Home देश Bharat Bandh (भारत बंद) किसान आंदोलन को कौन सी पार्टियों का समर्थन...

Bharat Bandh (भारत बंद) किसान आंदोलन को कौन सी पार्टियों का समर्थन हैं, जानिए किस राज्य में क्या होगा?

Bharat Bandh (भारत बंद) किसान आंदोलन को कौन सी पार्टियों का समर्थन हैं, जानिए किस राज्य में क्या होगा?

Talkaaj Desk:- आज मोदी सरकार द्वारा किसानों के हित के लिए किए जा रहे कृषि बिल के खिलाफ लाखों किसान सड़कों पर उतरेंगे। कई किसान संगठनों और राजनीतिक दलों ने आज भारत बंद बुलाया है।

देश के कई राजनीतिक दल और किसान संगठन केंद्र सरकार द्वारा लाए गए तीन कृषि बिलों का विरोध कर रहे हैं। इन बिलों का विरोध लंबे समय से हो रहा है और आज दर्जनों संगठनों ने भारत बंद का आह्वान किया है। ऐसे में दिल्ली, पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश समेत कई राज्यों में किसान सड़क पर उतरेंगे और बिल को वापस लेने की मांग करेंगे। कांग्रेस सहित कई राजनीतिक दलों ने भी किसानों द्वारा बुलाए गए भारत बंद का समर्थन किया है।

किसानों के भारत बंद को किसका समर्थन?

भारत बंद के तहत 25 सितंबर को कृषि बिल के विरोध में कई संगठनों द्वारा बंद का आह्वान किया गया था। लेकिन इसका नेतृत्व अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति, अखिल भारतीय किसान महासंघ और भारतीय किसान यूनियन कर रहा है। कांग्रेस, समाजवादी पार्टी, बहुजन समाज पार्टी, लेफ्ट, टीएमसी, डीएमके, टीआरएस सहित कुल 18 राजनीतिक दलों ने इस बंद के समर्थन में आवाज उठाई है।

ये भी पढ़े :- Big News : कृषि बिल के खिलाफ आज ‘भारत बंद’, पूरे देश में किसान सड़कों पर उतरेंगे

इनके अलावा, सीटू, एआईटीयूसी, हिंद मजदूर सभा सहित कुल दस केंद्रीय ट्रेड यूनियनों ने भी बंद को अपना समर्थन दिया है।

Bharat Bandh
फाइल फोटो पीटीआई किसान आन्दोलन

भारत बंद में क्या होगा?

रेल स्टॉप और रास्ता रोको अभियान अभी भी कई स्थानों पर किसानों द्वारा चलाया जा रहा है, जो भारत बंद के दौरान व्यापक पैमाने पर हो सकता है। ऐसी स्थिति में, उनका प्रभाव विशेष रूप से उत्तर भारत और उन राज्यों में देखा जाएगा जहाँ किसानों की उपस्थिति अधिक है।

आज क्या होगा?

  • समाजवादी पार्टी जिला और राज्य स्तर पर ज्ञापन सौंपेगी।
  • तेजस्वी यादव बिहार में किसानों के साथ करेंगे मार्च
  • भाजपा द्वारा एक जन जागरूकता अभियान चलाया जाएगा, जो 15 दिनों तक चलेगा।

किस राज्य में क्या होगा?

ये भी पढ़े :- School : बच्चों को स्कूल भेजने से पहले ये 5 बातें जरूर बताएं, ये सावधानियां काम आएंगी

पंजाब और हरियाणा

इन दोनों राज्यों में इस बिल का व्यापक विरोध किया जा रहा है। यहां के किसानों पर कई बार लाठीचार्ज भी किया गया है। यहां किसानों द्वारा रेल रोको अभियान चलाया जाएगा। पंजाब के सीएम अमरिंदर सिंह ने प्रदर्शनकारियों से कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करने की अपील की है। साथ ही आज धारा 144 के उल्लंघन के लिए कोई प्राथमिकी दर्ज नहीं की जाएगी।

दिल्ली और एनसीआर

आम आदमी पार्टी और कांग्रेस ने किसानों के बंद का समर्थन किया है। किसानों को दिल्ली-एनसीआर सीमा को बंद करने की चेतावनी दी गई है।

उत्तर प्रदेश

यहां भारतीय किसान यूनियन ने गांव, कस्बे और जिला स्तर पर हाईवे जाम करने की बात कही है। BKU को कई स्थानीय व्यापारी निकायों और किसानों का समर्थन प्राप्त है।

ये भी पढ़े :-केंद्र सरकार ने दी चेतावनी, इस ऐप से रहें दूर, जानें पूरा मामला

पश्चिम बंगाल

वाम दल से जुड़ी अखिल भारतीय किसान सभा ने यहां बंद का आह्वान किया है, इस दौरान सड़कों पर जाम लगाया जाएगा। उनके अलावा, कई छोटे किसान संगठन, मंडी संगठन ने बंद का समर्थन किया है।

महाराष्ट्र

अखिल भारतीय किसान सभा महाराष्ट्र के सबसे बड़े किसान समूहों में से एक है। इस संगठन में तीन लाख से अधिक किसान हैं, जिन्होंने राज्य के 21 जिलों में व्यापक प्रदर्शन की बात कही है।

ये भी पढ़े :-

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments