Jaipur News: जयपुर में सड़क पर मारपीट को लेकर हंगामा, हिंदू संगठन गहलोत सरकार के खिलाफ उतरे

Jaipur News
Facebook
Twitter
Telegram
WhatsApp
Rate this post

Jaipur News : जयपुर में सड़क पर मारपीट को लेकर हंगामा, हिंदू संगठन गहलोत सरकार के खिलाफ उतरे

TalkAaj Jaipur News: राजधानी जयपुर में पांच दिन पहले हुए इकबाल हत्याकांड का मामला गरमाता जा रहा है। इस मामले को लेकर आज जयपुर में ‘जयपुर बचाओ संघर्ष समिति’ की ओर से बड़ा विरोध प्रदर्शन किया गया. प्रदर्शनकारियों और समिति के वक्ताओं ने आरोप लगाया कि गहलोत सरकार तुष्टिकरण की नीति अपनाकर हिंदू परिवारों को परेशान कर रही है और मामले को मॉब लिंचिंग का नाम दे रही है.

Jaipur Road Rage : राजधानी जयपुर के गंगापोल इलाके में पांच दिन पहले युवक इकबाल की हत्या के बाद यह मामला लगातार तूल पकड़ता जा रहा है. इस मामले में आज ‘जयपुर बचाओ संघर्ष समिति’ की ओर से गहलोत सरकार की कथित तुष्टिकरण की नीतियों के विरोध में बड़ा विरोध प्रदर्शन किया गया. प्रदर्शनकारियों का आरोप है कि मॉब लिंचिंग का नाम देकर हिंदू परिवारों को परेशान किया जा रहा है. उन्होंने घटना के बाद जुटी भीड़ द्वारा हिंदू व्यापारियों की दुकानें लूटने का भी आरोप लगाया.

मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस प्रशासन अलर्ट मोड पर आ गया है. प्रदर्शन स्थल और शहर के अंदरूनी हिस्से के सभी संवेदनशील इलाकों में चप्पे-चप्पे पर भारी पुलिस बल तैनात किया गया था। जयपुर बचाओ संघर्ष समिति की ओर से सुबह 10 बजे शहर के हृदय स्थल बड़ी चौपड़ पर विरोध प्रदर्शन किया गया. इस दौरान जयपुर व्यापार महासंघ की ओर से 3 घंटे का जयपुर बंद बुलाया गया था. विरोध प्रदर्शन में बड़ी संख्या में लोग जुटे.

हिंदू दुकानों में लूटपाट का आरोप

जयपुर व्यापार महासंघ के अध्यक्ष सुभाष गोयल ने सुबह 10 से दोपहर 1 बजे तक बाजार बंद रहने की जानकारी देते हुए आरोप लगाया कि सुभाष चौक थाना क्षेत्र के गंगापोल में एक युवक की हत्या के बाद कुछ युवक दुकानें बंद कराने का प्रयास कर रहे थे. आरोप है कि इस दौरान भीड़ में शामिल युवकों ने हिंदू व्यापारियों की दुकानें लूट लीं. आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर आज जयपुर के बाजार 3 घंटे बंद रखने का फैसला किया गया.

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Google News Follow Me

500 से अधिक अतिरिक्त पुलिसकर्मी तैनात किये गये

धरने पर बड़ी संख्या में बीजेपी नेता, कार्यकर्ता और साधु-संत पहुंचे थे. मामले की संवेदनशीलता को देखते हुए वहां 500 से ज्यादा अतिरिक्त पुलिसकर्मियों की फोर्स तैनात की गई. जयपुर किले के अंदर सभी संवेदनशील इलाकों में पुलिसकर्मी तैनात कर दिये गये। इसके लिए जयपुर पुलिस कमिश्नरेट के अन्य जिलों से भी अधिकारियों को उत्तरी जिले में तैनात किया गया है.

ड्रोन से की गई प्रदर्शन की निगरानी

पूरे प्रदर्शन की निगरानी ड्रोन और अभय कमांड कंट्रोल सेंटर से की गई. इससे पहले पुलिस कमिश्नर बीजू जॉर्ज जोसेफ ने धार्मिक नेताओं और शांति समिति के सदस्यों की बैठक ली थी. दोनों समुदाय के बुद्धिजीवियों के माध्यम से युवाओं से शांति की अपील की गयी. हड़ताल के दौरान एक बार तो माहौल तनावपूर्ण हो गया। इससे प्रदर्शनकारियों और पुलिस के बीच झड़प भी हुई, लेकिन जल्द ही समझा-बुझाकर मामला शांत कर लिया गया।

युवक की हत्या 29 सितंबर की रात को कर दी गई थी.

गौरतलब है कि 29 सितंबर की रात को जयपुर के सुभाष चौक थाना इलाके में दो बाइकों की भिड़ंत हो गई थी. बाद में इस बात को लेकर दो समुदाय के लोग आपस में भिड़ गये. इसके बाद हुई मारपीट में युवक इकबाल (20) की मौत हो गई। इससे इलाके में तनाव फैल गया. अगली सुबह एक खास समुदाय के लोग सड़कों पर उतर आए. मामला बढ़ता देख गहलोत सरकार ने हस्तक्षेप किया और मृतक युवक के परिवार को तुरंत 50 लाख रुपये का मुआवजा दिया. युवक के परिवार के एक सदस्य को संविदा पर नौकरी और डेयरी बूथ आवंटित करने का आश्वासन दिया गया।

(देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले पढ़ें Talkaaj (बात आज की) पर , आप हमें FacebookTwitterInstagramKoo और  Youtube पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

Posted by TalkAaj.com

Facebook
Twitter
Telegram
WhatsApp
LinkedIn
Picture of TalkAaj

TalkAaj

हैलो, मेरा नाम PPSINGH है। मैं जयपुर का रहना वाला हूं और इस News Website के माध्यम से मैं आप तक देश और दुनिया से व्यापार, सरकरी योजनायें, बॉलीवुड, शिक्षा, जॉब, खेल और राजनीति के हर अपडेट पहुंचाने की कोशिश करता हूं। आपसे विनती है कि अपना प्यार हम पर बनाएं रखें ❤️

Leave a Comment

Top Stories