ऋषि सुनक होंगे ब्रिटेन के नए प्रधानमंत्री | Rishi Sunak to be next UK prime minister

Rishi Sunak
Facebook
Twitter
Telegram
WhatsApp

ऋषि सुनक होंगे ब्रिटेन के नए प्रधानमंत्री | Rishi Sunak to be next UK prime minister

Rishi Sunak ब्रिटेन के अगले प्रधानमंत्री होंगे। उन्हें कंजरवेटिव पार्टी का नेता चुना गया है। वह ब्रिटेन के एशियाई मूल के पहले प्रधानमंत्री होंगे। सर ग्राहम ब्रैडी ने औपचारिक रूप से इसकी घोषणा की है।

इससे पहले पेनी मॉर्डॉन्ट ने अपना दावा वापस ले लिया था। Rishi Sunak मंगलवार से आधिकारिक तौर पर प्रधानमंत्री का पद संभाल सकते हैं।

नए ब्रिटिश प्रधान मंत्री को कई कठिन चुनौतियों और सवालों का सामना करना पड़ेगा। इनमें से सबसे कठिन ब्रिटेन की अर्थव्यवस्था की वर्तमान स्थिति है।

ब्रिटेन गरीब होता जा रहा है और देश के लोग इसे महसूस कर रहे हैं – या इसे एक कैबिनेट मंत्री के शब्दों में कहें, “हमारे पास पहले से ही सभी समस्याएं हैं और अब आर्थिक संकट भी है।”

अल्पकालिक प्रधान मंत्री लिज़ ट्रस के प्रशासन द्वारा बनाई गई कठिन परिस्थिति ने कंजरवेटिव पार्टी को संकट में डाल दिया है। उनके फैसलों और फिर उनकी प्रतिक्रिया ने ब्रिटेन को वित्तीय बाजार के हाथों क्रूर व्यवहार सहने के लिए मजबूर किया।

ऋषि सुनक और लिज़ ट्रस
इमेज स्रोत,GETTY IMAGES

उन्होंने 35 साल की उम्र में 2015 में पहली बार संसद का चुनाव जीता था। महज सात साल में वे आज प्रधानमंत्री बनने जा रहे हैं।

वह भारत के प्रसिद्ध उद्योगपति और इंफोसिस कंपनी के संस्थापक एनआर नारायण मूर्ति के दामाद हैं। उन्होंने साल 2009 में अक्षता मूर्ति से शादी की।

ऋषि सनक बोरिस जॉनसन कैबिनेट में वित्त मंत्री थे। उन्होंने प्रधानमंत्री बनने के बाद देश की अर्थव्यवस्था को मजबूत करने का वादा किया है।

सनक 2015 से यॉर्कशायर के रिचमंड से कंजर्वेटिव सांसद चुने गए हैं। वह नॉर्थर्टन शहर के बाहर कार्बी सिगस्टन में रहता है। उनके पिता एक डॉक्टर थे और माँ एक फार्मासिस्ट थीं। भारतीय मूल के उनके परिवार के सदस्य पूर्वी अफ्रीका से ब्रिटेन आए थे।

ऋषि अपनी वेबसाइट पर लिखते हैं, “मेरे माता-पिता ने बहुत त्याग किया ताकि मैं अच्छे स्कूलों में जा सकूं। मैं भाग्यशाली था कि मुझे विनचेस्टर कॉलेज, ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी और स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी में पढ़ने का मौका मिला।”

जानिए ऋषि सुनक को

  • ऋषि सनक इंफोसिस के संस्थापक एनआर नारायण मूर्ति के दामाद हैं।
  • उनकी पत्नी अक्षता मूर्ति ब्रिटेन की सबसे अमीर महिलाओं की लिस्ट में शामिल हैं।
  • सुनक बोरिस जॉनसन कैबिनेट में वित्त मंत्री थे
  • सनक 2015 से यॉर्कशायर के रिचमंड से कंजर्वेटिव सांसद चुने गए हैं।
  • उनके पिता एक डॉक्टर और मां एक फार्मासिस्ट थीं।
  • भारतीय मूल के उनके परिवार के सदस्य पूर्वी अफ्रीका से ब्रिटेन आए थे।
  • उनकी पढ़ाई विनचेस्टर कॉलेज के एक विशेष निजी स्कूल में हुई।
  • सुनक उच्च शिक्षा के लिए ऑक्सफोर्ड गए।
  • बाद में स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी से MBA किया
  • राजनीति में आने से पहले इन्वेस्टमेंट बैंक गोल्डमैन सैक्स में काम किया

