Homeटेक ज्ञानSBI अलर्ट! कभी भी इंटरनेट पर ये नंबर सर्च न करें, अकाउंट...

SBI अलर्ट! कभी भी इंटरनेट पर ये नंबर सर्च न करें, अकाउंट खाली हो सकता है

SBI अलर्ट! कभी भी इंटरनेट पर ये नंबर सर्च न करें, अकाउंट खाली हो सकता है

SBI कार्ड ने इस अलर्ट के माध्यम से उपयोगकर्ताओं को चेतावनी दी है कि कैसे जल्द ही आपके लिए इंटरनेट पर टोल फ्री नंबर की जांच करना एक कठिन निर्णय हो सकता है।

SBI कार्ड ने ग्राहकों के लिए अलर्ट जारी किया है। एसबीआई कार्ड ने इस अलर्ट के माध्यम से उपयोगकर्ताओं को चेतावनी दी है कि कैसे जल्द ही आपके लिए इंटरनेट पर टोल फ्री नंबर की जांच करना एक कठिन निर्णय हो सकता है। अलर्ट में कहा गया है कि इंटरनेट पर टोल फ्री नंबर या उपभोक्ता देखभाल नंबर न खोजें। साथ ही, SBI कार्ड ने उपयोगकर्ताओं को अधिक जानकारी दी है, जिसके अनुसार उपयोगकर्ताओं को इंटरनेट का उपयोग करना चाहिए।

SBI ने ग्राहकों को जारी एक समाचार पत्र में बताया है कि टोल फ्री नंबरों की खोज करना भारी पड़ सकता है। दरअसल, जब भी आपको बैंक या किसी काम के लिए कंज्यूमर केयर की जरूरत होती है, तो आप इंटरनेट पर सीधे टोल फ्री या कंज्यूमर केयर नंबर सर्च करने लगते हैं। इंटरनेट पर पाए गए नंबर पर कॉल करके वे अपनी समस्याएं बताते हैं, जिसकी वजह से आपकी समस्या और भी बढ़ सकती है। जानिए इस बारे में बैंक का क्या कहना है …

ये भी पढ़े:- Aadhaar से जुड़ी हर समस्या सिर्फ एक कॉल में होगी सही, इस नंबर पर करें कॉल

क्या है एसबीआई का अलर्ट

SBI द्वारा जारी सूचना के अनुसार, ‘ग्राहक सहायता नंबर खोजने के लिए कभी भी सर्च इंजन का उपयोग न करें। इसके लिए हमेशा क्रेडिट कार्ड प्रदाता की आधिकारिक वेबसाइट या आधिकारिक आवेदन पर जाएं और वहां से एक नंबर प्राप्त करें। वेबसाइट पर दी गई जानकारी के अनुसार, आपको समर्थन में कॉल करना चाहिए या केवल आपके क्रेडिट कार्ड पर लिखे नंबर पर कॉल करना चाहिए। ‘

साथ ही, SBI कार्ड कहता है, ‘OTP, CVV, PIN जैसी व्यक्तिगत जानकारी कभी किसी को न दें। इसके अलावा, एसबीआई कार्ड के प्रतिनिधि कभी भी इस तरह की जानकारी नहीं मांगते हैं। याद रखें, कोई टोल-फ्री नंबर या ग्राहक सहायता नंबर फ़ोन नंबर की तरह नहीं दिखता है। यह हमेशा 1800-, 1888-, 1844- आदि से शुरू होता है। इस मामले में, आपको इंटरनेट पर टोल फ्री खोजने की कोशिश करनी चाहिए और टोल फ्री नंबर न जानने के मामले में, आधिकारिक वेबसाइट की मदद लें।

ये भी पढ़े:-

धोखाधड़ी कैसे होती है?

दरअसल, आजकल कुछ हैकर्स सबसे ज्यादा सर्च किए जाने वाले कीवर्ड्स पर गलत टोल फ्री नंबर रैंक करते हैं। ऐसी स्थिति में, मान लीजिए कि आपके पास SBI की ग्राहक देखभाल के साथ कुछ काम है और इसे इंटरनेट पर खोजते हैं, तो आपको परिणाम में एक टोल फ्री नंबर दिखाई देता है, जो गलत हो सकता है। जब आप इस नंबर पर कॉल करते हैं, तो आपको आपसे कई निजी जानकारी मिलती हैं और उसके बाद आप अपने खाते में सेंध लगा सकते हैं।

ये भी पढ़े:-

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें और  टेलीग्राम पर ज्वाइन करे और  ट्विटर पर फॉलो करें .Talkaaj.com पर विस्तार से पढ़ें व्यापार की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments