पूरी दुनिया में कितने देश हैं? | Puri Duniya Mein Kitne Desh Hai 2024

Puri Duniya Mein Kitne Desh Hai
Facebook
Twitter
Telegram
WhatsApp
Rate this post

पूरी दुनिया में कितने देश हैं? | Puri Duniya Mein Kitne Desh Hai 2024

ये सवाल अक्सर हमारे दिमाग में घूमता रहता है, है ना? स्कूल में तो भूगोल की किताबें रट लीं, पर असल दुनिया में कितने देश हैं, ये याद नहीं रहता. तो चलिए आज इसी सवाल का जवाब ढूंढते हैं और साथ ही दुनिया के देशों के बारे में कुछ दिलचस्प बातें भी जान लेते हैं.

तो, पूरी दुनिया में कितने देश हैं? ठीक 2024 में, संयुक्त राष्ट्र (UN) के मुताबिक, पूरी दुनिया में कुल 195 देश हैं. इसमें से 193 देश तो UN के सदस्य देश हैं, बाकी दो (वेटिकन सिटी और फिलीस्तीन) गैर-सदस्य पर्यवेक्षक देश हैं. लेकिन थोड़ा रुकिए, कहानी यहीं खत्म नहीं होती.

कुछ और इलाके हैं, जिन्हें कुछ देश मानते हैं, पर UN नहीं मानता. जैसे ताइवान, कुक आइलैंड्स और नीयू. इन्हें मिलाकर कुछ लोग कुल देशों की संख्या 200 से ज्यादा बताते हैं. पर हम आज UN के आधिकारिक आंकड़ों पर ही बात करेंगे, यानी 195 देश.

195 देश! सोचिए, कितनी भाषाएं, कितनी संस्कृतियां, कितने अलग-अलग लोग! हर देश का अपना इतिहास, अपना भूगोल, अपनी परंपराएं. पूरी दुनिया में कितने देश हैं? ये जानना सिर्फ एक नंबर याद रखने जैसा नहीं है. ये तो एक खिड़की है, जिससे हम दुनिया की विविधता झांक सकते हैं.

अब थोड़ा गहराई में चलते हैं. ये 195 देश सात महाद्वीपों में बंटे हुए हैं: एशिया, अफ्रीका, यूरोप, उत्तरी अमेरिका, दक्षिणी अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया और अंटार्कटिका. हर महाद्वीप की अपनी खासियत है. एशिया दुनिया का सबसे बड़ा और सबसे ज्यादा आबादी वाला महाद्वीप है, तो वहीं अंटार्कटिका सबसे ठंडा और सबसे कम आबादी वाला है.

पूरी दुनिया में कितने देश हैं? ये जानने के बाद अगला सवाल ये उठता है कि इन देशों के बीच में क्या रिश्ता है? कुछ देश तो आपस में मिलकर संगठन बनाते हैं, जैसे यूरोपीय संघ (EU). कुछ देशों के बीच में तो सदियों पुराना रिश्ता है, जैसे भारत और नेपाल. वहीं, कुछ देशों के बीच में मतभेद भी चलते रहते हैं. ये सब मिलकर दुनिया की राजनीति का ताना-बाना बनता है.

तो, भईया, पूरी दुनिया में कितने देश हैं? इस सवाल का जवाब तो अब मिल गया. लेकिन ये सिर्फ एक शुरुआत है. दुनिया के देशों के बारे में सीखना दिलचस्प भी है और जरूरी भी. इससे हमारा ज्ञान बढ़ता है, हमारी सोच का दायरा फैलता है, और हम दुनिया को बेहतर समझ पाते हैं. तो चलिए, आज से ही एक नया देश, एक नई संस्कृति के बारे में जानने की कोशिश करें!

