Home कारोबार केंद्र सरकार की इस योजना से दूर होती है गरीबी ! घर-घर में रोजगार का लाभ देती है | Deendayal Antyodaya Yojana Ke Bare Me Jankari

केंद्र सरकार की इस योजना से दूर होती है गरीबी ! घर-घर में रोजगार का लाभ देती है | Deendayal Antyodaya Yojana Ke Bare Me Jankari

by TalkAaj
A+A-
Reset
Deendayal Antyodaya Yojana
4.5/5 - (2 votes)

केंद्र सरकार की इस योजना से दूर होती है गरीबी ! घर-घर में रोजगार का लाभ देती है | Deendayal Antyodaya Yojana Ke Bare Me Jankari

Deendayal Antyodaya Yojana: केंद्र सरकार देश के गरीब परिवारों के लिए कई सरकारी योजनाएं चला रही है, जिसके तहत रोजगार से लेकर मकान तक की सुविधा उपलब्ध कराई जाती है. जानें इसके बारे में.

केंद्र सरकार की ये योजना दीनदयाल अंत्योदय योजना (Deendayal Antyodaya Yojana) मिशन है. इसके तहत गांवों और शहरों के लिए अलग—अलग योजनाएं चलाई जाती हैं. दीनदयाल उपाध्याय अंत्योदय योजना के शहरी घटक राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन के तहत गरीब परिवारों को घर देने से लेकर आजीविका दी जाती है.

READ ALSO |  राशन डीलर नही दे रहा राशन या वजन में हो गड़बड़ी, नोट कर लें ये नंबर… तुरंत होगी कार्रवाई

दीन दयाल अंत्योदय योजना तथा राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन का लक्ष्य

इस योजना का लक्ष्य शहरी गरीब परिवारों कि गरीबी और जोखिम को कम करने के लिए उन्हें लाभकारी स्वरोजगार और कुशल मजदूरी रोजगार के अवसर का उपयोग करने में सक्षम करना, जिसके परिणामस्वरूप मजबूत जमीनी स्तर के निर्माण से उनकी आजीविका में स्थायी आधार पर सराहनीय सुधार हो सके।

इस योजना का लक्ष्य चरणबद्ध तरीके से शहरी बेघरों हेतु आवश्यक सेवाओं से लैस आश्रय प्रदान करना भी होगा। योजना शहरी सड़क विक्रेताओं की आजीविका संबंधी समस्याओं को देखते हुए उनकी उभरते बाजार के अवसरों तक पहुँच को सुनिश्चित करने के लिए उपयुक्त जगह, संस्थागत ऋण, और सामाजिक सुरक्षा और कौशल के साथ इसे सुविधाजनक बनाने से भी संबंधित है।

READ ALSO | Money Transfer To Wrong Bank Account? जानिए इसे वापस कैसे प्राप्त करें

दीनदयाल अंत्योदय योजना

दीनदयाल अंत्योदय योजना मिशन (Deendayal Antyodaya Yojana Mission) के तहत गरीब परिवारों के इनकम बढ़ाने के भी प्रयास किए जाते हैं. दीनदयाल अंत्योदय योजना के ग्रामीण क्षेत्र के लिए बेघरों को घर देता है. इसके तहत 16 लाख स्ट्रट वेंडर्स की पहचान कर आईडेंटिटी कार्ड प्रदान किए जाने का लक्ष्य रखा गया है.

इस योजना के तहत लोन पर सब्सिडी भी दी जाती है. 34 लाख से अधिक शहरी महिलाओं को स्वयं सहायता समूह के तहत जोड़ा गया है.

READ ALSO | सरकार का आदेश! इन PAN Card वालों को देना होगा 10 हजार का जुर्माना

इस योजना के तहत लाभ लेने के लिए आपके पास कुछ दस्तावेज होना चाहिए. इसमें आय प्रमाण पत्र, आधार कार्ड, पहचना पत्र, निवास प्रमाण पत्र, वोटर आईडी कार्ड, मोबाइल नंबर, पासपोर्ट साइज फोटो आदि शामिल है.

आवेदन की बात करें तो आप इस योजना के तहत अधिकारिक वेबसाइट aajeevika.gov.in पर जाकर अप्लाई कर सकते हैं. अप्लाई करने के बाद आप इस योजना के तहत वैकेंसी, टेंडर और सरकार की ओर से जारी किए गए सर्कुलर की जानकारी ले सकते हैं.

