SWP क्या है | SWP देगा बिना नौकरी के सैलरी ज़िंदगी भर | SWP Vs SIP | SWP Kya Hai? Janiye Puri Details

Facebook
Twitter
Telegram
WhatsApp
Rate this post

SWP क्या है | SWP देगा बिना नौकरी के सैलरी ज़िंदगी भर | SWP Vs SIP | SWP Kya Hai? Janiye Puri Details

Systematic Withdrawal Plan: म्यूचुअल फंड आज एक लोकप्रिय निवेश विकल्प है। आप एकमुश्त और SIP के जरिए म्यूचुअल फंड (Mutual fund) में निवेश का तरीका चुन सकते हैं। सीधे इक्विटी में निवेश करने के बजाय म्यूचुअल फंड योजनाओं में निवेश करने में जोखिम शामिल है। जिस तरह आप एसआईपी के जरिए Mutual fund में नियमित निवेश कर सकते हैं, उसी तरह आपको किस्तों में पैसे निकालने का भी विकल्प मिलता है। इसे SWP यानी सिस्टमैटिक विदड्रॉल प्लान कहा जाता है. SWP के जरिए निवेशकों को Mutual fund स्कीम से एक निश्चित रकम वापस मिलती है. निवेशक खुद ही यह विकल्प चुनते हैं कि उन्हें कितना पैसा निकालना है और कितने समय में निकालना है। यह निकासी दैनिक, साप्ताहिक, मासिक, त्रैमासिक, 6 महीने या वार्षिक आधार पर की जा सकती है।

SWP Kya Hai? Janiye Puri Details

SWP का मतलब है सिस्टमैटिक विड्रॉल प्लान (Systematic Withdrawal Plan)। यह एक ऐसा तरीका है जिसमें आप म्यूचुअल फंड से एक निश्चित राशि नियमित रूप से निकाल सकते हैं। SWP के तहत, आप एक निश्चित राशि या एक निश्चित प्रतिशत निकाल सकते हैं। उदाहरण के लिए, आप हर महीने 10,000 रुपये या अपने निवेश का 5% निकाल सकते हैं।

SWP का उपयोग आमतौर पर सेवानिवृत्ति के बाद आय उत्पन्न करने के लिए किया जाता है। आप SWP का उपयोग अन्य उद्देश्यों के लिए भी कर सकते हैं, जैसे कि बच्चों की शिक्षा या घर खरीदना।

SWP के कुछ फायदे निम्नलिखित हैं:

  • यह आपको नियमित आय प्रदान करता है।
  • यह आपको अपने निवेश को धीरे-धीरे निकालने की अनुमति देता है, जिससे आपको बाजार में उतार-चढ़ाव का कम जोखिम होता है।
  • यह आपको टैक्स लाभ प्रदान कर सकता है।

SWP के कुछ नुकसान निम्नलिखित हैं:

  • यह आपको अपने निवेश को धीरे-धीरे खत्म कर सकता है।
  • यह आपको बाजार में उतार-चढ़ाव का अधिक जोखिम हो सकता है, अगर आप एक निश्चित प्रतिशत निकालते हैं।

SWP: जानें टैक्स कैलकुलेशन

वेल्थ मैनेजमेंट कंपनी फिनटू के सीईओ मनीष पी. हिंगर का कहना है कि निवेशक चाहें तो एक निश्चित रकम ही निकाल सकते हैं या फिर चाहें तो निवेश पर पूंजीगत लाभ निकाल सकते हैं। लेकिन, एसडब्ल्यूपी के जरिए निकासी पर टैक्स लगता है। उदाहरण के लिए, अगर कोई लंबे समय से निवेश कर रहा है और जब वह निकालेगा तो उसे लॉन्ग टर्म कैपिटल गेन टैक्स (LTCG) देना होगा। एसडब्ल्यूपी निवेशकों को बाजार की अस्थिरता से कुछ हद तक सुरक्षा प्रदान करता है।

SIP vs PPF किसमें मिलेगा ज्यादा रिटर्न, जानें पूरी जानकारी? इसमें रिटर्न मिलेगा डबल!

