Homeअन्य ख़बरेंकारोबारअगर ऐसा होता है, तो PM Kisan Samman Nidhi Yojana से 6000...

अगर ऐसा होता है, तो PM Kisan Samman Nidhi Yojana से 6000 रुपये वापस लिए जाएंगे!

अगर ऐसा होता है, तो PM Kisan Samman Nidhi Yojana (पीएम किसान सम्मान निधि योजना) से 6000 रुपये वापस लिए जाएंगे!

Talkaaj Desk : प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (Narendra Modi) की सबसे बड़ी किसान योजना में पहले बड़े घोटाले के बाद सरकार सतर्क हो गई है। हम बात कर रहे हैं पीएम किसान सम्मान निधि योजना (PM Kisan Samman Nidhi Yojana) की, जिसकी व्यवस्था में सेंध लगाकर तमिलनाडु में करोड़ों रुपये निकाले गए।

इसके बाद सरकार ने सख्ती बढ़ा दी है। वहां अब तक 61 करोड़ रुपये बरामद हुए हैं। इसलिए अगर आप गलत तरीके से पैसा ले रहे हैं तो सावधानी से जाएं। सरकार स्पष्ट है कि जो लोग इसके हकदार नहीं हैं, उन्हें पैसा नहीं मिलेगा। अगर किसी भी तरह से लिया गया है, तो इसे वापस ले लिया जाएगा।

ये भी पढ़े :- अक्टूबर में होने वाले कई बदलाव, जो आपकी जेब पर सीधा असर डालेंगे

गलत तरीके से लिए गए पैसे वापस नहीं करने पर कानूनी कार्रवाई भी की जा सकती है। लापरवाही बरतने वाले अधिकारियों और कर्मचारियों पर कार्रवाई भी की जाएगी। इस योजना के तहत अब तक 94 हजार करोड़ रुपये किसानों के बैंक खातों में भेजे जा चुके हैं।

कृषि मंत्रालय के अधिकारियों के अनुसार, भविष्य में ऐसी घटनाओं को रोकने के लिए, केंद्र के परामर्श से राज्य सरकार ने एक मानक ऑपरेटिंग सिस्टम तैयार करके सिस्टम को मजबूत करने का काम शुरू किया है। हालांकि, सरकार ने यह स्पष्ट कर दिया है कि वास्तविक किसान परिवारों की पहचान करने की पूरी जिम्मेदारी राज्य सरकारों की है।

ये भी पढ़े :- ग्रामीण भारत का नंबर-1 नेटवर्क बना Jio, ग्राहकों की संख्या 16.63 करोड़ के पार

PM Kisan Samman Nidhi Yojana
File Photo PTI PM Kisan Samman Nidhi Yojana

 

किसान आंदोलन कृषि बिल के खिलाफ क्यों है, सभी को केवल 7 बिंदुओं में जानते हैं

बड़े पैमाने पर फर्जी लाभार्थी

  •  तमिलनाडु में, अब तक 5.95 लाख लाभार्थियों के खातों की जांच की गई है, जिनमें से 5.38 लाख नकली हैं। सोचिये कितनी बड़ी गड़बड़ है। अब फर्जी लाभार्थियों के बैंक खाते में पैसा संबंधित बैंकों के माध्यम से वसूला जा रहा है।
  •  तमिलनाडु में 96 अनुबंध कर्मचारियों की सेवाएं समाप्त कर दी गई हैं। अपात्र लाभार्थियों के पंजीकरण के लिए जिम्मेदार पाए गए 34 अधिकारियों के खिलाफ विभागीय कार्रवाई शुरू कर दी गई है। 3 ब्लॉक स्तर के अधिकारियों और 5 सहायक कृषि अधिकारियों को निलंबित कर दिया गया है।
  •  ये लोग पासवर्ड के दुरुपयोग के लिए जिम्मेदार पाए गए। 13 जिलों में एफआईआर दर्ज करके ठेका श्रमिकों सहित 52 लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

ये भी पढ़े :-SBI ने करोड़ों ग्राहकों के लिए अलर्ट जारी किया, ध्यान नहीं दिया गया तो भारी नुकसान हो सकता है।

यह कैसे हुआ?

  •  कुछ बेईमान लोगों ने योजना के तहत बड़ी संख्या में अपात्र बुकिंग करने के लिए जिला अधिकारियों के लॉगिन आईडी और पासवर्ड का दुरुपयोग किया।
  • कृषि विभाग द्वारा काम पर रखे गए ठेका श्रमिकों को भी इस अवैध काम में शामिल पाया गया। राज्य सरकार ने तुरंत जिले के अधिकारियों का पासवर्ड बदल दिया।
  •  ब्लॉक स्तर के पीएम-किसान खातों और जिला स्तर के पीएम-किसान लॉग-इन आईडी को निष्क्रिय कर दिया गया है। ताकि फर्जीवाड़ा रुके।

ये भी पढ़े :-केंद्र सरकार ने दी चेतावनी, इस ऐप से रहें दूर, जानें पूरा मामला

PM Kisan योजना का लाभ किसे मिलेगा और किसे नहीं

मोदी सरकार ने भले ही सभी किसानों के लिए पीएम-किसान योजना लागू की हो, लेकिन कुछ लोगों के लिए शर्तें लगाई गई हैं। जिन लोगों के लिए यह शर्त लागू है, यदि वे गलत तरीके से इसका लाभ ले रहे हैं, तो यह आधार सत्यापन में जाना जाएगा। सभी 14.5 करोड़ किसान परिवार इसके लिए पात्र हैं। 18 वर्ष तक के जीवनसाथी और बच्चों को एक इकाई माना जाएगा। जिनके नाम 1 फरवरी 2019 तक भूमि रिकॉर्ड में मिल जाएंगे, वे इसके हकदार होंगे।

बिहार के किसानों को झटका! एमएसपी (MSP) पर मक्का नहीं खरीदा जाएगा, क्या यही कारण है?

सांसद, विधायक, मंत्री और महापौर को भी खेती करने पर लाभ नहीं दिया जाएगा। अगर उन्होंने आवेदन किया है तो पैसा नहीं आएगा। मल्टी टास्किंग स्टाफ / चतुर्थ श्रेणी / समूह डी कर्मचारियों को छोड़कर केंद्र या राज्य सरकार में कोई भी अधिकारी या कर्मचारी लाभान्वित नहीं होगा। अगर ऐसे लोगों ने फायदा उठाया, तो आधार खुद बताएगा।

पेशेवर, डॉक्टर, इंजीनियर, सीए, वकील, आर्किटेक्ट यहां तक ​​कि कृषि करने वालों को भी लाभ नहीं मिलेगा। 10,000 से अधिक पेंशन पाने वाले आयकर दाताओं और किसानों को इनकार करने का प्रावधान है। अगर किसी आयकर दाता ने योजना की दो किस्तें ली हैं तो वह तीसरी बार में पकड़ा जाएगा। क्योंकि आधार वेरिफिकेशन हो रहा है।

ये भी पढ़े :-

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments

error: Content is protected !!
Ads Blocker Image Powered by Code Help Pro
Ads Blocker Detected!!!

We have detected that you are using extensions to block ads. Please support us by disabling these ads blocker.

Refresh
Powered By
CHP Adblock Detector Plugin | Codehelppro