1980 में, सनक का जन्म साउथहैमटन, हैम्पशायर में हुआ था और उन्होंने विशेष निजी स्कूल विनचेस्टर कॉलेज में अध्ययन किया था। इसके बाद वे ऑक्सफोर्ड चले गए, जहां उन्होंने दर्शनशास्त्र, राजनीति और अर्थशास्त्र का अध्ययन किया। महत्वाकांक्षी ब्रिटिश राजनेताओं के लिए यह सबसे आजमाया हुआ और विश्वसनीय मार्ग है।

उन्होंने स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी से एमबीए की पढ़ाई भी की। राजनीति में प्रवेश करने से पहले, उन्होंने निवेश बैंक गोल्डमैन सैक्स में काम किया और एक निवेश फर्म की स्थापना भी की। ऋषि और अक्षता की दो बेटियां हैं।

सनक ने जनमत संग्रह में यूरोपीय संघ छोड़ने के पक्ष में प्रचार किया और 55 प्रतिशत लोगों ने उनके संसदीय क्षेत्र में यूरोपीय संघ छोड़ने के पक्ष में मतदान किया।

ऋषि सुनक
इमेज स्रोत,REUTERS

जुलाई 2019 में सनक ने जॉनसन को वित्त मंत्रालय सौंप दिया। इससे पहले वे जनवरी 2018 से जुलाई 2019 तक आवास, समुदाय और स्थानीय सरकार मंत्रालय में संसदीय अवर सचिव थे।

ऋषि सनक ने कहा है कि उनकी एशियाई पहचान उनके लिए मायने रखती है। उन्होंने कहा, “मैं पहली पीढ़ी का अप्रवासी हूं। मेरे परिजन यहां आए हैं, इसलिए आपको उस पीढ़ी के लोग मिले हैं जो यहां पैदा हुए थे, उनके परिजन यहां पैदा नहीं हुए थे और वे इस देश में अपना जीवन यापन करने आए थे।”

पत्नी के टैक्स मामलों को लेकर विवाद और लॉकडाउन के नियमों का उल्लंघन करने पर जुर्माने से उनकी प्रतिष्ठा को ठेस पहुंची है. ऋषि सनक बोरिस जॉनसन कैबिनेट छोड़ने वाले पहले कैबिनेट मंत्रियों में से एक थे।

ऋषि सुनक
इमेज स्रोत,GETTY IMAGES

पहले भी दौड़ में थे सुनक

छह हफ्ते पहले भी ऋषि सनक नेतृत्व की दौड़ में थे। फिर ब्रिटिश प्रधान मंत्री लिज़ ट्रस के इस्तीफे के बाद, सनक फिर से ब्रिटेन के प्रधान मंत्री पद की दौड़ में आ गए।

इस बीच सियासी गलियारों में इस बात की काफी चर्चा है कि पूर्व प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन भी इस पद पर लौट सकते हैं।

हालांकि जेरेमी हंट का नाम भी सामने आया, लेकिन उन्होंने नेतृत्व की दौड़ में शामिल होने से इनकार कर दिया।

इस बीच, पेनी मॉर्डॉन्ट ने ब्रिटेन के प्रधान मंत्री पद की दौड़ के लिए आधिकारिक तौर पर अपनी उम्मीदवारी पेश की है। उसने पिछली दौड़ में भी भाग लिया था, लेकिन असफल रही।

कब-कब क्या-क्या हुआ?