SWP: रिटायरमेंट के बाद की इनकम का अच्‍छा तरीका

मनीष हिंगर कहते हैं, ऊंचे बाजार में मुनाफावसूली करने के लिए SWP एक अच्छी रणनीति है। लाभ तब तक लाभ नहीं है जब तक इसे समझा न जाए। छोटे-मोटे मुनाफे से कभी खुश नहीं होना चाहिए। नियमित अंतराल पर मुनाफा बुक किया जाना चाहिए। हिंगर कहते हैं

SWP को सेवानिवृत्ति के बाद की आय के लिए एक बेहतर उपकरण के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है। इसे ऐसे समझें. जब आपको रिटायरमेंट के समय एकमुश्त फंड मिलता है, तो इसे अपनी जोखिम क्षमता के अनुसार बैलेंस्ड, डेट या इक्विटी फंड में निवेश करें। इसके बाद हर महीने निश्चित आय के लिए SWP विकल्प चुनें. इक्विटी के लिए प्रति वर्ष 7-8 प्रतिशत की SWP एक आदर्श निकासी राशि है।

SWP: कब चुने यह ऑप्‍शन

मनीष हिंगर का कहना है कि आम तौर पर यह रिटायर लोगों के लिए बेहतर है, जिन्हें एक निश्चित आय की जरूरत होती है. इसलिए, एकमुश्त या तदर्थ निकासी के बजाय SWP के माध्यम से म्यूचुअल फंड योजनाओं से निकासी करना बेहतर तरीका है। आप अपने फंड हाउस से हर महीने म्यूचुअल फंड से निकासी के लिए कह सकते हैं और वह राशि आपके बैंक खाते में जमा कर दी जाएगी। न सिर्फ रिटायरमेंट के लिए बल्कि नियमित अंतराल पर बच्चों की पढ़ाई के खर्चों को पूरा करने के लिए भी कोई इस विकल्प को चुन सकता है।

Dropshipping क्या है? ड्रॉपशिपिंग से 2 लाख महीना कमाएं, पढ़े पूरी जानकारी

SWP: रेग्‍युलर इनकम का बेहतर ऑप्‍शन

बीपीएन फिनकैप के डायरेक्‍टर एके निगम का कहना है कि नियमित आय का विकल्प तलाश रहे लोगों के लिए यह एक अच्छा विकल्प है। इसमें पूरा नियंत्रण निवेशक के हाथ में होता है. SWP रेगुलर विद्ड्रॉल है। इसके जरिए यूनिट्स को स्कीम से भुनाया जाता है. वहीं अगर तय समय के बाद सरप्लस पैसा हो तो मिल जाता है. जहां तक टैक्स की बात है तो इस पर इक्विटी और डेट फंड की तरह ही टैक्स लगेगा। जहां होल्डिंग की अवधि 12 महीने से अधिक नहीं है, निवेशकों को अल्पकालिक पूंजीगत लाभ कर का भुगतान करना होगा। अगर आप किसी स्कीम में निवेश कर रहे हैं तो उसमें SWP विकल्प को एक्टिवेट कर सकते हैं.

SIP : जानिए कैसे आप हर महीने 5000 रुपए निवेश करने से बन सकते है करोड़पति 

SWP क्या है | SWP देगा बिना नौकरी के सैलरी ज़िंदगी भर | SWP Vs SIP | SWP Kya Hai? Janiye Puri Details

NO: 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट Talkaaj.com (बात आज की)

(देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले पढ़ें Talkaaj (बात आज की) पर , आप हमें FacebookTwitterInstagramKoo और  Youtube पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Google News Follow Me
Facebook
Twitter
Telegram
WhatsApp
LinkedIn
Picture of TalkAaj

TalkAaj

हैलो, मेरा नाम PPSINGH है। मैं जयपुर का रहना वाला हूं और इस News Website के माध्यम से मैं आप तक देश और दुनिया से व्यापार, सरकरी योजनायें, बॉलीवुड, शिक्षा, जॉब, खेल और राजनीति के हर अपडेट पहुंचाने की कोशिश करता हूं। आपसे विनती है कि अपना प्यार हम पर बनाएं रखें ❤️

Leave a Comment

Top Stories