Mukhyamantri Chiranjeevi Yojana बंद, अब राजस्थान में कैसे होगा मुफ्त इलाज!, जानिए पूरी जानकारी

Mukhyamantri Chiranjeevi Yojana
Facebook
Twitter
Telegram
WhatsApp
5/5 - (1 vote)

Mukhyamantri Chiranjeevi Yojana बंद, अब राजस्थान में कैसे होगा मुफ्त इलाज!, जानिए पूरी जानकारी

जयपुर न्यूज़ डेस्क: राज्य में सरकार बदलते ही स्वास्थ्य मॉडल में भी बदलाव की तैयारी है. पिछली सरकार की Mukhyamantri Chiranjeevi Health Insurance Yojana के तहत इलाज की सुविधा अघोषित रूप से बंद हो गयी है. इसका पोर्टल भी लगभग बंद होने की स्थिति में है। अब इस योजना से जुड़े 1.42 करोड़ परिवारों के लिए आयुष्मान भारत मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना (Chief Minister Chiranjeevi Health Insurance Scheme) के नाम से कार्ड बनाने की तैयारी है।

आपकी बेटी 5 साल की है तो आज ही खुलवाएं ये सरकारी खाता, सरकार देगी पुरे 22 लाख, जानें पूरी डिटेल्स!

सूत्रों के मुताबिक हर जिले को 5 लाख से 15 लाख कार्ड बनाने का लक्ष्य दिया जा रहा है. इसके लिए ई-केवाईसी (E-KYC) के लक्ष्य भी दिए जा रहे हैं. केंद्र की मोदी सरकार (Modi Government) का आयुष्मान ऐप हर लाभार्थी को डाउनलोड कराने के लिए भी यह टास्क दिया जा रहा है. ऐप पर वेरिफिकेशन के बाद कोई भी व्यक्ति इस योजना से जुड़ जाएगा. माना जा रहा है कि विभागीय मंत्री का फैसला होते ही इस संबंध में आदेश जारी कर दिये जायेंगे.

सियासी विवाद से बचने का भी फार्मूला

नई सरकार चिरंजीवी योजना को बंद करने का स्पष्ट आदेश जारी करने के बजाय मोदी सरकार की योजना को लागू करने में जुटी है ताकि कोई राजनीतिक विवाद न हो. यानी अगर अस्पताल चिरंजीवी कार्ड के जरिए इलाज नहीं करेगा तो वह अपने आप बंद हो जाएगा। इसीलिए विकल्प के तौर पर दूसरा कार्ड अपलोड करने की सुविधा देने की तैयारी की जा रही है। इसके तहत आयुष्मान चिरंजीवी कार्ड अपलोड कर केंद्र की मुफ्त स्वास्थ्य योजना से जुड़ सकेंगे।

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत फ्री सिलेंडर के लिए ऐसे करें आवेदन

असर : सरकारी अस्पतालों में मरीज बढ़े

निजी अस्पतालों में चिंरजीवी के तहत मुफ्त इलाज बंद होने से एसएमएस जैसे सरकारी अस्पतालों में ओपीडी पहले की तुलना में दो से ढाई गुना तक बढ़ गई है। भर्ती मरीजों की संख्या भी बढ़ गयी है[1].

26 जनवरी तक 100% कार्ड बनाने का लक्ष्य, 5 लाख रु.तक का फ्री इलाज

नई योजना

  • सभी जिलों को 26 जनवरी तक नये कार्ड बनाने का काम पूरा करने का लक्ष्य दिया जा रहा है. ये कार्ड बनाने का काम विकास भारत संकल्प यात्रा के साथ होगा.
  • आयुष्मान योजना के तहत 5 लाख रुपये तक का मुफ्त इलाज मिलेगा।
  • शत प्रतिशत लक्ष्य पूरा नहीं करने वाले जिले के सीएमएचओ पर होगी कार्रवाई.

पुरानी योजना

  • 1890 से ज्यादा अस्पताल सरकार के नए आदेश का इंतजार कर रहे हैं, जो स्वास्थ्य योजना से जुड़े हैं.
  • 90 फीसदी से ज्यादा अस्पतालों ने चिरंजीवी के तहत मुफ्त इलाज देना बंद कर दिया है. तर्क यह है- भुगतान रुका तो इलाज कैसे कराएं?
  • चिरंजीवी योजना के तहत अस्पतालों द्वारा 50 करोड़ रुपये से अधिक के बिल का भुगतान किया जाना बाकी है।

सरकारी सोलर चूल्हा घर लाएं, गैस सिलेंडर की टेंशन खत्म, ऐसे करें बुकिंग

सीधी बात- एसीएस शुभ्रा सिंह से

शुभ्रा: हमने चिरंजीवी को बंद करने के लिए नहीं कहा, आने वाले दिनों में स्थिति साफ हो जाएगी.

क्या चिरंजीवी योजना का पोर्टल बंद हो गया है? नहीं, यह मेरी जानकारी में नहीं है.

क्या चिरंजीवी योजना के तहत 25 लाख रुपये तक का मुफ्त इलाज बंद कर दिया गया है?

हमने अभी तक ऐसा नहीं किया है, यह बाद में स्पष्ट हो जाएगा।’

निजी अस्पताल चिरंजीवी योजना के तहत इलाज करने से इनकार कर रहे हैं.

अभी तक ऊपर से कोई स्पष्ट दिशा-निर्देश नहीं मिला है. इलाज जारी रहना चाहिए.

क्या आपने राज्य के सभी जिलों को आयुष्मान चिरंजीवी कार्ड बनाने का आदेश दिया है?

नये निर्देश के मुताबिक हमने संकल्प यात्रा के समय आयुष्मान चिरंजीवी कार्ड बनाने को कहा है.

प्रदेश में अब तक कितने आयुष्मान कार्ड बनाये गये हैं?

आयुष्मान योजना के तहत 66.34 लाख लाभार्थी हैं. हम लाभार्थियों की संख्या बढ़ा रहे हैं।

क्या चिरंजीवी बंद हो जाएगी और अब सिर्फ आयुष्मान स्वास्थ्य योजना ही चलेगी?

आगे देखते हैं। स्पष्ट आदेश आएंगे और उसी के अनुरूप निर्णय लिए जाएंगे।

आप भी खोल सकते हैं Gas Agency, हर सिलेंडर पर होगी शानदार कमाई… जानिए- लाइसेंस और आवेदन का तरीका

Mukhyamantri Chiranjeevi Yojana बंद, अब राजस्थान में कैसे होगा मुफ्त इलाज!, जानिए पूरी जानकारी

NO: 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट Talkaaj.com (बात आज की)

(देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले पढ़ें Talkaaj (बात आज की) पर , आप हमें FacebookTwitterInstagramKoo और  Youtube पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Google News Follow Me
Facebook
Twitter
Telegram
WhatsApp
Print
TalkAaj

TalkAaj

Talkaaj.com is a valuable resource for Hindi-speaking audiences who are looking for accurate and up-to-date news and information.

Leave a Comment

Top Stories