  • 05 सितंबर 2022: ऋषि सुनक को हराकर लिज़ ट्रस कंज़र्वेटिव पार्टी की नेता बनीं. ट्रस को 81,326 वोट मिले जबकि सुनक को 60,399 वोट मिले.
  • 06 सितंबर 2022: लिज़ ट्रस ने प्रधानमंत्री पद की शपथ ली. दो दिन बाद ब्रिटेन की महारानी क्वीन एलिज़ाबेथ द्वितीय का 96 साल की उम्र में निधन हो गया.
  • 23 सितंबर 2022: चांसलर क्वाज़ी क्वार्टेंग ने ‘मिनी बजट’ की घोषणा की जिसमें 45 अरब की टैक्स कटौती के बारे में कहा गया था. इससे बाज़ार में अस्थिरता फैलने लगी.
  • 26 सितंबर 2022: ‘मिनी बजट’ पेश होने के बाद यूके के बाज़ार पर भरोसा कम होने का नतीजा ये हुआ कि डॉलर के मुक़ाबले पाउंड अपने न्यूनतम स्तर तक पहुंच गया.
  • 03 अक्तूबर 2022: ट्रस और क्वार्टेग ने यू-टर्न लेते हुए इनकम टैक्स की ऊंची दर का फ़ैसला पलटा.
  • 14 अक्तूबर 2022: ट्रस ने क्वार्टेग को बर्खास्त कर टैक्स में कटौती का समर्थन करने वाले जेरेमी हंट को देश का वित्त मंत्री बनाया.
  • 19 अक्टूबर2022:ब्रिटेन की गृह मंत्री सुएला ब्रेवरमैन ने इस्तीफ़ा दिया. उन्होंने अपने इस्तीफ़े का कारण नई सरकार के कामकाज़ के तरीक़ों को बताया और कहा कि ये सरकार जिस दिशा में जा रही है उसे लेकर वो चिंतित हैं.
  • 20 अक्तूबर 2022: ट्रस ने पार्टी प्रमुख के पद से इस्तीफ़ा दे दिया.
  • 24 अक्तूबर 2022चार साल में चौथी बार चुना गया कंज़र्वेटिव पार्टी का नेता, ऋषि सुनक के पीएम बनने का रास्ता साफ़

गुरुवार को लिज़ ट्रस ने इस्तीफ़ा दिया था

ब्रिटेन की प्रधानमंत्री लिज़ ट्रस ने गुरुवार को अपने पद से इस्तीफ़ा दे दिया था.

उन्होंने प्रधानमंत्री कार्यालय 10 डाउनिंग स्ट्रीट के सामने संवाददाताओं से बात करते हुए कहा कि जिस मैन्डेट के तहत उनका चुनाव हुआ था उसे वो पूरा नहीं कर सकेंगी.

उन्होंने कहा कि जिस दौर में उनका चुनाव प्रधानमंत्री के पद पर हुआ वो “आर्थिक और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अस्थिरता का दौर” था.

उन्होंने कहा, “मैं मानती हूं कि जिस तरह की स्थिति है उसमें कंज़र्वेटिव पार्टी ने जिस मैन्डेट के तहत मेरा चुनाव किया था, उसे मैं पूरा नहीं कर सकूंगी.”

लिज़ ट्रस का इस्तीफ़ा गृह मंत्री सुएला ब्रेवरमैन के पद छोड़ने और कंज़र्वेटिव पार्टी के सांसदों के बग़ावत के बाद हुआ था.

News Source: BBC NEWS

आपके लिए | 4 Celebrities Who Aren’t Age As You Think

Talkaaj

Posted by Talkaaj.com

🔥🔥 Join Our Group For All Information And Update, Also Follow me For Latest Information🔥🔥

🔥 WhatsApp                      Click Here
🔥 Facebook Page                 Click Here
🔥 Instagram                 Click Here
🔥 Telegram                 Click Here
🔥 Koo                 Click Here
🔥 Twitter                 Click Here
🔥 YouTube                 Click Here
🔥 ShareChat                 Click Here
🔥 Daily Hunt                  Click Here
🔥 Google News                 Click Here
Facebook
Twitter
Telegram
WhatsApp
Print
TalkAaj

TalkAaj

Leave a Comment

Top Stories

Maruti Celerio CNG Details In Hindi 

Maruti Celerio CNG Details In Hindi : 36KM का माइलेज चाहिए तो ही खरीदें ये सस्ती कार, मिलते है शानदार फीचर्स 

Maruti Celerio CNG Details In Hindi : 36KM का माइलेज चाहिए तो ही खरीदें ये सस्ती कार, मिलते है शानदार फीचर्स  Best Mileage Car: कार निर्माता

PAN Card

PAN Card है तो पढ़ लीजिए ये खबर, नहीं तो देना होगा 10,000 रुपये का जुर्माना या हो सकती है जेल

PAN Card है तो पढ़ लीजिए ये खबर, नहीं तो देना होगा 10,000 रुपये का जुर्माना या हो सकती है जेल PAN Card आवश्यक दस्तावेजों

Helmet Challan

Helmet पहनने को लेकर नियम बदले, इसका नहीं रखा ध्यान तो कटेगा भारी Challan! जानिए नियम 

Helmet पहनने को लेकर नियम बदले, इसका नहीं रखा ध्यान तो कटेगा भारी Challan! जानिए नियम  Helmet Challan: अगर किसी ने हेलमेट पहना हुआ है