलमेट सड़क दुर्घटना के दौरान वाहन मालिक के सिर को किसी भी तरफ से नहीं बचा सकते।

इस आर्टिकल को शेयर करें

ये भी पढ़े:- 

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें और  टेलीग्राम पर ज्वाइन करे और  ट्विटर पर फॉलो करें .डाउनलोड करे Talkaaj.com पर विस्तार से पढ़ें व्यापार की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments