क्या आपने कभी नीला केला (Blue Banana) देखा है, यह वैनिला आइसक्रीम जैसा लगेगा खाने में – देखें तस्वीरें

Blue Banana
Facebook
Twitter
Telegram
WhatsApp

क्या आपने कभी नीला केला (Blue Banana) देखा है, यह वैनिला आइसक्रीम जैसा लगेगा खाने में – देखें तस्वीरें

इंटरनेट पर वायरल हो रहे इस नीले रंग की खेती के बारे में रिपोर्ट में बताया गया है कि इस केले के पेड़ की ऊंचाई 6 मीटर तक होती है। इसकी खेती के डेढ़ से दो साल बाद इसमें फसलें आने लगती हैं। अलग-अलग देशों को अलग-अलग नामों से पहचाना जाता है।

दुनिया में नीला केला भी मौजूद है

केला खाने के फायदे तो आप जरूर जानते होंगे, लेकिन क्या आपने कभी ऐसा केला देखा है, जिसका रंग नीला हो। बचपन से ही आपने केले के पीले या कच्चे केले के हरे रंग को देखा होगा। अब आप हैरान होने वाले हैं क्योंकि दुनिया में नीला केला (Blue Banana) भी मौजूद है। हां, इस केले का उत्पादन ठीक वैसा ही है जैसा कि भारत में है, लेकिन इसका रंग नीला है।

अलग-अलग देशों में अलग-अलग नाम

इंटरनेट पर वायरल हो रही इस नीली खेती के बारे में रिपोर्ट ने बताया है कि इस केले के पेड़ की ऊंचाई 6 मीटर तक है। इसकी खेती के डेढ़ से दो साल बाद इसमें फसलें आने लगती हैं। इसे अलग-अलग देशों में अलग-अलग नामों से पहचाना जाता है। जैसे फ़िजी में हवाइयन बनाना, हवई में आइसक्रीम बनाना और क्री के नाम से इसे फिलीपींस में बुलाना।

Blue Banana
File Photo PTI Blue Banana

ये भी पढ़े:- सुबह खाली पेट इस तरह से देसी घी (Desi Ghee) का सेवन करें, इससे गठिया से लेकर मोटापा दूर हो जाएगा

इसे ‘ब्लू जावा केला’ कहा जाता है

ब्लू केला को ब्लू जावा केला (Blue Banana) भी कहा जाता है। इसके अलावा, नीले रंग के केले को केरी, हवाई केला, आइसक्रीम केला के नाम से भी जाना जाता है। अगर आप इसके आकार के बारे में जानना चाहते हैं, तो बता दें कि ब्लू जावा केला 7 इंच तक लंबा होता है।

खेती कहाँ की जाती है?

ब्लू केला की खेती ज्यादातर टेक्सास, फ्लोरिडा, कैलिफोर्निया, लुइसियाना में की जाती है। एक व्यक्ति ने इस नीले केले पर अपनी समीक्षा भी दी है। उन्होंने बताया कि जब वे इस केले को खाते हैं, तो यह बिल्कुल वैनिला आइसक्रीम की तरह होता है।

किस तापमान पर खेती की जाती है?

दक्षिण पूर्व एशिया में नीले केले की खेती की जाती है। दक्षिण अमेरिका में नीले केले (Blue Banana) की खेती की जाती है। इसका कारण यह है कि यह कम तापमान और ठंडे क्षेत्रों में पैदा होता है। हालाँकि, इस जगह इसकी खेती सबसे अच्छी है।

ये भी पढ़े:-EMI, Personal Loan, Home Loan लेने वालों के लिए बड़ी खबर, सुप्रीम कोर्ट ने लोन मोरेटोरियम पर दिया ये फैसला

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें और  टेलीग्राम पर ज्वाइन करे और  ट्विटर पर फॉलो करें .Talkaaj.com पर विस्तार से पढ़ें व्यापार की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

Facebook
Twitter
Telegram
WhatsApp
TalkAaj

TalkAaj

Leave a Comment

Top Stories

Maruti Alto 2022

इस दिन मार्केट में धूम मचाने आएगी Maruti Suzuki Alto 2022, लॉन्च से पहले जानें कीमत, फीचर्स और स्पेसिफिकेशन की पूरी डिटेल

इस दिन मार्केट में धूम मचाने आएगी Maruti Suzuki Alto 2022, लॉन्च से पहले जानें कीमत, फीचर्स और स्पेसिफिकेशन की पूरी डिटेल Maruti Alto 2022 :

New Helmet Rules in India

New Helmet Rules: बाइक-स्कूटी वाले हो जाओ सावधान! हेलमेट पहना है फिर भी कटेगा चालान, जानिए ऐसा क्यों?

New Helmet Rules: बाइक-स्कूटी वाले हो जाओ सावधान! हेलमेट पहना है फिर भी कटेगा चालान, जानिए ऐसा क्यों? New Helmet Rules in India: सिर्फ हेलमेट