Sukhdev Singh Murder Case Update: सुखदेव गोगामेड़ी की हत्या के तार पाकिस्तान से जुड़े, NIA को क्यों सौंपी गई जांच?

Sukhdev Singh Murder Case Update-talkaaj.com
Facebook
Twitter
Telegram
WhatsApp
Rate this post

Sukhdev Singh Murder Case Update: सुखदेव गोगामेड़ी की हत्या के तार पाकिस्तान से जुड़े, NIA को क्यों सौंपी गई जांच?

श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष Sukhdev Singh Gogamedi की हत्या के बाद राजस्थान में तनाव की स्थिति है. वहीं, चुनाव नतीजों के तुरंत बाद हुई गोगामेड़ी की हत्या भी कई सवाल खड़े कर रही है. अब इस हत्याकांड में पाकिस्तानी कनेक्शन भी सामने आ रहा है. करणी सेना दावा कर रही है कि गोगामेड़ी की हत्या पाकिस्तान ने की है. ये दावा इसलिए भी किया जा रहा है क्योंकि गोगामेड़ी को पाकिस्तानी नंबरों से जान से मारने की धमकियां मिल रही थीं. उन्होंने राजस्थान पुलिस को पत्र लिखकर सुरक्षा की मांग भी की थी, लेकिन इस पर कोई ध्यान नहीं दिया गया. उधर, हत्या के बाद धरने पर बैठे परिजनों ने मांगें मानने के बाद अपना धरना खत्म कर दिया. हत्याकांड की जांच अब एनआईए को सौंप दी गई है.

सबसे पहले जानिए Sukhdev Singh Gogamedi आतंकियों के निशाने पर क्यों थे?

दरअसल, पांच साल पहले 15 अगस्त 2018 को Sukhdev Singh Gogamedi ने करणी सेना के जवानों के साथ मिलकर श्रीनगर के लाल चौक पर तिरंगा फहराया था. इसके बाद वह आतंकियों का निशाना बन गए और फिर उन्हें जान से मारने की धमकियां मिलने लगीं। करणी सेना के पदाधिकारी सुरेंद्र सिंह ने एक मीडिया संस्थान को बताया कि सुखदेव दादा को पाकिस्तान से जान से मारने की धमकी मिली है. लाल चौक पर तिरंगा फहराने के बाद से ही वह आतंकियों के निशाने पर थे। इसे लेकर करणी सेना के पदाधिकारियों ने पिछले साल प्रेस कॉन्फ्रेंस भी की थी. जिसमें गहलोत सरकार और राजस्थान पुलिस से दादा को सुरक्षा मुहैया कराने का अनुरोध किया गया.

पुराने वीडियो में परेशान नजर आ रहे थे Sukhdev Singh Gogamedi

आपको बता दें कि सुखदेव सिंह गोगामेड़ी की हत्या में पुलिस की भी बड़ी लापरवाही सामने आई है. गोमामेडी ने अपनी जान को खतरा बताते हुए कई बार पुलिस से सुरक्षा मांगी, लेकिन उन्हें सुरक्षा नहीं दी गई. खतरों और सुरक्षा की बात करते गोगामेड़ी का एक वीडियो भी सामने आया है. जिसमें वह कह रहे हैं कि उन्हें जान से मारने की धमकियां मिल रही हैं। शिकायत के तीन दिन बाद भी पुलिस-प्रशासन किसी नतीजे पर नहीं पहुंच सका है। वे इस बात की पुष्टि नहीं कर पा रहे हैं कि मुझे पाकिस्तान से धमकियां मिल रही हैं या इंटरनेट के जरिए दी जा रही हैं. वीडियो में वह सुरक्षा को लेकर चिंतित नजर आ रहे हैं. ऐसे में माना जा सकता है कि अगर पुलिस ने उसकी शिकायत को गंभीरता से लिया होता तो उसकी जान बच सकती थी.

