लगाना चाहते हैं Solar Panel तो ये खबर आपके लिए, सरकार ने जारी किया ये नया नियम!

New Rules For Installing Solar Panel-Talkaaj
Facebook
Twitter
Telegram
WhatsApp
Rate this post

New Rules For Installing Solar Panel: केंद्रीय मंत्री ने कहा कि यह फैसला Make-in-India को सपोर्ट करेगा. सरकार किसी भी पुराने उपकरण या तकनीक को सपोर्ट करने की इजाजत नहीं देगी.

TalkAaj Business Desk: सोलर पैनल को लेकर सरकार ने नई गाइडलाइन जारी की है. इसके तहत सरकार ने यह स्पष्ट कर दिया है कि अगले तीन से चार वर्षों में सरकार केवल पॉलीसिलिकॉन से बने मेड इन इंडिया सेल, वेफर्स और पॉलीसिलिकॉन से बने सौर पैनल (solar panel) को मॉडल और निर्माताओं की अनुमोदित सूची (ALMM) के तहत रजिस्टर करेगी।  नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा मंत्री आर.के. सिंह (R K Singh) ने रविवार को यह बात कही. भाषा की खबर के मुताबिक, केंद्रीय मंत्री ने अपने मंत्रालय के संबंधित अधिकारियों से इस संबंध में एक नीति बनाने को कहा है.

अच्छी खबर- SBI देगा आपकी बेटी को 15 लाख, जल्दी करे आवेदन!

सरकार एक-दो साल में पॉलिसी लाएगी

खबरों के मुताबिक, सरकार ने सौर पैनलों (solar panel) के घरेलू विनिर्माण को बढ़ावा देने के लिए ALMM (Approved List of Models and Manufacturers) शुरू की थी। मंत्री ने कहा कि कम दक्षता वाले मॉड्यूल को एएलएमएम (ALMM) से हटा दिया जाता है। उन्होंने कहा कि हम अपनी नीति विकसित करेंगे. हम केवल उन्हीं मॉड्यूल की सुरक्षा करेंगे जो भारत में बने सेल हैं। हम एक-दो साल में ऐसी पॉलिसी लेकर आएंगे।’ फिर एक-दो साल बाद हम एक पॉलिसी लाएंगे कि वेफर्स और पॉलीसिलिकॉन भी भारत में बनें।

Amul, Post office या Aadhar की फ्रेंचाइजी (Franchise) लेकर अपना कारोबार शुरू करें हर महीने लाखों की कमाई, तरीका जानिए

मेक-इन-इंडिया को समर्थन मिलेगा

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि इस कदम से ‘Make-in-India’ के लक्ष्य को आगे बढ़ाने में मदद मिलेगी. सरकार अगले कुछ वर्षों में सौर पैनल (solar panel) घटकों के आयात को बढ़ावा नहीं देगी। उन्होंने कहा कि आप बाहर से सेल मंगाते हैं और यहां असेंबल करते हैं. फिर वे इसे यह कहकर बेचते हैं कि यह भारत में बना है, जबकि इसका 90 प्रतिशत हिस्सा चीन में बनता है, अब ऐसा नहीं चलेगा। मंत्रालय अगले साल मॉडलों और निर्माताओं की अनुमोदित सूची की भी समीक्षा करेगा। सिंह (R K Singh) ने कहा कि सरकार भारत के लोगों के हितों की रक्षा के लिए निर्माताओं को किसी भी पुराने उपकरण या तकनीक का समर्थन करने की अनुमति नहीं देगी।

 Property Registry: सिर्फ रजिस्ट्री करवाने से आप प्रॉपर्टी के मालिक नहीं बन जाते, इस गलतफहमी को अभी दूर कर लें

NO: 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट Talkaaj.com (बात आज की)

(देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले पढ़ें Talkaaj (बात आज की) पर , आप हमें Facebook, Telegram, Twitter, Instagram, Koo और  Youtube पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Google News Follow Me
Facebook
Twitter
Telegram
WhatsApp
LinkedIn
TalkAaj

TalkAaj

हैलो, मेरा नाम PPSINGH है। मैं जयपुर का रहना वाला हूं और इस News Website के माध्यम से मैं आप तक देश और दुनिया से व्यापार, सरकरी योजनायें, बॉलीवुड, शिक्षा, जॉब, खेल और राजनीति के हर अपडेट पहुंचाने की कोशिश करता हूं। आपसे विनती है कि अपना प्यार हम पर बनाएं रखें ❤️

Leave a Comment

Top Stories