Homeअन्य ख़बरेंकारोबारUPI ट्रांजेक्शन फेल, बैंक रोज देगा 100 रुपये का हर्जाना, शिकायत यहां...

UPI ट्रांजेक्शन फेल, बैंक रोज देगा 100 रुपये का हर्जाना, शिकायत यहां करें

UPI ट्रांजेक्शन फेल, बैंक रोज देगा 100 रुपये का हर्जाना, शिकायत यहां करें

अगर आपका UPI ट्रांजैक्शन फेल हो जाता है और खाते से काटा गया पैसा तय समय में वापस नहीं होता है, तो बैंक आपको रोजाना 100 रुपये का मुआवजा देगा।

देश के सभी सरकारी और निजी बैंक नए वित्तीय वर्ष के पहले दिन यानी 1 अप्रैल को बंद हो गए थे। बैंक बंद होने के कारण ऑनलाइन लेनदेन में बढ़ोतरी हुई। इस दौरान NEFT, IMPS और UPI के जरिए ग्राहकों को पैसे ट्रांसफर करने में परेशानी का सामना करना पड़ता था। कई बार ग्राहकों का UPI लेनदेन विफल हो गया। अगर आपका UPI ट्रांजैक्शन फेल हो जाता है और खाते से काटा गया पैसा तय समय में वापस नहीं होता है, तो बैंक आपको रोजाना 100 रुपये का मुआवजा देगा।

ये भी पढ़े:- बिना डेबिट कार्ड के SBI समेत इन बड़े बैंकों के एटीएम से पैसे निकाले, ये है पूरा तरीका

आपको बता दें कि सितंबर 2019 में, भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने विफल लेनदेन के बारे में एक नया परिपत्र जारी किया। इसके तहत, पैसे के ऑटो रिवर्सल के लिए समय सीमा निर्धारित की गई है। इस समय सीमा के भीतर, लेन-देन के निपटान या उलट नहीं होने पर बैंक को ग्राहकों को मुआवजा देना होगा। सर्कुलर के मुताबिक, समय सीमा खत्म होने के बाद प्रति दिन 100 रुपये की दर से मुआवजा देना होगा।

T + 1 में ऑटो-रिवर्सल

सर्कुलर के मुताबिक, अगर यूपीआई ट्रांजैक्शन फेल हो जाता है और ग्राहक के खाते से पैसा कट जाता है, लेकिन पैसा लाभार्थी के खाते में जमा नहीं होता है, तो ऑटो रिवर्सल लेनदेन को T + 1 दिन के भीतर पूरा किया जाना चाहिए।

ये भी पढ़े:- Google ने एक बड़े बदलाव की घोषणा की, आपके फोन में मौजूद ये ऐप ब्लॉक होंगे

यहां शिकायत करें

यदि आपका UPI लेनदेन पैसे वापस नहीं करता है, तो आप सर्विस प्रोवाइड से शिकायत कर सकते हैं। आपको रेज डिस्प्यूट पर जाना होगा। रेज डिस्प्यूट पर अपनी शिकायत दर्ज करें। आपकी शिकायत सही होने पर प्रदाता पैसा लौटा देगा। अगर शिकायत करने के बावजूद बैंक की ओर से कोई प्रतिक्रिया नहीं है, तो आप RBI के 2019 के डिजिटल लेनदेन की लोकपाल योजना के तहत शिकायत कर सकते हैं।

ये भी पढ़े:- सावधान! Google पर इन चीजों को खोजना भारी पड़ सकता है, जेल की हवा खानी पड़ सकती है

5 लाख करोड़ रुपये पार हो गए

यूपीआई लेनदेन में हर महीने 19 प्रतिशत की वृद्धि हुई और FY21 में 5 लाख करोड़ रुपये का लेनदेन हुआ। देश भर में QR आधारित भुगतानों में वृद्धि के कारण पिछले वर्ष में UPI की मात्रा बढ़ी है।

ये भी पढ़े:- अगर इन कामों के लिए नकद लेन-देन किया जाता है तो आपको Income Tax का नोटिस मिलेगा… सभी नियमों को जल्दी से जान लें

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें और  टेलीग्राम पर ज्वाइन करे और  ट्विटर पर फॉलो करें .Talkaaj.com पर विस्तार से पढ़ें व्यापार की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments

error: Content is protected !!
Ads Blocker Image Powered by Code Help Pro
Ads Blocker Detected!!!

We have detected that you are using extensions to block ads. Please support us by disabling these ads blocker.

Refresh
Powered By
CHP Adblock Detector Plugin | Codehelppro