क्रिप्टोकरेंसी क्या है और कैसे काम करती है – What is Cryptocurrency in Hindi

What is Cryptocurrency in Hindi
Facebook
Twitter
Telegram
WhatsApp

क्रिप्टोकरेंसी क्या है और कैसे काम करती है – What is Cryptocurrency in Hindi

तो आखिर क्रिप्टोक्यूरेंसी क्या है (What is Cryptocurrency in Hindi)? आज आप जिसे भी देख रहे हैं वो Cryptocurrencies के पीछे भाग रहा है. बहुत ही कम समय में, Cryptocurrency ने वित्तीय बाजार में अपनी शक्ति व्यक्त की है। चूंकि क्रिप्टो करेंसी ( Crypto currency ) को डिजिटल मनी ( digital money ) भी कहा जा सकता है क्योंकि यह केवल Online उपलब्ध है और हम इसे भौतिक ( physically ) रूप से नहीं कर सकते हैं।

सरकारें भारत में रुपया ( Rupees ), अमेरिका ( USA ) में डॉलर ( Dollar ), यूरोप ( Europe ) में यूरो ( Euro ) आदि अन्य मुद्राओं को पूरे देश में लागू करती हैं और उसी तरह से इन मुद्रा ( currency ) का उपयोग पूरी दुनिया में भी किया जाता है। लेकिन यहां समझने वाली बात यह है कि इन क्रिप्टोकरेंसी ( Cryptocurrencies ) पर सरकार ( Government ) का कोई हाथ नहीं है क्योंकि ये विकेंद्रीकृत मुद्रा ( Decentrallized Currency ) हैं, इसलिए इन पर किसी एजेंसी या सरकार या किसी बोर्ड का कोई अधिकार नहीं है, जिसके कारण इनके मूल्य को regulate नहीं किया गया है। जा सकते हैं

तो मैंने सोचा क्यों न आज आपको Cryptocurrency क्या है के बारे में पूरी जानकारी दी जाए. चूँकि इस विषय पर जोर-शोर से चर्चा हो रही है, तो यह आपका अधिकार हो जाता है कि आप भी इस विषय के बारे में जानें और दूसरों को शिक्षित करें। तो फिर बिना देर किए चलिए जानते हैं कि यह Cryptocurrency क्या है और कितने प्रकार की होती है.

आपके लिए | How To Become Crorepati: 10 साल में बनना चाहते हैं करोड़पति तो आज से शुरू करें ये जरुरी काम, बदल जाएगी जिंदगी

क्रिप्टोकरेंसी क्या है – Cryptocurrency in Hindi

क्रिप्टो करेंसी ( Cryptocurrency ) को डिजिटल करेंसी ( digital currency ) भी कहा जाता है। यह एक प्रकार का Digital Asset है जिसका उपयोग चीजों या सेवाओं की खरीद के लिए किया जाता है। इन मुद्राओं ( currencies ) में क्रिप्टोग्राफ़ी ( cryptography ) का उपयोग किया जाता है।

यह एक पीयर टू पीयर इलेक्ट्रॉनिक सिस्टम ( Peer to Peer Electronic System ) है, जिसका उपयोग हम नियमित मुद्राओं ( regular currencies )  के स्थान पर इंटरनेट ( Internet ) के माध्यम से सामान ( Goods ) और सेवाओं  ( Services ) को खरीदने ( purchase ) के लिए कर सकते हैं। इस सिस्टम में सरकार बिना बैंकों ( Banks ) को बताए काम कर सकती है इसलिए कुछ लोगों का मानना ​​है कि Cryptocurrency का इस्तेमाल गलत तरीके से भी किया जा सकता है.

अगर हम पहले क्रिप्टोक्यूरेंसी ( Cryptocurrency ) करते हैं, तो यह बिटकॉइन ( Bitcoin ) होगा जिसे सबसे पहले इन कार्यों के लिए दुनिया में लाया गया था। आज हम देखें तो पूरी दुनिया में 1000 से भी ज्यादा Cryptocurrency हैं, लेकिन उनमें से कुछ ही ज्यादा महत्वपूर्ण हैं जिनके बारे में हम बाद में जानेंगे.

अगर हम सभी क्रिप्टोकरेंसी की बात करें तो उनमें सबसे पहला जो प्रसिद्ध हुआ वह है बिटकॉइन। इसे पहले भी बनाया गया था और इसका सबसे ज्यादा इस्तेमाल भी किया जाता है। बिटकॉइन को लेकर काफी विवाद हुए हैं, लेकिन आज बिटकॉइन क्रिप्टोकरेंसी में सबसे ऊपर है।

यहाँ मैं आपको कुछ अन्य Cryptocurrencies के बारे में बताने जा रहा हूँ जिनके बारे में आप पहले से ही जानते होंगे.

