Home कारोबार Subsidy on Agricultural Machines: इन फसल कटाई के कृषि मशीनों पर 50 प्रतिशत तक सब्सिडी

Subsidy on Agricultural Machines: इन फसल कटाई के कृषि मशीनों पर 50 प्रतिशत तक सब्सिडी

by TalkAaj
A+A-
Reset
Agricultural Machines
Rate this post

: इन फसल कटाई के कृषि मशीनों पर 50 प्रतिशत तक सब्सिडी

Subsidy on Agricultural Machines: स्वचालित रीपर, मल्टीक्रॉप थ्रेशर, पावर स्प्रेयर के लिए आवेदन करें
भारत एक कृषि प्रधान देश है। यहां की 70 प्रतिशत आबादी कृषि क्षेत्र से जुड़ी है। भारत के कुल क्षेत्रफल के लगभग 51 प्रतिशत भाग पर खेती की जाती है। यानी देश की आधी जमीन पर खेती होती है. देश के ग्रामीण क्षेत्रों में अधिकांश लोग कृषि गतिविधियों में शामिल हैं।

किसानों के लिए खेती के काम को कैसे आसान बनाया जाए। इसके लिए सरकार की ओर से लगातार प्रयास किए जा रहे हैं। उत्पादन बढ़ाने और लागत कम करने के लिए कृषि और बागवानी में कृषि मशीनें महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं। इसे देखते हुए केंद्र और राज्य सरकार की ओर से किसानों के लिए कई योजनाएं चलाई जा रही हैं.

यह भी पढ़िए | फसल सुरक्षा : खेत की तार फेंसिंग पर 50 से 70 प्रतिशत सब्सिडी मिलेगी

इसके तहत किसानों को सब्सिडी (अनुदान) पर कृषि मशीनरी (Agricultural Machines) प्रदान की जाती है। Subsidy पर कृषि मशीनरी उपलब्ध कराने के पीछे सरकार का उद्देश्य है कि इसका लाभ छोटे किसानों तक पहुंचे और फसल उत्पादन में वृद्धि के साथ-साथ उनकी आय भी बढ़े। जानकारी के लिए बता दें की खरीफ फसलों की कटाई 15 सितंबर से शुरू होने जा रही है. ऐसे में किसानों को फसल की कटाई के लिए कृषि मशीनरी की जरूरत पड़ेगी.

इसे देखते हुए मध्य प्रदेश और राजस्थान के कृषि विभाग की ओर से राज्य के किसानों को फसल कटाई, थ्रेसिंग और फसल अवशेष प्रबंधन के लिए कई प्रकार की कृषि मशीनें सब्सिडी पर उपलब्ध कराई जा रही हैं. इच्छुक किसान इन कृषि यंत्रों से अपनी आवश्यकता के अनुसार कृषि मशीनरी सब्सिडी प्राप्त करने के लिए आवेदन कर सकते हैं।

यह भी पढ़िए | Subsidy On Solar Panels: 40 प्रतिशत Subsidy पर घर की छत पर Solar Panels लगवाएं

इन कृषि मशीनों पर किसानों को मिलेगी सब्सिडी

मध्य प्रदेश सरकार राजस्थान सरकार खरीफ फसल की कटाई को ध्यान में रखते हुए राज्य के किसानों के लिए सब्सिडी पर कटाई संबंधी कृषि मशीनरी उपलब्ध करा रही है. किसान इन कृषि मशीनों के लिए आवेदन कर सकते हैं ये हैं स्वचालित रीपर / रीपर मल्टीक्रॉप थ्रेशर / अक्षीय प्रवाह धान थ्रेशर पावर स्प्रेयर / बूम स्प्रेयर (ट्रैक्टर चालित) विनोइंग फैन (ट्रैक्टर / मोटर संचालित)।

इन कृषि मशीनों पर कितनी मिलेगी सब्सिडी ( Subsidy on Agricultural Machinery )