कुछ और दिलचस्प बातें:

  • दुनिया में सबसे छोटा देश वेटिकन सिटी है, जिसका क्षेत्रफल सिर्फ 0.44 वर्ग किलोमीटर है.
  • दुनिया में सबसे ज्यादा आबादी वाला देश चीन है, जहां लगभग 1.4 अरब लोग रहते हैं.
  • दुनिया में सबसे ज्यादा देशों वाला महाद्वीप अफ्रीका है, जहां 54 देश हैं.
  • दुनिया में सबसे ज्यादा भाषाएं एशिया में बोली जाती हैं, लगभग 2300 से ज्यादा!

ये तो बस एक झलक थी. पूरी दुनिया घूमने और हर देश को करीब से जानने के लिए तो जिंदगी कम पड़ जाएगी. पर हर रोज़ कुछ नया सीखकर हम इस खूबसूरत दुनिया को और बेहतर समझ सकते हैं!

दुनिया के देशों का सफर: भाषाओं का जादू

पूरी दुनिया में 195 देश हैं, और इन देशों में 7000 से ज्यादा भाषाएं बोली जाती हैं! सोचिए, हर भाषा एक अलग दुनिया खोलती है, अलग सोचने का नजरिया देती है. चलिए, कुछ खास भाषाओं की सैर करते हैं:

  • हिंदी: हमारी प्यारी हिंदी भाषा दुनिया की छठी सबसे ज्यादा बोली जाने वाली भाषा है. ये सिर्फ भारत में ही नहीं, बल्कि नेपाल, फिजी और मॉरिशस जैसे देशों में भी बोली जाती है. हिंदी की मिठास और गहराई ने ना जाने कितने दिलों को छुआ है!
  • स्पेनिश: दुनिया में करीब 500 मिलियन लोग स्पेनिश बोलते हैं. ये यूरोप, अफ्रीका और अमेरिका महाद्वीपों में फैले 20 से ज्यादा देशों की आधिकारिक भाषा है. स्पेनिश की लय और उमंग हर किसी को थिरकाने पर मजबूर कर देती है!
  • मंदारिन चीनी: ये दुनिया की सबसे ज्यादा बोली जाने वाली भाषा है, जिसे लगभग 1.4 अरब लोग बोलते हैं. चीन के अलावा, सिंगापुर और मलेशिया जैसे देशों में भी मंदारिन बोली जाती है. इसकी जटिलता और सौंदर्य भाषा प्रेमियों को आकर्षित करता है!
  • अरबी: अरब जगत की आत्मा कही जाने वाली अरबी भाषा को करीब 300 मिलियन लोग बोलते हैं. इसकी धीमी रफ्तार और मधुर लहजा कविताओं और गीतों में जान डाल देता है.
  • अंग्रेज़ी: दुनिया भर में व्यापार, राजनीति और संचार की भाषा होने के नाते अंग्रेज़ी को करीब 1.5 अरब लोग बोलते या समझते हैं. इसकी लचीलापन और व्यापकता इसे वैश्विक भाषा बनाती है.

ये तो सिर्फ कुछ उदाहरण हैं. हर भाषा अपने देश की संस्कृति और इतिहास की कहानी कहती है. भाषाओं को सीखना न सिर्फ संवाद का रास्ता खोलता है, बल्कि हमें दुनिया को नए सिरे से समझने का मौका देता है.

दुनिया के देशों का सफर: स्वाद की खुशबू

पूरी दुनिया में इतने देश, तो हर जगह का स्वाद भी अलग होगा ना! चलिए, कुछ दिलचस्प व्यंजनों की यात्रा करते हैं:

  • भारत की दाल मखनी: मक्खन की खुशबू और मसालों का तड़का, दाल मखनी हर भारतीय के दिल को छूती है. रोटी या पराठे के साथ इसका स्वाद लाजवाब होता है!
  • इटली का पिज्जा: पतला क्रस्ट, ताज़ा टमाटर की चटनी और स्वादिष्ट चीज़, इटली का पिज्जा दुनिया भर में मशहूर है. हर शहर में हर स्वाद के लिए मिलने वाला पिज्जा किसी का भी दिल जीत लेता है!
  • मेक्सिको का टैको: मकई के टॉर्टिला में भरी मसालेदार फिलिंग, टैको मेक्सिकन संस्कृति का एक अनोखा हिस्सा है. ढेर सारे टॉपिंग्स के साथ मिलने वाला टैको हर किसी को लुभाता है!
  • जापान का सुशी: ताज़ा सीफूड, चावल और समुद्री शैवाल से बना सुशी, जापानी व्यंजनों का एक बेहतरीन उदाहरण है. इसकी खूबसूरती और स्वाद किसी को भी मंत्रमुग्ध कर देता है!
  • थाईलैंड का टॉम यम गोन्ग: खट्टी, मीठी, मसालेदार और नारियल के दूध का स्वाद, टॉम यम गोन्ग हर खाने के शौकीन को आकर्षित करता है. झींगों से बनी ये सुप हर किसी के स्वाद कलियों को जगा देती है!

दुनिया के देशों का सफर: परंपराओं की रंगोली

पूरी दुनिया में हजारों साल पुरानी परंपराएं हैं, जो देशों को उनकी पहचान देती हैं. आइए, कुछ दिलचस्प परंपराओं की झलक देखें:

  • भारत की होली: रंगों का त्योहार होली भारत में हर्ष और उल्लास का प्रतीक है. रंगों से खेलकर लोग बुराई पर अच्छाई की जीत का जश्न मनाते हैं.
  • ब्राजील का कार्निवाल: रियो डी जनेरियो का कार्निवाल दुनिया भर में प्रसिद्ध है. चार दिन तक चलने वाले इस उत्सव में संगीत, नृत्य, रंगीन वेशभूषा और परेडों का धूमधाम होता है.
  • स्पेन का ला टोमाटिना: स्पेन के बुñोल शहर में हर साल टमाटर फेंकने का अनोखा त्योहार मनाया जाता है. एक घंटे तक चलने वाले इस उत्सव में लोग एक-दूसरे पर टमाटर फेंककर मस्ती करते हैं.
  • अमेरिका का थैंक्सगिविंग: हर साल नवंबर के चौथे गुरुवार को अमेरिका में थैंक्सगिविंग मनाया जाता है. परिवार और दोस्त मिलकर भोजन करते हैं और ईश्वर का शुक्रगुजार करते हैं.
  • चीन का चीनी नववर्ष: चीन में स्प्रिंग फेस्टिवल के नाम से जाना जाने वाला चीनी नववर्ष चंद्र कैलेंडर के अनुसार मनाया जाता है. 15 दिनों तक चलने वाले इस उत्सव में परंपरागत व्यंजन, पटाखे और पारिवारिक मिलन का महत्व होता है.

ये तो सिर्फ कुछ उदाहरण हैं. हर देश की अनोखी परंपराएं हैं, जो उनकी संस्कृति और इतिहास की कहानी कहती हैं. परंपराओं को समझना हमें दुनिया को बेहतर ढंग से जानने में मदद करता है.

तो, “पूरी दुनिया में कितने देश हैं?” ये जानना सिर्फ एक आंकड़ा नहीं है. यह दुनिया की विविधता, उसकी खूबसूरती, और उसकी कहानियों को समझने का एक रास्ता है. आइए, हम सब मिलकर दुनिया के देशों के बारे में सीखें, उनकी संस्कृतियों का सम्मान करें, और इस खूबसूरत ग्रह को एक बेहतर जगह बनाने का प्रयास करें!

आप दुनिया के किस देश के बारे में और जानना चाहेंगे? नीचे कमेंट में बताएं!

प्रकृति के दुश्मन हैं Idli-Rajma, आलू पराठा है बेहतर? हैरान कर देगा ये खुलासा

दुनिया में कितने लोग हैं || Duniya mein kitne log hain 2024

(देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले पढ़ें Talkaaj (बात आज की) पर , आप हमें FacebookTwitterInstagramKoo और  Youtube पर फ़ॉलो करे.)

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Google News Follow Me
Facebook
Twitter
Telegram
WhatsApp
Print
TalkAaj

TalkAaj

Talkaaj.com is a valuable resource for Hindi-speaking audiences who are looking for accurate and up-to-date news and information.

Leave a Comment

Top Stories