Cryptocurrencies में invest कैसे करें?

क्रिप्टोकरेंसी ( Cryptocurrencies ) में निवेश ( invest ) करने के लिए आपको सही प्लेटफॉर्म चुनना होगा। क्योंकि अगर सही प्लेटफॉर्म का चुनाव नहीं किया गया तो आपको ट्रेडिंग करते समय अतिरिक्त शुल्क देना पड़ सकता है। इसी तरह, वर्तमान में भारत में सबसे लोकप्रिय क्रिप्टोकुरेंसी ( Cryptocurrency ) प्लेटफॉर्म “Wazirx“ है।

इसमें निवेश ( investment ) और व्यापार करना बहुत आसान है और इसके संस्थापक भी एक भारतीय हैं।

Cryptocurrencies के प्रकार

देखा जाये तो Cryptocurrencies बहुत सारे हैं लेकिन उनमें से कुछ ही ऐसे हैं जो की अच्छा perform कर रहे हैं और जिन्हें आप Bitcoin के अलावा भी इस्तमाल कर सकते हैं.

1. Bitcoin (BTC)

अगर हम Cryptocurrency की बात करें और Bitcoin की बात न करें तो यह बिल्कुल भी संभव नहीं है. क्योंकि बिटकॉइन ( Bitcoin ) दुनिया की पहली क्रिप्टोकरेंसी ( Cryptocurrency ) है। जिसे Satoshi Nakamoto ने 2009 में बनाया था।

यह एक डिजिटल मुद्रा ( digital currency ) है जिसका उपयोग केवल ऑनलाइन ( online )  सामान ( goods ) और सेवाओं ( services )  को खरीदने के लिए किया जाता है। यह एक विकेंद्रीकृत मुद्रा ( De-centrallized currency )  है जिसका अर्थ है कि इस पर सरकार ( Government )  या किसी संस्था  ( institution ) का कोई हाथ नहीं है।

अगर आज की बात करें तो इसका मूल्य बहुत बढ़ गया है, जो अब लगभग 13 लाख है, एक coin का मूल्य। इससे आप इसके वर्तमान के महत्व के बारे में पता लगा सकते हैं।

2.Ethereum (ETH)

बिटकॉइन ( Bitcoin ) की तरह, एथेरियम ( Ethereum ) भी एक ओपन-सोर्स, विकेन्द्रीकृत ब्लॉकचेन-आधारित कंप्यूटिंग प्लेटफॉर्म  ( open-source, decentralized blockchain-based computing platform ) है। इसके संस्थापक ( Founder ) का नाम विटालिक ब्यूटिरिन ( Vitalik Buterin )  है। इसके क्रिप्टोक्यूरेंसी टोकन ( Cryptocurrency token ) को ‘Ether’ भी कहा जाता है।

यह प्लेटफॉर्म ( Platform ) अपने यूजर्स को डिजिटल टोकन ( digital token ) बनाने में मदद करता है, जिसकी मदद से इसे करेंसी ( currency ) के तौर पर इस्तेमाल किया जा सकता है। हाल ही में, एक हार्ड फोर्क ( Hard Fork ) ने एथेरियम ( Ethereum ) को दो हिस्सों में विभाजित किया है, Etherem (ETH) और Etheriem Classic (ETC)। यह Bitcoin के बाद दूसरी सबसे प्रसिद्ध क्रिप्टोकरेंसी ( Cryptocurrency ) है।

3. Litecoin (LTC)

लाइटकोइन ( Litecoin ), एक विकेन्द्रीकृत पीयर-टू-पीयर क्रिप्टोकुरेंसी ( decentralized peer-to-peer cryptocurrency ), एक ओपन सोर्स सॉफ़्टवेयर ( open source software ) है जो अक्टूबर 2011 में एमआईटी/एक्स 11 लाइसेंस ( under the MIT/X11 license ) के तहत एक पूर्व Google Employee Charles Lee द्वारा जारी किया गया था।

इसके निर्माण के पीछे बिटकॉइन ( Bitcoin ) का बहुत बड़ा हाथ है और इसकी कई विशेषताएं बिटकॉइन ( features Bitcoin ) से मिलती झूलती हैं। लिटकोइन ( Litecoin ) का ब्लॉक जेनरेशन टाइम बिटकॉइन ( block generation time Bitcoin ) से 4 गुना कम है। इसलिए इसमें लेनदेन बहुत जल्दी पूरा हो जाता है। इसमें माइनिंग करने के लिए Scrypt algorithm का इस्तेमाल किया जाता है।

4. Dogecoin (Doge)

डॉग कॉइन ( Dogecoin ) के बनने की कहानी काफी दिलचस्प है। बिटकॉइन ( Bitcoin ) का मजाक उड़ाने के लिए इसकी तुलना कुत्ते से की गई, जिसने बाद में एक क्रिप्टोकरेंसी ( Cryptocurrency ) का रूप ले लिया। इसके संस्थापक का नाम बिली मार्कस  ( Billy Markus ) है। Litecoin की तरह इसमें भी Scrypt Algorithm का इस्तेमाल किया जाता है।

आज डॉग कॉइन ( Dogecoin ) का बाजार मूल्य ( Market Value ) 197 मिलियन डॉलर से अधिक है और इसे दुनिया भर के 200 से अधिक व्यापारियों में स्वीकार किया जाता है। इसमें भी Mining दूसरों के मुकाबले बहुत जल्दी होती है.