मध्य प्रदेश और राजस्मेंथान में विभिन्न योजनाओं के तहत किसानों की श्रेणी और श्रेणी के अनुसार कृषि मशीनों पर अलग-अलग सब्सिडी देने का प्रावधान है, जो कि 50 प्रतिशत तक है. जो किसान कृषि मशीनरी लेना चाहते हैं, वे किसान पोर्टल पर उपलब्ध सब्सिडी कैलकुलेटर पर कृषि मशीनरी की लागत के अनुसार मिलने वाली सब्सिडी की जानकारी देख सकते हैं।

कृषि मशीनरी पर सब्सिडी के लिए आवेदन करने के लिए आवश्यक दस्तावेज

उपरोक्त कृषि मशीनों पर सब्सिडी के लिए किसानों को ऑनलाइन आवेदन करना होगा। आवेदन के लिए किसानों के पास कुछ जरूरी दस्तावेज होने चाहिए। वे इस तरह हैं

  • आवेदक किसान की आधार कार्ड कॉपी
  • आवेदक की बैंक पासबुक के प्रथम पृष्ठ की प्रति
  • सक्षम प्राधिकारी द्वारा जारी जाति प्रमाण पत्र (केवल एससी और एसटी किसानों के लिए)
  • बी-1 . की कॉपी
  • किसान का पंजीकृत मोबाइल नंबर

किसान भाई ध्यान दे

  • ट्रैक्टर से चलने वाली कृषि मशीनों के लिए किसान के पास पहले से ही ट्रैक्टर होना जरूरी है। तभी इन मशीनों पर किसानों को सब्सिडी का लाभ मिलेगा।
  • इस योजना के तहत किसान द्वारा पंजीकृत मोबाइल नंबर अपने पास रखें, क्योंकि इस पंजीकृत मोबाइल नंबर पर ही आपको ओटीपी (वन टाइम पासवर्ड) मिलेगा।

यह भी पढ़िए | इस तरह बनता है E-Shram Card… यहां है स्टेप बाय स्टेप प्रक्रिया, जो कुछ ही मिनटों में काम हो जाएगा

कृषि मशीनरी पर सब्सिडी प्राप्त करने के लिए आवेदन कैसे करें

उपरोक्त कृषि यंत्रों के लिए आवेदन शुरू कर दिए गए हैं। राज्य के सभी जिलों के किसान 4 सितंबर 2021 से 13 सितंबर 2021 तक आवेदन कर सकते हैं। राज्य में किसानों को लॉटरी प्रणाली के अनुसार कृषि मशीनें दी जाती हैं। इसलिए इस दौरान कृषि मशीनों के लिए आवेदन करने वाले किसानों का चयन लॉटरी के माध्यम से किया जाएगा, जिनकी सूची 14 सितंबर 2021 को जारी की जाएगी। किसान भाई ई-कृषि यंत्र अनुदान पोर्टल- https://dbt.mpdage पर जाकर ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। और राजस्थान के किसान भाई ई-कृषि यंत्र अनुदान पोर्टल- https://agriculture.rajasthan.gov.in/ पर जाकर ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं।

आपको वेबसाइट बनवानी है या कोई हेल्प चाइए Online कमाई करने के लिए या Video Editing तो आप हमें मेल कर सकते है: [email protected] आपको जवाब 24 घंटें में हमारी तरफ से जवाब मिल जायेगा

इस आर्टिकल को शेयर करें

(देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले पढ़ें Talkaaj (बात आज की) पर , आप हमें FacebookTelegramTwitterInstagramKoo और  Youtube पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Google News Follow Me

You may also like

Leave a Comment

Hindi News:Talkaaj पर पढ़ें हिन्दी न्यूज़ देश और दुनिया से, जाने व्यापार, सरकरी योजनायें, बॉलीवुड, शिक्षा, जॉब, खेल और राजनीति के हर अपडेट. Read all Hindi … Contact us: [email protected]

Edtior's Picks

Latest Articles

All Right Reserved. Designed and Developed by Talkaaj

Talkaaj.com पर पढ़ें हिन्दी न्यूज़ देश और दुनिया से, जाने व्यापार, सरकरी योजनायें, बॉलीवुड, शिक्षा, जॉब, खेल और राजनीति के हर अपडेट. Read all Hindi