Search
Close this search box.

दुनिया की सबसे लंबी सड़क सुरंग बनकर तैयार, PM Modi सितंबर में करेंगे उद्घाटन, देखें फोटो

PM Modi
Facebook
Twitter
Telegram
WhatsApp
Reddit
LinkedIn
Threads
Tumblr
Rate this post

दुनिया की सबसे लंबी सड़क सुरंग बनकर तैयार, PM Modi सितंबर में करेंगे उद्घाटन, देखें फोटो

न्यूज़ डेस्क :- देश में 10 हजार फीट पर स्थित दुनिया की सबसे लंबी सड़क सुरंग पूरी हो गई है। इसे बनाने में दस साल लगे। लेकिन अब लद्दाख इस साल के माध्यम से पूरी तरह से जुड़ जाएगा। साथ ही, इसकी वजह से मनाली और लेह के बीच की दूरी लगभग 46 किलोमीटर कम हो गई है। इसका नाम अटल रोहतांग टनल है। इसका नाम पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी के नाम पर रखा गया है।

10,171 फीट की ऊंचाई पर बनी इस अटल रोहतांग सुरंग(Atal Rohtang Tunnel) को रोहतांग दर्रे से जोड़कर बनाया गया है। यह दुनिया की सबसे लंबी और सबसे लंबी सड़क सुरंग है। यह लगभग 8.8 किमी लंबा है। यह भी 10 मीटर चौड़ा है। अब मनाली से लेह की दूरी 46 किलोमीटर कम हो गई है। अब आप इस दूरी को सिर्फ 10 मिनट में पूरा कर सकते हैं।

ये भी पढ़िये :- Big News Ayodhya को पर्यटन स्थल बनाने की तैयारी में, Modi सरकार एक लाख करोड़ रुपये खर्च करेगी

टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के मुताबिक, नली-लेह सड़क पर चार और सुरंगें प्रस्तावित हैं, फिलहाल यह सुरंग पूरी हो चुकी है। माना जा रहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सितंबर के अंत में इसका उद्घाटन करेंगे। यह सुरंग न केवल मनाली को लेह से जोड़ेगी, बल्कि हिमाचल प्रदेश के लाहौल-स्पीति में यातायात को आसान बनाएगी। यह लाहुल-स्पीति जिले को कुल्लू जिले के मनाली से भी जोड़ेगा।

इसके बनने से लद्दाख में तैनात भारतीय सैनिकों को सबसे ज्यादा फायदा होगा। इस वजह से, हथियार और रसद सर्दियों में भी आसानी से आपूर्ति की जाएगी। अब न केवल जोजिला दर्रा बल्कि यह मार्ग भी सैनिकों को सामान की आपूर्ति कर सकेगा।

ये भी पढ़िये :- Best Deal- Hyundai ने दिखाई ऑल-न्यू Kona और Kona N Line इलेक्ट्रिक SUV की झलक, जानिए क्या है खास

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Google News Follow Me

इस सुरंग के भीतर कोई भी वाहन अधिकतम 80 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से दौड़ सकेगा। इसे 28 जून 2010 को शुरू किया गया था। इसे बॉर्डर रोड ऑर्गनाइजेशन (BRO) द्वारा बनाया गया है। यह सुरंग एक घोड़े की नाल के आकार में बनी है।

बीआरओ के इंजीनियरों और कर्मचारियों को इसे बनाने में काफी प्रयास करना पड़ा। क्योंकि सर्दियों में यहां काम करना बहुत मुश्किल हुआ करता था। यहां का तापमान माइनस 30 डिग्री तक चला जाता था। इस सुरंग के निर्माण के दौरान 8 लाख घन मीटर पत्थर और मिट्टी निकाली गई थी। गर्मियों में, यहाँ प्रति दिन पाँच मीटर खुदाई की जाती थी। लेकिन सर्दियों में इसे घटाकर आधा मीटर कर दिया गया।

ये भी पढ़िये :-Big News-Neelkanth Bhanu दुनिया का सबसे तेज मानव कैलकुलेटर, मानसिक गणना विश्व चैम्पियनशिप में भारत का पहला स्वर्ण जीता

इस सुरंग को इस तरह से बनाया गया है कि 3000 कारों या 1500 ट्रकों को एक साथ इसमें उतारा जा सकता है। इस पर करीब 4 हजार करोड़ रुपए का खर्च आया है। सुरंग के अंदर अत्याधुनिक ऑस्ट्रेलियाई टनलिंग विधियों का उपयोग किया गया है। वेंटिलेशन सिस्टम भी ऑस्ट्रेलियाई तकनीक पर आधारित है।

डीआरडीओ ने इस सुरंग को डिजाइन करने में भी मदद की है ताकि बर्फ और हिमस्खलन का असर उस पर न पड़े। यहां किसी भी मौसम में यातायात बाधित नहीं होना चाहिए। इस सुरंग के अंदर एक निश्चित दूरी पर सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएंगे जो गति और दुर्घटनाओं को नियंत्रित करने में मदद करेंगे। सुरंग के अंदर हर 200 मीटर पर एक फायर हाइड्रेंट की व्यवस्था की गई है। ताकि आग लगने की स्थिति में नियंत्रण पाया जा सके।

ये भी पढ़िये :-PM Modi ने मोढ़ेरा के सूर्य मंदिर का एक वीडियो साझा किया, कहा- बारिश में मनोरम दृश्य

पंजाब यूनिवर्सिटी और टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ फंडामेंटल रिसर्च ने भी सरकार से इस सुरंग में वैज्ञानिक प्रयोग करने के लिए न्यूट्रिनो डिटेक्टर लगाने की अनुमति मांगी है। अब इस सुरंग के जरिए पहाड़ों पर लगने वाले जाम से बचा जा सकेगा। इस सुरंग से मनाली से लेह जाने में काफी समय की बचत होगी।

ये भी पढ़िये –

 

Facebook
Twitter
Telegram
WhatsApp
LinkedIn
Reddit
Picture of TalkAaj

TalkAaj

Hello, My Name is PPSINGH. I am a Resident of Jaipur and Through This News Website I try to Provide you every Update of Business News, government schemes News, Bollywood News, Education News, jobs News, sports News and Politics News from the Country and the World. You are requested to keep your love on us ❤️

Leave a Comment

Top Stories