5. Tether (USDT)

Coinmarketcap.com के अनुसार, 17 जनवरी तक 78 बिलियन डॉलर के मार्केट कैप के साथ टीथर सबसे बड़ा स्थिर मुद्रा है।

यह बिटकॉइन ( Bitcoin ) की  blockchain technology का उपयोग करता है। Stablecoins अमेरिकी डॉलर और यूरो से जुड़ी अस्थिरता को कम करते हैं, और उन लोगों के लिए सबसे लोकप्रिय विकल्पों में से एक हैं जो क्रिप्टोकरेंसी में निवेश करना चाहते हैं, लेकिन अस्थिरता का सामना करने के लिए अनिच्छुक हैं।

6. Binance Coin (BNB)

यह क्रिप्टोकुरेंसी बिनेंस क्रिप्टो एक्सचेंज की मूल क्रिप्टोकुरेंसी है, जो वॉल्यूम के हिसाब से दुनिया का सबसे बड़ा एक्सचेंज है।

Binance को केवल 2017 में लॉन्च किया गया था, लेकिन इसके प्लेटफॉर्म पर ट्रेडिंग को सुविधाजनक बनाकर इसका बहुत तेजी से विस्तार किया गया। क्रिप्टो ने 2017 में अपनी कीमत से एक लंबा सफर तय किया है जो कि सिर्फ $0.10 था जो 3 जनवरी 2022 को 5200% से बढ़कर 52000% हो गया।

17 जनवरी को Coinmarketcap.com के अनुसार, Binance (BNB) लगभग 80 बिलियन डॉलर के मार्केट कैप के साथ चौथे स्थान पर है।

7. Solana (SOL)

हाल ही में, सोलाना को डाउनट्रेंड का सामना करना पड़ रहा है, लेकिन क्रिप्टो इस सूची में 2021 में अपनी बेहद सफल उपलब्धि के कारण तीसरे स्थान पर है। एसओएल ने खुद को बाजार में सबसे तेजी से बढ़ती क्रिप्टोकरेंसी में से एक साबित किया है। इसके अलावा, इसमें कोई असहमति नहीं हो सकती है कि एसओएल एथेरियम का सबसे बड़ा प्रतियोगी है। रिपोर्टों के अनुसार, 2021 में SOL टोकन में 13,662% की वृद्धि हुई।

8. Ripple (XRP)

Ripple को 2012 में जारी किया गया था और यह वितरित ओपन सोर्स प्रोटोकॉल ( distributed open source protocol ) पर आधारित है, Ripple एक real-time gross settlement system (RTGS) है जो अपनी खुद की Cryptocurrency चलाता है जिसे Ripples (XRP) के रूप में भी जाना जाता है।

यह बहुत प्रसिद्ध और प्रसिद्ध क्रिप्टोक्यूरेंसी  ( famous Cryptocurrency ) है और इसकी कुल मार्केट कैप ( overall market cap ) लगभग $ 10 बिलियन है। उनके अधिकारियों के अनुसार, रिपल उपयोगकर्ताओं ( Ripple users ) को “secure, instant and nearly free global financial transactions किसी भी size के करने के लिए प्रदान करती है और जिसमें कोई भी chargebacks नहीं होती है.

9. Polygon

इस साल की संभावनाएं काफी अच्छी मानी जा सकती हैं। और विशेषज्ञों का मानना ​​है कि इसका श्रेय एथेरियम को जाता है। क्रिप्टो ईटीएच 2.0 संस्करण में संक्रमण के लिए पूरी तरह तैयार है, जो पॉलीगॉन जैसे परत -2 समाधानों पर बहुत अधिक निर्भर करता है। यह यह भी संकेत दे सकता है कि बहुभुज के पास कीमत में वृद्धि का अनुभव करने के लिए एक बढ़त है, और यह खरीदने और रखने का एक अच्छा विकल्प है।

CryptoCurrency के फायदे के बारे में जाने

अब चलिए कुछ CryptoCurrency के फ़ायदों के बारे में जानते हैं

  • Cryptocurrency में fraud होने के chances बहुत ही कम हैं.
  • Cryptocurrency की अगर बात की जाये तो ये normal digital payment से ज्यादा secure होते हैं.
  • इसमें transaction fees भी बहुत है कम है अगर हम दुसरे payment options की बात करें तब.
  • इसमें account बहुत ही secure होते हैं क्यूंकि इसमें अलग अलग प्रकार के Cryptography Algorithm का इस्तमाल किया जाता है.

Cryptocurrency के नुकसान के बारे में जाने

अब चलिए कुछ CryptoCurrency के नुकसान के बारे में जानते हैं

  • Cryptocurrency में एक बार transaction पूर्ण हो जाने पर उसे reverse कर पाना असंभव होता है क्यूंकि इसमें वैसे कोई options ही नहीं होती है.
  • अगर आपका Wallet के ID खो जाती है तब वो हमेशा के लिए खो जाती है क्यूंकि इसे दुबारा प्राप्त करना संभव नहीं है. ऐसे में आपके जो भी पैसे आपके wallet में स्तिथ होते हैं वो सदा के लिए खो जाते हैं.

आज आपने क्या सीखा

मुझे पूर्ण आशा है की मैंने आप लोगों को क्रिप्टोकरेंसी क्या है (Cryptocurrency in Hindi) के बारे में पूरी जानकारी दी और मैं आशा करता हूँ आप लोगों को Cryptocurrency के बारे में समझ आ गया होगा.

मेरा आप सभी पाठकों से गुजारिस है की आप लोग भी इस जानकारी को अपने आस-पड़ोस, रिश्तेदारों, अपने मित्रों में Share करें, जिससे की हमारे बिच जागरूकता होगी और इससे सबको बहुत लाभ होगा. मुझे आप लोगों की सहयोग की आवश्यकता है जिससे मैं और भी नयी जानकारी आप लोगों तक पहुंचा सकूँ.

मेरा हमेशा से यही कोशिश रहा है की मैं हमेशा अपने readers या पाठकों का हर तरफ से हेल्प करूँ, यदि आप लोगों को किसी भी तरह की कोई भी doubt है तो आप मुझे बेझिजक पूछ सकते हैं. मैं जरुर उन Doubts का हल निकलने की कोशिश करूँगा.

आपको यह लेख Cryptocurrency क्या है कैसा लगा हमें comment लिखकर जरूर बताएं ताकि हमें भी आपके विचारों से कुछ सीखने और कुछ सुधारने का मोका मिले.

Talkaaj

आपके लिए | Government Schemes : पत्नी के नाम जल्दी खुलवाएं ये खास खाता, हर महीने मिलेंगे 44,793 रुपये, जानें पूरी जानकारी

आपके लिए | PM Free Silai Machine Yojana : PM की इस योजना के तहत पाएं मुफ्त सिलाई मशीन, एक रुपया भी खर्च नहीं करना पड़ेगा

आपके लिए | E-Shram Card : श्रम कार्ड धारक मजदूर को मिलेगी हर महीने 3000 की पेंशन, जानिए ई-श्रमिक कार्ड के फायदे

आपके लिए | SBI खाताधारकों के लिए खुशखबरी! मात्र 342 रुपये में पाएं 4 लाख का बंपर बेनिफिट, जानिए कैसे

आपके लिए | बेटी (Daughter) के लिए तैयार करें 50 लाख का फंड, सिर्फ 7 साल करना होगा निवेश, जानिए क्या है योजना?

अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आया है तो इसे Like और share जरूर करें ।

इस आर्टिकल को अंत तक पढ़ने के लिए धन्यवाद…

Posted by Talkaaj 

🔥🔥 Join Our Group For All Information And Update, Also Follow me For Latest Information🔥🔥

🔥 WhatsApp                       Click Here
🔥 Facebook Page                  Click Here
🔥 Instagram                  Click Here
🔥 Telegram Channel                   Click Here
🔥 Koo                  Click Here
🔥 Twitter                  Click Here
🔥 YouTube                  Click Here
🔥 ShareChat                  Click Here
🔥 Daily Hunt                   Click Here
🔥 Google News                  Click Here

Facebook
Twitter
Telegram
WhatsApp
Print

Leave a Comment

Top Stories

Portables Solar Generator in hindi

इस सस्ते Portables Solar Generator से चलेगा पंखा, कूलर, टीवी, लाइट, जमकर हो रही बिक्री मिलता है 6 से 7 घंटें का बैकअप 

इस सस्ते Portables Solar Generator से चलेगा पंखा, कूलर, टीवी, लाइट, जमकर हो रही बिक्री मिलता है 6 से 7 घंटें का बैकअप  Solar Generator:

How is satta number calculated?

How is satta number calculated?

How is satta number calculated? Have you ever wondered how the satta numbers are calculated? You might have heard of the term “Satta number” but

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker

Refresh Page