संजीवनी मिल गई ! अब ‘अमर’ रहेगा मनुष्य, जानिए वैज्ञानिकों ने क्या खोजा है?

मनुष्य
Facebook
Twitter
Telegram
WhatsApp

संजीवनी मिल गई ! अब ‘अमर’ रहेगा मनुष्य, जानिए वैज्ञानिकों ने क्या खोजा है?

डेली स्टार की रिपोर्ट के मुताबिक स्कॉट्सडेल, एरिज़ोना, यूएसए में स्थित एल्कोर फर्म ने क्रायोनिक्स के क्षेत्र में खुद को एक अग्रणी कंपनी के रूप में स्थापित किया है। इस तकनीक से मरने के बाद शरीर को फ्रीज कर दिया जाता है। यह दावा किया जाता है कि उन्हें बाद में पुनर्जीवित किया जा सकता है।

वाशिंगटन

पूरे मानव इतिहास में, कई लोगों ने अमरता की लालसा की है। लेकिन, विज्ञान की कठिन जटिलताओं के कारण उनका सपना कभी साकार नहीं हो सका। अब दावा किया जा रहा है कि इस युग में इंसानों की अमरता का सपना पूरा हो सकता है। इसके लिए अमेरिका की एक कंपनी ने एक प्लान लॉन्च किया है। कंपनी ने दावा किया है कि वह इंसानों को मरने के बाद भी जिंदा रख सकती है। इसके लिए साल दर साल आधार पर भारी भरकम फीस देनी होगी।

यह भी पढ़िए | शादी (Marriage) से मोह भंग! अब इस वजह से युवा जीवन भर अकेले रहना चाहते हैं?

जानिए अमेरिकी कंपनी का प्लान

स्कॉट्सडेल, एरिज़ोना, यूएसए में स्थित एल्कोर फर्म ने क्रायोनिक्स के क्षेत्र में खुद को एक अग्रणी कंपनी के रूप में स्थापित किया है। इस तकनीक से मरने के बाद शरीर को फ्रीज कर दिया जाता है। यह दावा किया जाता है कि उन्हें बाद में पुनर्जीवित किया जा सकता है। कानूनी मौत के बाद लाशों के दिमाग को लिक्विड नाइट्रोजन से भरकर फ्रीज कर दिया जाता है। उम्मीद की जा रही है कि इन लाशों को बाद में कुछ खास तकनीक से जिंदा किया जा सकता है।

मृत शरीर को फ्रीज करने की फीस 2 लाख डॉलर

एल्कोर फर्म ने पूरे शरीर को फ्रीज करने के लिए $ 2 मिलियन का शुल्क निर्धारित किया है। भारतीय रुपए में यह रकम करीब 15 करोड़ रुपए है। यह राशि एक बार देनी होगी। कंपनी ने मौत के बाद हर साल सुरक्षा के लिए 705 डॉलर की फीस भी रखी है। एक न्यूरो रोगी के लिए एकमुश्त शुल्क $80,000 है। इसमें मरीज को दिया गया दिमाग ही सुरक्षित रहता है।

कंपनी के सीईओ ने की तारीफ, कहा बीमा से मिलेगा पैसा

कंपनी के ब्रिटिश सीईओ मैक्स मोर ने कहा कि यह प्रक्रिया वास्तव में बहुत से लोगों के लिए बहुत किफायती है। ज्यादातर लोग सोचते हैं कि मेरे पास दो मिलियन डॉलर या 80 हजार डॉलर नहीं हैं। जब मैंने भी यह पॉलिसी ली थी तब मेरे पास पैसे भी नहीं थे. मैंने इंग्लैंड में एक छात्र के रूप में साइन अप किया था, मैं काफी गरीब था। हमारी टीम में कई लोगों ने जीवन बीमा राशि से इस पॉलिसी की फीस का भुगतान किया है।

यह भी पढ़िए | Mystery : धरती का वो कोना जहां अभी तक जीवन नहीं पहुंचा, आज भी धरती वीरान है

अब तक 184 मरीजों के शवों को फ्रीज किया जा चुका है

यदि आप कॉफी के लिए हर दो दिन में स्टारबक्स जाने का खर्च उठा सकते हैं, तो आप क्रायोनिक्स सदस्यता भी प्राप्त कर सकते हैं, उन्होंने कहा। अल्कोर में वर्तमान में 1,379 सदस्य हैं, जिनमें 184 मरीज शामिल हैं जिनकी मृत्यु हो चुकी है और उनके शरीर क्रायोनिक प्रक्रिया के अधीन हैं। परिवार के पहले सदस्य के लिए सदस्यता योजना शुल्क $660 प्रति वर्ष है। जिसमें 18 साल से ऊपर के हर रिश्तेदार के लिए करीब 50 फीसदी की छूट है।

इस आर्टिकल को शेयर करें

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए –
TalkAaj (बात आज की) के समाचार ग्रुप Whatsapp से जुड़े
TalkAaj (बात आज की) के समाचार ग्रुप Telegram से जुड़े

Facebook
Twitter
Telegram
WhatsApp
Print

Leave a Comment

Top Stories

Portables Solar Generator in hindi

इस सस्ते Portables Solar Generator से चलेगा पंखा, कूलर, टीवी, लाइट, जमकर हो रही बिक्री मिलता है 6 से 7 घंटें का बैकअप 

इस सस्ते Portables Solar Generator से चलेगा पंखा, कूलर, टीवी, लाइट, जमकर हो रही बिक्री मिलता है 6 से 7 घंटें का बैकअप  Solar Generator:

How is satta number calculated?

How is satta number calculated?

How is satta number calculated? Have you ever wondered how the satta numbers are calculated? You might have heard of the term “Satta number” but

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker

Refresh Page