Health News In Hindi: गर्मियों में पीला पेशाब आना इस बीमारी का संकेत, किन लोगों को है इस डिजीज का खतरा ज्यादा, एक्सपर्ट से जानें इलाज

Health News In Hindi-talkaaj.com
Facebook
Twitter
Telegram
WhatsApp
5/5 - (1 vote)

Health News In Hindi: गर्मियों में पीला पेशाब आना इस बीमारी का संकेत, किन लोगों को है इस डिजीज का खतरा ज्यादा, एक्सपर्ट से जानें इलाज

Health News In Hindi: गर्मियों में कई तरह की परेशानियां बढ़ने लगती हैं, जिनमें सबसे आम समस्या है डिहाइड्रेशन। डिहाइड्रेशन का मतलब है शरीर में पानी की कमी होना। गर्मियों में पसीना बहुत आता है और पेशाब के जरिए शरीर से पानी भी निकल जाता है। ऐसे में अगर पानी का सेवन कम कर दिया जाए तो डिहाइड्रेशन (Dehydration) की समस्या बढ़ने लगती है। शरीर में पानी की कमी का असर सबसे पहले पेशाब के रंग पर पड़ता है। शरीर में पानी की कमी होने पर पेशाब का रंग पीला पड़ने लगता है, पेशाब से बदबू आने लगती है और कभी-कभी पेशाब करते समय जलन भी होने लगती है।

नेफ्रोलॉजी पीएसआरआई, नई दिल्ली के वरिष्ठ सलाहकार डॉ. रवि बंसल ने कहा कि हमारा शरीर 60 प्रतिशत पानी से बना है। शरीर के पर्यावरण को बनाये रखने के लिए पानी की आवश्यकता होती है। पानी में मौजूद सोडियम और पोटैशियम जैसे इलेक्ट्रोलाइट्स का संतुलन बना रहता है। हृदय रक्त पंप करता है जो पूरे शरीर को पोषण प्रदान करता है। इन सभी कामों को करने के लिए शरीर को पानी की भी जरूरत होती है। शरीर के कई अंग ऐसे हैं जो पानी पर ही काम करते हैं जैसे किडनी। किडनी में पानी की कमी होने से शरीर में विषैले पदार्थ जमा होने लगते हैं और कई बीमारियों का कारण बनते हैं।

Diabetes को मैनेज करने के लिए सबसे आसान Diet Plan

शरीर में पानी की कमी होने पर पेशाब का रंग पीला होने लगता है। जब शरीर में पानी की कमी हो जाती है तो किडनी पानी बरकरार रखती है और केवल गंदगी को बाहर निकालती है। गहरे या पीले रंग का पेशाब इस बात का संकेत है कि आपके शरीर में पानी की कमी है।

शरीर में पानी की कमी होने पर शरीर में कुछ लक्षण दिखाई देने लगते हैं जैसे थकान, शुष्क त्वचा और होंठ, प्यास, गहरे रंग का पेशाब और बार-बार पेशाब आना शरीर में पानी की कमी के लक्षण हैं। आइए एक्सपर्ट से जानते हैं किन लोगों के शरीर में होती है पानी की कमी और कैसे करें इसका इलाज।

किन लोगों को Dehydration का खतरा अधिक होता है?

कुछ लोग मधुमेह की दवाएँ लेते हैं जिसके कारण मूत्र में अतिरिक्त शर्करा आने लगती है। जिन लोगों को हाई बीपी होता है वे बीपी की दवाएं लेते हैं, जिससे अत्यधिक पेशाब और निर्जलीकरण होता है। इन बीमारियों के मरीजों में डिहाइड्रेशन का खतरा अधिक होता है। जो लोग मानसिक बीमारियों, मनोवैज्ञानिक या तंत्रिका संबंधी रोगों से पीड़ित हैं, उनमें भी निर्जलीकरण का खतरा अधिक होता है। छोटे बच्चे और अधिक पानी न पीने वाले वृद्ध लोगों में भी निर्जलीकरण का खतरा अधिक होता है।

अगर नहीं बढ़ रही है बच्चे की हाइट तो आज से ही खिलाना शुरू कर दें ये चीजें, तेजी से बढ़ेगी हाइट…

शरीर में पानी की कमी कैसे पूरी करें?

गर्मियों में पानी अधिक पियें। यदि शरीर से कम पानी निकले और अधिक पानी का सेवन किया जाए तो शरीर में पानी की कमी की भरपाई की जा सकती है।

अधिक पानी का सेवन करें और अपने आहार में ऐसे खाद्य पदार्थों को शामिल करें जो शरीर में पानी की कमी को पूरा कर सकें।

शरीर में पानी की कमी को पूरा करने के लिए फल, सब्जियां, दही, दूध से बने उत्पाद और सादे पानी का सेवन करें।

शरीर में पानी की कमी को पूरा करने के लिए दिन भर में दो लीटर पानी पिएं।

पेट के कैंसर के 5 लक्षणों को न करें अनदेखा, जानिए कैसे किया जा सकता है बचाव 

(देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले पढ़ें Talkaaj (बात आज की) पर , आप हमें FacebookTwitterInstagramKoo और  Youtube पर फ़ॉलो करे.)

[inline_related_posts title=”You Might Be Interested In” title_align=”left” style=”grid” number=”6″ align=”none” ids=”” by=”categories” orderby=”rand” order=”DESC” hide_thumb=”no” thumb_right=”no” views=”no” date=”yes” grid_columns=”2″ post_type=”” tax=””]

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Google News Follow Me
Facebook
Twitter
Telegram
WhatsApp
LinkedIn
TalkAaj

TalkAaj

हैलो, मेरा नाम PPSINGH है। मैं जयपुर का रहना वाला हूं और इस News Website के माध्यम से मैं आप तक देश और दुनिया से व्यापार, सरकरी योजनायें, बॉलीवुड, शिक्षा, जॉब, खेल और राजनीति के हर अपडेट पहुंचाने की कोशिश करता हूं। आपसे विनती है कि अपना प्यार हम पर बनाएं रखें ❤️

Leave a Comment

Top Stories