READ ASLO | अब सरकार ढूंढेगी आपका चोरी हुआ फोन, शुरू हो रही है नई सर्विस

निष्कर्ष

गरीब लोगों के विकास के लिए कई योजनाएं बनाई गई हैं। डीएवाई ऐसी ही एक सरकारी पहल है। इसकी स्थापना 2011 में राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत की गई थी।

केंद्रीय मंत्रिमंडल ने 2021 में 520 करोड़ रुपये मंजूर किए हैं। यह केंद्र शासित प्रदेशों, जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के लिए डीएवाई-एनआरएलएम के तहत किया जाता है। स्वीकृत राशि वित्तीय वर्ष 2023-24 तक मान्य होगी।

पूछे जाने वाले प्रश्न

प्रश्न 1. डीएवाई-एनयूएलएम की स्थापना क्यों की गई?

शहरी गरीब परिवारों की गरीबी कम करने के लिए डीएवाई-एनयूएलएम की स्थापना की गई थी। यह शहरी गरीब लोगों को स्वयं और कुशल मजदूरी रोजगार तक पहुंचने में सक्षम बनाता है।

प्रश्न 2. डीएवाई-एनआरएलएम क्या है?

डीएवाई-एनआरएलएम गरीबी कम करने का कार्यक्रम है। इसका उद्देश्य ग्रामीण क्षेत्रों के गरीबों के लिए मजबूत संस्थानों का निर्माण करना है। कार्यक्रम इन संस्थानों को आजीविका और वित्तीय सेवाएं लेने की अनुमति देता है।

प्रश्न 3. एनआरएलएम के रूप में किस योजना में सुधार किया गया है?

स्वर्णजयंती ग्राम स्वरोजगार योजना को 1 अप्रैल 2013 से एनआरएलएम के रूप में सुधार किया गया था।

प्रश्न4. SMMU, NMMU और ULB क्या है?

  • SMMU का मतलब राज्य मिशन प्रबंधन इकाई है
  • NMMU,राष्ट्रीय मिशन प्रबंधन इकाई के लिए खड़ा है, और
  • ULB का मतलब शहरी स्थानीय निकाय है।

प्रश्न5. NULM के तहत NUUM की क्या भूमिका है?

NUUM की भूमिका सभी राज्य घटकों के लिए धन जारी करना और लक्ष्यों को परिभाषित करना है।

प्रश्न6. एनआरएलएम के तहत कितने एसएचजी मदद लेते हैं?

एनआरएलएम के तहत लाभ लेने के लिए एसएचजी को पंचसूत्र के मानदंडों का पालन करना होगा। मानदंड इस प्रकार हैं:

  • बुक रिकॉर्ड अपडेट करें
  • नियमित बैठक
  • समय पर चुकौती
  • ऑन-उधार
  • नियमित बचत

Posted by Talkaaj.com

click here
NO: 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट Talkaaj.com (बात आज की)

Talkaaj

अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आया है तो इसे Like और share जरूर करें ।

इस आर्टिकल को अंत तक पढ़ने के लिए धन्यवाद…

READ ALSO | Online Earning Kaise kare | Online Earning के 20 तरीके, घर बैठे पैसे कैसे कमाऐ

READ ALSO | Marketing Strategy क्या है? | What Is Marketing Strategy?

READ ALSO | ऐसे शुरू करें लाखों रुपये कमाने वाला न्यूज पोर्टल

READ ALSO | इलेक्ट्रॉनिक मीडिया क्या है? | What Is Electronic Media

Join Our Group For All Information And Update, Also Follow me For Latest Information??

WhatsApp                       Click Here
Facebook Page                  Click Here
Instagram                  Click Here
Telegram                  Click Here
Koo                  Click Here
Twitter                  Click Here
YouTube                  Click Here
ShareChat                  Click Here
Daily Hunt                   Click Here
Google News                  Click Here
WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Google News Follow Me

You may also like

Leave a Comment

Hindi News:Talkaaj पर पढ़ें हिन्दी न्यूज़ देश और दुनिया से, जाने व्यापार, सरकरी योजनायें, बॉलीवुड, शिक्षा, जॉब, खेल और राजनीति के हर अपडेट. Read all Hindi … Contact us: Talkaanews@gmail.com

Edtior's Picks

Latest Articles

All Right Reserved. Designed and Developed by Talkaaj

Talkaaj.com पर पढ़ें हिन्दी न्यूज़ देश और दुनिया से, जाने व्यापार, सरकरी योजनायें, बॉलीवुड, शिक्षा, जॉब, खेल और राजनीति के हर अपडेट. Read all Hindi