जांच एनआईए को सौंपी जा सकती है

बीजेपी नेता राजेंद्र राठौड़ ने गृह मंत्री अमित शाह को पत्र लिखकर Sukhdev Singh Gogamedi हत्याकांड की जांच एनआईए से कराने की मांग की थी. इसके अलावा उन्होंने गोगामेड़ी की हत्या को लेकर मौजूदा राजस्थान सरकार पर भी गंभीर आरोप लगाए थे. राठौड़ ने कहा था- सामाजिक कार्यकर्ता की हत्या सरकार पर धब्बा है. मांगने के बाद भी उन्हें सुरक्षा नहीं दी गई. स्थानीय पुलिस इस मामले की जांच नहीं कर सकती. ऐसे में इसे एनआईए को सौंप दिया जाना चाहिए. गृह विभाग के प्रधान सचिव आनंद कुमार ने कहा था कि हत्याकांड की जांच एनआईए को सौंपने पर बातचीत चल रही है. देर शाम मांगों पर सहमति बनने के बाद मामले की जांच एनआईए को सौंप दी गई.

Sukhdev Singh Murder Case Update: सुखदेव गोगामेड़ी की हत्या के तार पाकिस्तान से जुड़े, NIA को क्यों सौंपी गई जांच?

[inline_related_posts title=”You Might Be Interested In” title_align=”left” style=”grid” number=”4″ align=”none” ids=”” by=”tags” orderby=”rand” order=”DESC” hide_thumb=”no” thumb_right=”no” views=”no” date=”yes” grid_columns=”2″ post_type=”” tax=””]

हत्याकांड की टाइम लाइन, पढ़ें अब तक क्या-क्या हुआ?

  • मंगलवार दोपहर को कुछ लोग श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष Sukhdev Singh Gogamedi के घर उनसे मिलने पहुंचे.
  • 10 मिनट तक बातचीत के बाद बदमाशों ने गोगामेड़ी पर हमला कर दिया.
  • हमले में गोगामेड़ी और एक हमलावर की मौत हो गई, जबकि एक सुरक्षा गार्ड घायल हो गया।
  • गोगामेड़ी की मौत के बाद मंगलवार शाम से ही राज्य में तनाव की स्थिति बनी हुई है. विरोध जयपुर से शुरू हुआ और फिर कई जिलों तक फैल गया.
  • करणी सेना और अन्य संगठनों ने किया राजस्थान बंद का ऐलान. उधर, पुलिस ने बदमाशों की तलाश के लिए जगह-जगह नाकेबंदी कर छापेमारी की। लेकिन, बदमाशों का पता नहीं चल सका।
  • राजस्थान बंद का असर बुधवार को कई जिलों में देखने को मिला. जयपुर, जोधपुर, अजमेर, उदयपुर और चूरू समेत अन्य जिलों में बाजार बंद रहे। स्कूल की छुट्टियाँ घोषित कर दी गईं.
  • पुलिस महानिदेशक उमेश मिश्र ने सुखदेव के हत्यारों पर पांच-पांच लाख रुपये का इनाम घोषित किया है. हत्याकांड की जांच के लिए एडीजी क्राइम दिनेश एमएन की निगरानी में एसआईटी का गठन किया गया था.
  • हत्या के 28 घंटे बाद पुलिस ने एफआईआर दर्ज की. छोटे ने कहा कि मांगों पर सहमति बनने के बाद वह लोगों से धरना समाप्त करने का आग्रह करेंगे.
  • मांगों पर सहमति बनने के बाद परिजनों ने धरना समाप्त कर दिया. पुलिस सुखदेव के परिवार को सुरक्षा मुहैया कराएगी. परिवार के एक सदस्य को नौकरी भी दी जायेगी. मामले की जांच एनआईए करेगी.

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले पढ़ें Talkaaj (बात आज की) पर फॉलो करें Talkaaj News को FacebookTelegramTwitterInstagramKoo.

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Google News Follow Me
Facebook
Twitter
Telegram
WhatsApp
LinkedIn
Picture of TalkAaj

TalkAaj

हैलो, मेरा नाम PPSINGH है। मैं जयपुर का रहना वाला हूं और इस News Website के माध्यम से मैं आप तक देश और दुनिया से व्यापार, सरकरी योजनायें, बॉलीवुड, शिक्षा, जॉब, खेल और राजनीति के हर अपडेट पहुंचाने की कोशिश करता हूं। आपसे विनती है कि अपना प्यार हम पर बनाएं रखें ❤️

Leave a Comment

Top Stories