Home अन्य ख़बरें कारोबार किसानों के लिए बड़ी खबर! केंद्र ने रबी फसलों के लिए नए...

किसानों के लिए बड़ी खबर! केंद्र ने रबी फसलों के लिए नए MSP की घोषणा की, जानिए कितना पैसा बढ़ा

किसानों के लिए बड़ी खबर! केंद्र ने रबी फसलों के लिए नए MSP की घोषणा की, जानिए कितना पैसा बढ़ा

केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर (Narendra Singh Tomar) ने लोकसभा को बताया कि कैबिनेट की बैठक में आर्थिक मामलों की समिति (CCEA) ने रबी फसलों (Rabi Crop) का न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) बढ़ाने को मंजूरी दे दी है। इसके तहत गेहूं, सरसों, जौ समेत कई फसलों का एमएसपी बढ़ाया गया है।

कृषि लागत व मूल्य आयोग (Commission for Agricultural Costs and Prices) की सिफारिशों के बाद, केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार (Modi Government) ने रबी फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) को बढ़ाने का फैसला किया है। बता दें कि आज सुबह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने साफ कर दिया कि एमएसपी की व्यवस्था पहले की तरह बरकरार रहेगी।

ये भी पढ़े :-PM Modi (पीएम मोदी) ने 50 करोड़ मेहनतकश मजदूरों को तोहफा दिया, बदल जाएगी किस्‍मत

नए कानून के साथ, किसानों को अपनी उपज को बाजार के बाहर और कहीं भी बेचने की आजादी मिलेगी। 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने के लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए, केंद्र ने कृषि उत्पादों की बिक्री के लिए राज्यों के कृषि उत्पादन विपणन समिति (APMC) अधिनियम के तहत संचालित मंडियों के अलावा वैकल्पिक चैनल प्रदान करने के लिए एक नया कानून बनाया है।

गेहूं के एमएसपी में वृद्धि के कारण किसानों को 106% लाभ होगा

कृषि उत्पादों के MSP को लेकर चल रहे विवाद के बीच, आर्थिक मामलों की समिति (CCEA) ने सोमवार को मोदी कैबिनेट की एक बैठक में रबी फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य बढ़ाने को मंजूरी दे दी है। केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने लोकसभा को बताया कि रबी विपणन वर्ष 2021-22 के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य घोषित किया गया है।

ये भी पढ़े :- Congress (कांग्रेस) ने किसानों से जुड़े बिलों पर किया हमला, 24 सितंबर से देशभर में करेंगे विरोध

तोमर ने सदन को बताया कि गेहूं का एमएसपी 50 रुपये बढ़ाकर 1,975 रुपये प्रति क्विंटल कर दिया गया है। इससे गेहूं किसानों को लागत पर 106 प्रतिशत तक लाभ होगा। इस दौरान, उन्होंने यह स्पष्ट किया कि न्यूनतम समर्थन मूल्य पर सरकारी खरीद आगे भी जारी रहेगी।

 MSP
File Photo Narendra Singh Tomar

चना के एमएसपी में 225 रुपये तो जौं में 75 रुपये की बढ़ोतरी की

कृषि मंत्री ने यह घोषणा ऐसे समय में की है जब किसान पंजाब, हरियाणा और देश के कुछ स्थानों पर संसद में पारित दो कृषि संबंधी बिलों के विरोध में प्रदर्शन कर रहे हैं। तोमर ने सदन को बताया कि सीसीईए ने चने का समर्थन मूल्य 4.6 प्रतिशत, यानी 225 रुपये प्रति क्विंटल बढ़ाने का फैसला किया है।

ये भी पढ़े :- कृषि बिल के पास होने पर बोले PM Modi- किसानों की टेक्नोलॉजी तक पहुंच होगी आसान

इसके साथ ही चना का एमएसपी बढ़ाकर 5,100 रुपये प्रति क्विंटल कर दिया गया है। इससे किसानों को लागत के मुकाबले 78 प्रतिशत का लाभ होगा। वहीं, मोटे अनाजों में जौ का समर्थन मूल्य 4.9 प्रतिशत या 75 रुपये प्रति क्विंटल बढ़ाया गया है और इसके एमएसपी को बढ़ाकर 1,600 रुपये प्रति क्विंटल कर दिया गया है। इससे किसानों को लागत पर 65 प्रतिशत लाभ मिलेगा।

