क्या आपने नया फ्लैट, जमीन या घर खरीदा है? तो तुरंत इस Tax का भुगतान करें नहीं तो आपकी संपत्ति जब्त कर ली जाएगी।

Property Tax
Facebook
Twitter
Telegram
WhatsApp
Rate this post

Property Tax: क्या आपने नया फ्लैट, जमीन या घर खरीदा है? तो तुरंत इस टैक्स का भुगतान करें नहीं तो आपकी संपत्ति जब्त कर ली जाएगी।

Talkaaj News Desk: अगर आपने कोई जमीन (Land), फ्लैट, घर या बिल्डिंग खरीदी है तो आपको प्रॉपर्टी टैक्स (Property Tax) चुकाना होगा। किसी भी प्रकार की अचल संपत्ति पर संपत्ति कर देना अनिवार्य है, जिसे संबंधित निकाय में जमा करना होता है। अचल संपत्ति के मालिक को छह मासिक या वार्षिक आधार पर Property Tax का भुगतान करना पड़ता है। अगर आप यह टैक्स नहीं भरते हैं तो आपको जुर्माने के साथ-साथ कई परेशानियों का भी सामना करना पड़ेगा।

Property Tax में क्‍या-क्‍या चीजें?

संपत्ति कर का भुगतान उसी तरह किया जाता है जैसे रेगुलर इनकम (Regular Income) वाला व्यक्ति कर का भुगतान करता है। नगर निगम अधिनियम 1888 (MMC Act) के अनुसार, नगर निकाय द्वारा लगाए गए संपत्ति कर में सीवरेज कर, सामान्य कर, शिक्षा उपकर, सड़क कर और बेहतरी शुल्क शामिल हैं। कई शहरों में संपत्ति शुल्क का भुगतान साल में दो बार और हर छह महीने में किया जाता है।

यदि यह कर नहीं चुकाया गया तो क्या होगा?

संपत्ति कर घर या जमीन के मालिक को भेजा जाता है। यदि वह इसका भुगतान करने में विफल रहता है तो जुर्माना या ब्याज या दोनों वसूला जा सकता है। इसके बाद कमिश्नर की ओर से वारंट जारी किया जाता है और 21 दिन का समय दिया जाता है. अगर इन 21 दिनों के भीतर भी टैक्स जमा नहीं किया गया तो संपत्ति जब्त हो सकती है. साथ ही उस व्यक्ति को डिफॉल्ट घोषित कर दिया जाएगा और वह अपनी संपत्ति नहीं बेच पाएगा.

ये समस्याएं भी आ सकती हैं

Property Tax नहीं चुकाने वाले डिफॉल्टर का न सिर्फ घर जब्त किया जा सकता है, बल्कि और भी कई चीजें हो सकती हैं. प्रॉपर्टी बेचकर टैक्स की रकम वसूल की जा सकती है. साथ ही उस व्यक्ति के खिलाफ केस भी दर्ज किया जा सकता है. इसके अलावा कुछ मामलों में तो जेल भेजने तक का प्रावधान है.

अगर मकान किराये पर है तो यह टैक्स कौन देगा?

नियमों के मुताबिक, अगर किसी मकान मालिक ने अपना घर किराए पर दिया है तो उसे सालाना या छमाही Property Tax चुकाना होगा. हालांकि, अगर मकान मालिक इस टैक्स का भुगतान करने में विफल रहता है, तो उस घर में किराए पर रहने वाले व्यक्ति को संपत्ति कर का भुगतान करना होगा। यदि किरायेदार Property Tax का भुगतान करने से इनकार करता है, तो भी नगर निकाय को इसे वसूलने का अधिकार है।

Screenshot 5NO: 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट Talkaaj.com (बात आज की)
देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले पढ़ें Talkaaj (बात आज की) पर फॉलो करें Talkaaj News को FacebookTelegramTwitterInstagramKoo.
WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Google News Follow Me
Facebook
Twitter
Telegram
WhatsApp
Print
TalkAaj

TalkAaj

Talkaaj.com is a valuable resource for Hindi-speaking audiences who are looking for accurate and up-to-date news and information.

Leave a Comment

Top Stories