Alien-UFO को लेकर NASA ने किया बड़ा खुलासा…रिसर्च के बाद सामने आई ये बात

Alien-UFO
Facebook
Twitter
Telegram
WhatsApp
5/5 - (1 vote)

Alien-UFO को लेकर नासा ने किया बड़ा खुलासा…रिसर्च के बाद सामने आई ये बात

NASA ने एलियंस और UFO को लेकर सबसे बड़ा खुलासा किया है। उन्होंने पिछले साल एक बड़ी टीम बनाई थी. वह 9 महीने से लगातार पढ़ाई कर रही थी. आज उनकी रिपोर्ट सामने आई है. उन्होंने जो बातें कही हैं वो आपको हैरान कर देंगी.

NASA ने दुनिया का सबसे बड़ा खुलासा किया है. वे नहीं जानते कि यूएफओ या यूएपी क्या है। लेकिन ये जरूर जानते हैं कि उन्हें दूसरी दुनिया से कोई लेना-देना नहीं है. फिर भी हमारे पास जो सबूत हैं, उनसे यह नहीं पता चलता कि UAP का अलौकिक संबंध है। हम उनकी तलाश करेंगे. वैज्ञानिक ढंग से अध्ययन करेंगे.

नासा अध्ययन करेगा कि क्या ऐसी पर्यावरणीय स्थितियाँ हैं जिनमें UAP पृथ्वी के चारों ओर या उसके वायुमंडल में बन सकते हैं। यह भी संभव है कि एलियन या यूएफओ का दिखना हमारे हवाई यातायात प्रबंधन के कारण आकाश में कुछ बदलाव का परिणाम हो।

नासा ने वादा किया है कि वह वैज्ञानिक तरीके से इन एलियंस या यूएफओ की खोज करेगा। तकनीकी विशेषज्ञों की मदद लेंगे। एलियंस या उनके वाहन यानी यूएफओ का दिखना. हमेशा से चर्चा और विवाद का विषय रहा है. अमेरिका ने यूएफओ को अलग-अलग नामों से बुलाना शुरू कर दिया है. इसे अनआइडेंटिफाइड एनोमलस फेनोमेना (यूएपी – अनआइडेंटिफाइड एनोमलस फेनोमेना) कहा जाता है। पिछले साल नासा ने इनका अध्ययन करने के लिए एक टीम बनाई थी.

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Google News Follow Me

NASA alien

सही तस्वीर या वीडियो न होने से दिक्कतें आती हैं.

उच्च गुणवत्ता वाली तस्वीरें या वीडियो न होने के कारण इन यूएफओ को समझना और भी मुश्किल हो जाता है। कई बार तो यह साफ नहीं हो पाता कि यह चीज कोई विमान है या कोई प्राकृतिक घटना। इसके बाद नासा ने 16 लोगों की एक टीम बनाई. इस टीम में वैज्ञानिक, वैमानिकी और डेटा विश्लेषण विशेषज्ञ शामिल हैं।

उनका मुख्य उद्देश्य यूएपी या UFO के पीछे एक तार्किक और वैज्ञानिक परिभाषा या कारण बताना था। नासा के वैज्ञानिक थॉमस ज़ुर्बुचेन ने कहा था कि हमने पृथ्वी से अंतरिक्ष में कई तरह की चीज़ें देखी हैं। जिसे जानना जरूरी है. हमारी टीम ने भी यही किया.

पिछले साल अक्टूबर में खगोल वैज्ञानिक डेविड स्पर्गेल के नेतृत्व में एक टीम बनाई गई थी. उन्होंने 9 महीने तक लगातार ऐसी घटनाओं से जुड़े डेटा की जांच की. ये लोग यूएफओ और यूएपी के मिले वीडियो का अध्ययन कर रहे थे. फोटो चेक कर रहा था.

Alien और उनके यानों को लेकर नासा का नया खुलासा सामने आया है. जो आपको हैरान कर देगा.