MSP
File Photo PTI

मसूर और सरसों के न्यूनतम समर्थन मूल्य में भी वृद्धि हुई

संसद के मानसून सत्र के दौरान, केंद्रीय मंत्री तोमर ने कहा कि सीसीईए ने दाल के न्यूनतम समर्थन मूल्य को 5,100 रुपये प्रति क्विंटल कर दिया है। दूसरे शब्दों में, इसके एमएसपी में 6.3 प्रतिशत या 300 रुपये प्रति क्विंटल की वृद्धि की गई है। इससे किसानों को लागत पर 78 प्रतिशत लाभ होगा।

वहीं सरसों और रेपसीड के समर्थन मूल्य में 5.1 प्रतिशत यानी 225 रुपये से 4,650 रुपये प्रति क्विंटल की बढ़ोतरी की गई है। कुसुंभ का एमएसपी 112 रुपये बढ़ाकर 5,327 रुपये प्रति क्विंटल कर दिया गया है। इसके अलावा धान का एमएसपी बढ़ाकर 1868 रुपये, उड़द का 6,000 रुपये, मूंग का न्यूनतम समर्थन मूल्य 7,196 रुपये और मूंगफली का एमएसपी बढ़ाकर 5,275 रुपये प्रति क्विंटल कर दिया गया है।

जानिए- किस पर कितनी बड़ी MSP

चना
समर्थन मूल्य – 5100 रुपये प्रति क्विंटल
वृद्धि – 4.6 प्रतिशत यानि 225 रुपये प्रति क्विंटल
लाभ – 78 प्रतिशत

जौ
समर्थन मूल्य – 1600 रुपये प्रति क्विंटल
विकास दर – 4.9 प्रतिशत यानि 75 रुपये प्रति क्विंटल
लाभ – 65 प्रतिशत

मसूर
समर्थन मूल्य – 5100 रुपये प्रति क्विंटल
विकास दर – 6.3 प्रतिशत यानी 300 रुपये प्रति क्विंटल
लाभ – 78 प्रतिशत

सरसों और रेपसीड–
समर्थन मूल्य – 4650 रुपये प्रति क्विंटल
विकास दर – 5.1 प्रतिशत यानि 225 रुपये प्रति क्विंटल
लाभ – 93 प्रतिशत

कुसुम्भ
समर्थन मूल्य – 5327 रुपये प्रति क्विंटल
विकास दर – 2.1 प्रतिशत यानि 112 रुपये प्रति क्विंटल
लाभ – 50 प्रतिशत

गेहूँ
समर्थन मूल्य – 1975 प्रति क्विंटल
विकास दर – 2.6 प्रतिशत यानी 50 रुपये प्रति क्विंटल
लाभ – 106 प्रतिशत

अनाज–
समर्थन मूल्य – 1868 रुपये प्रति क्विंटल

 

ये भी पढ़ें:-

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

बॉलीवुड में ड्रग का जाल: NCB की छापेमारी, दीपिका पादुकोण (Deepika Padukone) के मैनेजर करिश्मा प्रकाश के घर में ड्रग्स बरामद

बॉलीवुड में ड्रग का जाल: NCB की छापेमारी, दीपिका पादुकोण (Deepika Padukone) के मैनेजर करिश्मा प्रकाश के घर में ड्रग्स बरामद न्यूज़ डेस्क : नारकोटिक्स...

आम आदमी के लिए बड़ी खबर! आपके LPG सिलेंडर बुकिंग फोन नंबर को बदल दिया, फटाफट ऐसे करें चेक

आम आदमी के लिए बड़ी खबर! आपके LPG सिलेंडर बुकिंग फोन नंबर को बदल दिया, फटाफट ऐसे करें चेक News Desk: LPG गैस सिलेंडर Indane...

29 दिनों के बाद Armenia और Azerbaijan में शांति लौटेगी, इस देश ने कराया संघर्ष विराम

29 दिनों के बाद Armenia और Azerbaijan में शांति लौटेगी, इस देश ने कराया संघर्ष विराम World Desk: अर्मेनिया (Armenia) और Azerbaijan (अज़रबैजान) के बीच...

ये बेस्ट लैपटॉप (Laptops) 25 हजार से कम कीमत के, विवरण देख खरीदने का होगा मन

ये बेस्ट लैपटॉप (Laptops) 25 हजार से कम कीमत के, विवरण देख खरीदने का होगा मन  ऑटोमोबाइल डेस्क:- बजट लैपटॉप (Laptops) सेगमेंट में 25,000 रुपये...

Recent Comments