Passport New Rules: भारत सरकार ने पासपोर्ट बनाने के बदल दिए नियम, अब पासपोर्ट बनवाने के लिए करना होगा ये काम

Passport New Rules
Facebook
Twitter
Telegram
WhatsApp
5/5 - (1 vote)

Passport New Rules: भारत सरकार ने पासपोर्ट बनाने के बदल दिए नियम, अब पासपोर्ट बनवाने के लिए करना होगा ये काम

Passport New Rule: भारत सरकार ने पासपोर्ट आवेदन प्रक्रिया के नियम में बड़ा बदलाव किया है। अब पासपोर्ट आवेदन के लिए डिजीलॉकर पर दस्तावेज अपलोड करना अनिवार्य है।

Passport New Rules: भारत सरकार ने अंतरराष्ट्रीय यात्रा के लिए पासपोर्ट आवेदन प्रक्रिया में बड़ा बदलाव किया है। नए पासपोर्ट के लिए आवेदकों को अब सरकारी प्लेटफॉर्म डिजीलॉकर (DigiLocker) का इस्तेमाल करना होगा। सभी दस्तावेजों को DigiLocker का उपयोग करके अपलोड करना होगा। एक बार दस्तावेज़ अपलोड हो जाने के बाद, आवेदक आधिकारिक वेबसाइट, passportindia.gov.in के माध्यम से अपना पासपोर्ट आवेदन ऑनलाइन कर सकते हैं। I will build modern and responsive wordpress website design

READ ALSO | आपको पता है मृत्यु के बाद PAN, Aadhaar, Voter ID Card और Passport का क्या होता है, 4 प्वाइंट्स में समझें

विदेश मंत्रालय (एमईए) ने कहा है कि यदि आवेदकों ने DigiLocker के माध्यम से अपने दस्तावेज अपलोड किए हैं, तो उन्हें आवेदन प्रक्रिया के दौरान मूल भौतिक प्रतियां ले जाने की आवश्यकता नहीं होगी। इस कदम से पासपोर्ट आवेदन प्रक्रिया में लगने वाला समय कम होने की उम्मीद है। इसे भौतिक दस्तावेज़ सत्यापन की आवश्यकता को कम करने के इरादे से लागू किया गया है।

READ ALSO | Passport को ऐसे करें ऑनलाइन अप्लाई, कुछ ही दिनों में घर आ जायेगा 

DigiLocker क्या है?

DigiLocker इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय द्वारा प्रदान की जाने वाली एक डिजिटल वॉलेट सेवा है। इसमें यूजर्स ड्राइविंग लाइसेंस, वाहन पंजीकरण प्रमाणपत्र और मार्कशीट जैसे सरकारी दस्तावेजों को सुरक्षित रूप से स्टोर और एक्सेस कर सकते हैं। मंत्रालय ने अब ऑनलाइन आवेदन जमा करने के लिए डिजीलॉकर के माध्यम से आधार दस्तावेजों के उपयोग की भी अनुमति दे दी है।

READ ALSO |  DigiLocker में कैसे अपलोड करें दस्तावेज, जानिए हर स्टेप

इन दस्तावेजों को आप DigiLocker में सेव कर सकते हैं

उपयोगकर्ता डिजिलॉकर में शिक्षा प्रमाणपत्र, जन्म प्रमाणपत्र, पैन कार्ड, आधार कार्ड, पासपोर्ट और मतदाता पहचान पत्र जैसे महत्वपूर्ण आधिकारिक दस्तावेजों को भी संग्रहीत और एक्सेस कर सकते हैं। यह बदलाव आवेदन प्रक्रिया को तेज करने और विभिन्न क्षेत्रों में पासपोर्ट सेवा केंद्रों और डाकघर पासपोर्ट सेवा केंद्रों पर भौतिक दस्तावेज़ सत्यापन की आवश्यकता को कम करने के लिए लागू किया गया है।

READ ALSO |e-Passport क्या है, यह कैसे काम करता है, इसके क्या फायदे हैं, इसे कौन बनवा सकता है और इसे कब जारी किया जाएगा? सब कुछ जानिए

इस तरह आप DigiLocker का इस्तेमाल कर सकते हैं

  • DigiLocker खाता खोलने के लिए, उपयोगकर्ताओं को एक मोबाइल नंबर के साथ पंजीकरण करना होगा और यह नंबर पहले से ही आधार से जुड़ा होना चाहिए।
  • DigiLocker खाते में लॉग इन करते समय उपयोगकर्ताओं को लिंक किए गए मोबाइल नंबर पर एक वन-टाइम पासकोड (ओटीपी) भेजा जाएगा।
  • अगर आप DigiLocker में कोई बदलाव करना चाहते हैं तो उस डेटा को आधार में अपडेट करना होगा।

READ ALSO | Passport Colour Code: ब्लू, मैरून, व्हाइट और ऑरेंज कलर के Passport का क्या मतलब होता है कौन सा कलर किसे मिलता है?

और पढ़िए – देश से जुड़ी अन्य बड़ी ख़बरें यहां पढ़ें

joinwhatsappclick here

NO: 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट Talkaaj.com (बात आज की)

Talkaaj

(देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले पढ़ें Talkaaj (बात आज की) पर , आप हमें Facebook, Telegram, Twitter, Instagram, Koo और  Youtube पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

Posted by Talk Aaj.com

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Google News Follow Me
Facebook
Twitter
Telegram
WhatsApp
Print
TalkAaj

TalkAaj

Talkaaj.com is a valuable resource for Hindi-speaking audiences who are looking for accurate and up-to-date news and information.

Leave a Comment

Top Stories