इससे पहले पेंटागन ने इनकार कर दिया था

इससे पहले अमेरिकी रक्षा मंत्रालय ने अपने खुलासे से पूरी दुनिया को चौंका दिया था. उन्होंने ऐसी बात कही थी, जिसे वैज्ञानिक और दुनियाभर के लोग मानने को तैयार नहीं हैं. लोगों का मानना है कि अमेरिका एलियंस और उनके एलियनशिप यानी यूएफओ के बारे में कुछ छिपा रहा है।

पेंटागन ने लंबी जांच के बाद कहा कि आज तक एलियंस और यूएफओ के अंतरिक्ष से आने का कोई सबूत नहीं मिला है। इससे पता चलता है कि एलियन कभी धरती पर आये ही नहीं। न ही उनके वाहन पृथ्वी पर कहीं दुर्घटनाग्रस्त हुए हैं। पेंटागन के एक वरिष्ठ सैन्य अधिकारी ने यह बात कही है.

किसी भी रिपोर्ट में एलियंस सामने नहीं आए

पेंटागन लगातार ऐसी घटनाओं की जांच कर रहा है जिनमें एलियन यानों के देखे जाने की खबरें आई हैं. चाहे वे अंतरिक्ष में दिखाई दें, आकाश में या समुद्र में जाते या बाहर आते हुए। ऐसी सैकड़ों रिपोर्ट्स की जांच अभी भी जारी है. लेकिन अभी तक पेंटागन को एलियंस और उनके अंतरिक्ष यान यानी यूएफओ की धरती पर आवाजाही, लैंडिंग या टेकऑफ का कोई सबूत नहीं मिला है।

पेंटागन का कहना है कि इस बात का कोई सबूत नहीं है कि बुद्धिमान एलियन जीवन पृथ्वी पर आता और जाता है। या आप यहीं रहते हैं? पेंटागन में खुफिया और सुरक्षा विभाग में अवर रक्षा सचिव रोनाल्ड मोल्ट्री ने कहा कि मैंने अभी तक ऐसा कुछ नहीं देखा है। ना तो दुनिया में कहीं भी एलियन अंतरिक्ष यान दुर्घटनाग्रस्त हुआ है और ना ही ऐसी कोई घटना हुई है।

जब तक पुख्ता सबूत नहीं मिल जाते, UFO पर यकीन नहीं किया जाएगा।

पेंटागन में बनाए गए नए ऑल डोमेन एनोमली रेजोल्यूशन ऑफिस (AARO) के निदेशक सोन किर्कपैट्रिक इसके विपरीत कहते हैं। उनका मानना है कि एलियंस धरती पर आए होंगे। लेकिन हमें इसकी वैज्ञानिक तरीके से जांच करनी होगी. पृथ्वी से बाहर जीवन हो सकता है लेकिन बिना सबूत के हम इसे स्वीकार नहीं कर सकते। हम लगातार ऐसी चीजों की जांच कर रहे हैं. जब तक हमारे पास पुष्टि नहीं होगी तब तक हम कैसे मान लें कि एलियंस आये हैं?

पिछले साल अमेरिकी सरकार की एक रिपोर्ट आई थी, जिसमें कहा गया था कि साल 2004 तक 140 ऐसे मामले सामने आए थे, जिनमें एलियन स्पेसशिप देखे गए थे। इन घटनाओं की सूचना अमेरिकी सेना ने दी थी। अमेरिका इस प्रक्रिया को अनआइडेंटिफाइड एरियल फेनोमेना (UAP) कहता है। इनके अलावा अलग-अलग जगहों से ऐसी 143 घटनाएं सामने आईं. इससे पहले इसी तरह की जांच 1969 में शुरू की गई थी. जिसका नाम प्रोजेक्ट ब्लू बुक (Project Blue Book) था. इसमें 12,618 बार यूएफओ देखे गए। जिनमें से 701 घटनाओं का कोई खुलासा नहीं हो सका.

joinwhatsapp 300x73 1

और पढ़िए –  कारोबार से जुड़ी अन्य बड़ी ख़बरें यहां पढ़ें

Talkaaj

(देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले पढ़ें Talkaaj (बात आज की) पर , आप हमें FacebookTelegramTwitterInstagramKoo और  Youtube पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)
Posted by Talkaaj.com
Facebook
Twitter
Telegram
WhatsApp
LinkedIn
Picture of TalkAaj

TalkAaj

हैलो, मेरा नाम PPSINGH है। मैं जयपुर का रहना वाला हूं और इस News Website के माध्यम से मैं आप तक देश और दुनिया से व्यापार, सरकरी योजनायें, बॉलीवुड, शिक्षा, जॉब, खेल और राजनीति के हर अपडेट पहुंचाने की कोशिश करता हूं। आपसे विनती है कि अपना प्यार हम पर बनाएं रखें ❤️

Leave a Comment

Top Stories