Homeअन्य ख़बरेंकारोबार12 लाख में ऑनलाइन पेट्रोल-डीजल (Petrol-Diesel) का कारोबार शुरू करें, एक साल...

12 लाख में ऑनलाइन पेट्रोल-डीजल (Petrol-Diesel) का कारोबार शुरू करें, एक साल में बनेंगे 100 करोड़ के मालिक! सरकार करेगी मदद

12 लाख में ऑनलाइन पेट्रोल-डीजल (Petrol-Diesel) का कारोबार शुरू करें, एक साल में बनेंगे 100 करोड़ के मालिक! सरकार करेगी मदद

How to start a business in India: यदि आप कोई व्यवसाय शुरू करना चाहते हैं, तो आप ऑनलाइन ईंधन व्यवसाय बेचकर करोड़ों कमा सकते हैं। इसके लिए इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन (IOC), भारत पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड (BPCL), पेट्रोलियम प्रोसेस इंजीनियरिंग सर्विस। (PESCO) तेल कंपनियों की मदद करेगा

अगर आप कोई बिजनेस शुरू करना चाहते हैं, तो आप ऑनलाइन फ्यूल बिजनेस बेचकर करोड़ों कमा सकते हैं। इसके लिए इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन (IOC), भारत पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड (BPCL), पेट्रोलियम प्रोसेस इंजीनियरिंग सर्विस। तेल कंपनियां जैसे (PESCO) मदद करेंगी। इसके अलावा आप सरकार की मदद ले सकते हैं। इसके लिए हमने स्टार्टअप कंपनी Pepfuel.com (startup Pepfuel.com) से बात की, तो चलिए उनसे जानते हैं कि आप डोर-टू-डोर ईंधन बेचने का कारोबार कैसे कर सकते हैं।

ये भी पढ़े:- आप मुफ्त में Aadhaar Card Franchise लेकर मोटी कमाई कर सकते हैं, यह तरीका है

सरकारी मान्यता प्राप्त स्टार्टअप

Pepfuel.com एक सरकारी मान्यता प्राप्त स्टार्टअप है। Pepfuels ने इंडियन ऑयल के साथ तीसरे पक्ष का समझौता किया है। यह ऑनलाइन डीजल डिलीवरी (online diesel delivery)के लिए है। ग्राहक इस ऐप पर ऑनलाइन या मैसेज के जरिए ऑर्डर कर सकते हैं। नोएडा के टिकेंद्र, प्रतीक और संदीप ने इसे एक साथ शुरू किया है। व्यापार शुरू होने के कुछ साल बाद, उनकी कंपनी का वार्षिक कारोबार लगभग 100 करोड़ तक पहुंच गया।

व्यापार शुरू करने का तरीका जानें

दिल्ली-एनसीआर के लोगों से मिली प्रतिक्रिया स्टार्टअप के संस्थापक टिकेंद्र का कहना है कि उन्होंने इस पर काफी शोध किया है। घर-घर जाकर लोगों से बात की और ऑनलाइन फीडबैक लिया। प्रतिक्रिया में, हर दूसरे व्यक्ति ने कहा कि पेट्रोल और डीजल के लिए एक ऑनलाइन ऐप होना चाहिए। हालांकि, पेट्रोल और डीजल की ऑनलाइन डिलीवरी का व्यवसाय शुरू करना काफी जोखिम भरा है। टिकेंद्र का कहना है कि 2016 तक देश में पेट्रोल वितरण की अनुमति नहीं थी। हाल ही में, सरकार ने इसकी अनुमति दी है। उस समय हमारे सामने केवल डीजल वितरण ही एकमात्र विकल्प था। हमने केवल डीजल की डिलीवरी का काम शुरू किया।

ये भी पढ़े:- Google का नया ऐप लॉन्च, अब खैर नहीं गड़बड़ी करने वाले ऐप्स की, इस तरह काम करेगा

तेल कंपनियों से मिला सहयोग

कंपनी के एक अन्य संस्थापक, संदीप कहते हैं, “हमने इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन (IOC), भारत पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड (BPCL), पेट्रोलियम प्रोसेस इंजीनियरिंग सर्विस (PESCO) को खरीदा है। इसके सुझाव तेल कंपनियों को भेजे हैं। इसके साथ ही। हमने अपने स्टार्टअप का विचार भी पीएमओ को भेजा। कुछ दिनों बाद, हमें पीएमओ से जवाब मिला। दूसरी ओर, फरीदाबाद स्थित इंडियन ऑयल की ओर से भी हमें एक विस्तृत परियोजना प्रस्तुत करने के लिए कहा गया। हमारे व्यवसाय की रिपोर्ट (DPR)। वे कहते हैं, हमने अपनी परियोजना की डीपीआर इंडियन ऑयल को भेज दी। अनुमोदन प्राप्त करने के बाद, हमने अपना व्यवसाय शुरू किया।

ये भी पढ़े:- ग्राहकों के लिए SBI की बड़ी घोषणा! अब घर से इन 8 सेवाओं का लाभ उठाएं

ये भी पढ़े:- Aadhaar Card में नाम या पता बदलना आसान हुआ, आप इसे अपने मोबाइल ऐसे बदल सकते हैं

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें और  टेलीग्राम पर ज्वाइन करे और  ट्विटर पर फॉलो करें .Talkaaj.com पर विस्तार से पढ़ें व्यापार की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments