HomeदेशPM Narendra Modi ने ब्रिक्स (BRICS) में आतंकवाद का मुद्दा उठाया, जानिए...

PM Narendra Modi ने ब्रिक्स (BRICS) में आतंकवाद का मुद्दा उठाया, जानिए 10 बड़ी बातें

PM Narendra Modi ने ब्रिक्स (BRICS) में आतंकवाद का मुद्दा उठाया, जानिए 10 बड़ी बातें

News Desk: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) मंगलवार को 12 वें ब्रिक्स (BRICS) शिखर सम्मेलन में शामिल हुए। पीएम मोदी को रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने इस शिखर सम्मेलन में भाग लेने के लिए आमंत्रित किया था। पीएम मोदी ने पुतिन के निमंत्रण को स्वीकार कर लिया और इस आभासी सम्मेलन में भाग लिया।

पीएम मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए ब्रिक्स शिखर सम्मेलन को संबोधित किया। इस दौरान पीएम मोदी ने आतंकवाद का मुद्दा उठाया और पाकिस्तान का नाम लिए बिना जमकर हमला किया। आइए आपको बताते हैं पीएम मोदी के इस संबोधन की 10 बड़ी बातें।

ये भी पढ़े :- LIC के पास कहीं आपका पैसा तो नहीं पड़ा, तो इस तरह से जांचें, यह सीधे खाते में आएगा

  • इस साल दूसरे विश्व युद्ध की 75 वीं वर्षगांठ पर, पीएम मोदी ने सबसे पहले शहीद हुए सैनिकों को श्रद्धांजलि दी और कहा कि भारत के 2.5 मिलियन से अधिक नायक भी यूरोप, अफ्रीका, दक्षिण पूर्व एशिया जैसे कई मोर्चों पर इस युद्ध में सक्रिय थे ।
  • आतंकवाद का मुद्दा उठाते हुए पीएम मोदी ने कहा कि आज दुनिया के सामने सबसे बड़ी समस्या है। हमें यह सुनिश्चित करना होगा कि आतंकवादियों का समर्थन करने वाले देशों को भी दोषी ठहराया जाए और इस समस्या से संगठित तरीके से निपटा जाए।
  • पीएम मोदी ने कहा कि COVID-19 के दौरान, भारतीय फार्मा उद्योग की क्षमता के कारण, हम 150 से अधिक देशों में आवश्यक दवाएं भेजने में सक्षम थे। हमारी वैक्सीन उत्पादन वितरण क्षमता भी मानवता के लाभ के लिए काम करेगी।

ये भी पढ़े :- Google आपका Gmail अकाउंट बंद करने जा रहा है, जानिए कैसे बचाएं जल्दी

  • पीएम मोदी ने आगे कहा कि हमने ‘आत्मनिर्भर भारत’ अभियान के तहत एक व्यापक सुधार प्रक्रिया शुरू की है।
  • यह अभियान इस विश्वास पर आधारित है कि आत्मनिर्भर लचीला भारत पोस्ट- COVID वैश्विक अर्थव्यवस्था के लिए बल गुणक हो सकता है, जो वैश्विक मूल्य श्रृंखलाओं में एक मजबूत योगदान देता है।
  • पीएम मोदी ने कहा कि, वैश्विक मूल्य श्रृंखला एक मजबूत योगदान दे सकती है। 150 से अधिक देशों में आवश्यक दवाएं भेजी गईं, यह सबसे बड़ा उदाहरण है।
  • पीएम मोदी ने आगे कहा कि 2021 में ब्रिक्स के 15 साल पूरे हो जाएंगे। पिछले वर्षों में हमारे बीच हुए विभिन्न निर्णयों के मूल्यांकन के लिए हमारी शेरपा रिपोर्ट बना सकती है।
  • पीएम मोदी ने कहा कि 2021 में उनकी अध्यक्षता के दौरान, हम ब्रिक्स के तीनों स्तंभों में इंट्रा-ब्रिक्स सहयोग को मजबूत करने का प्रयास करेंगे।

ये भी पढ़े : PM Kisan: सरकार दिसंबर में 2 हजार रुपये देने जा रही है, आपने की ये गलती तो रुक सकता है पैसा

  • पीएम मोदी ने आगे कहा, ‘इस कठिन कार्यकाल में, रूस के नेतृत्व में, लोगों से लोगों के कनेक्शन जैसे ब्रिक्स फिल्म फेस्टिवल, युवा वैज्ञानिकों की बैठकें आदि को बेहतर बनाने के लिए कई पहल की गईं।
  • ब्रिक्स सम्मेलन में संबोधन के दौरान, पीएम मोदी ने यह भी बताया कि आने वाले समय में, भारत ब्रिक्स देशों के बीच डिजिटल स्वास्थ्य पारंपरिक चिकित्सा को बढ़ावा देगा।

ये भी पढ़े :

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments