Homeटेक ज्ञानऑनलाइन ठगी (Online Fraud) के शिकार हुए तो 10 दिन में मिलेंगे...

ऑनलाइन ठगी (Online Fraud) के शिकार हुए तो 10 दिन में मिलेंगे पैसे, करना होगा ये काम

ऑनलाइन ठगी (Online Fraud) के शिकार हुए तो 10 दिन में मिलेंगे पैसे, करना होगा ये काम

हाल ही में रिजर्व बैंक ने ग्राहकों के हितों को सर्वोपरि रखते हुए दो बड़े बैंकों पर जुर्माना लगाया है। रिजर्व बैंक ने SBI पर 1 करोड़ रुपये, स्टैंडर्ड चार्टर्ड बैंक पर 1.95 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया है।

अगर आप ऑनलाइन शॉपिंग करते समय किसी फ्रॉड (Online Fraud) का शिकार हो जाते हैं तो घबराने की जरूरत नहीं है। आप बैंक में शिकायत करके 10 दिनों के भीतर अपना पैसा वापस पा सकते हैं। यदि आपका बैंक निर्धारित समय के भीतर शिकायत का संज्ञान नहीं लेता है, तो रिजर्व बैंक के सीएमएस पोर्टल यानी शिकायत प्रबंधन प्रणाली में शिकायत दर्ज (Complaint Management System) की जा सकती है। फिर भी अगर बैंक ग्राहक की शिकायत का निपटारा नहीं करता है तो रिजर्व बैंक बैंक पर जुर्माना लगा सकता है।

RBI ने दो बैंकों पर लगाया जुर्माना

हाल ही में रिजर्व बैंक ने ग्राहकों के हितों को सर्वोपरि रखते हुए दो बड़े बैंकों पर जुर्माना लगाया है। रिजर्व बैंक ने एसबीआई पर 1 करोड़ रुपये, स्टैंडर्ड चार्टर्ड बैंक पर 1.95 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया है। आरबीआई के अनुसार, एसबीआई ने वाणिज्यिक बैंकों और चयनित वित्तीय संस्थानों (Financial Institutions) की ओर से धोखाधड़ी वर्गीकरण और ग्राहकों के साथ धोखाधड़ी की रिपोर्टिंग के नियमों का उल्लंघन किया।

यह भी पढ़िए | Aadhaar Card को लेकर बड़ा अपडेट! UIDAI ने ट्वीट कर दी जानकारी, सभी पर लागू होगी

बैंकों ने की यह लापरवाही

स्टैंडर्ड चार्टर्ड बैंक ने अनधिकृत लेनदेन राशि की वापसी में देरी की थी। इसलिए रिजर्व बैंक ने 1.95 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया और एसबीआई ने ग्राहक के खाते में धोखाधड़ी की सूचना देने में देरी की, जिसके चलते बैंक पर 1 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया गया है.

रिजर्व बैंक का बैंकों और वित्तीय संस्थानों को स्पष्ट संदेश है कि ग्राहकों की शिकायतों का संज्ञान नहीं लेने और देर से निपटाने पर जुर्माना लगाया जाएगा। इसलिए बैंकिंग से जुड़े लेन-देन करने वाले लोगों को भी अपने अधिकारों के प्रति जागरूक होना चाहिए।

ग्राहकों को सावधान रहना चाहिए

ग्राहकों को ऑनलाइन शॉपिंग या लेनदेन के दौरान सतर्क रहने की जरूरत है ताकि वे किसी भी तरह की धोखाधड़ी के शिकार होने से बच सकें। जब भी आप ऑनलाइन शॉपिंग करें तो हमेशा कोशिश करें कि जिस कंप्यूटर या मोबाइल से आप पेमेंट कर रहे हैं उसमें एंटीवायरस मौजूद हो। साथ ही, अपने सॉफ़्टवेयर को हमेशा अपडेट रखना महत्वपूर्ण है। इसके अलावा बैंकिंग पासवर्ड कभी भी अपने कंप्यूटर में सेव नहीं करना चाहिए।

लॉकडाउन के दौरान ऑनलाइन धोखाधड़ी जैसे साइबर अपराध के मामलों में उल्लेखनीय वृद्धि हुई है। एक रिपोर्ट के मुताबिक, पिछले एक साल में ही 27 मिलियन से ज्यादा लोग आइडेंटिटी हैकर्स के निशाने पर आ चुके हैं।

यह भी पढ़िए | घर बैठे Aadhaar Card में बदलें नाम, जन्म तिथि व एड्रेस, सीखें ये आसान तरीका

यह भी पढ़िए |आप मुफ्त में Aadhaar Card Franchise लेकर मोटी कमाई कर सकते हैं, यह तरीका है

इस आर्टिकल को शेयर करें

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए –
TalkAaj (बात आज की) के समाचार ग्रुप Whatsapp से जुड़े
TalkAaj (बात आज की) के समाचार ग्रुप Telegram से जुड़े
TalkAaj (बात आज की) के समाचार ग्रुप Instagram से जुड़े
TalkAaj (बात आज की) के समाचार ग्रुप Youtube से जुड़े
TalkAaj (बात आज की) के समाचार ग्रुप को Twitter पर फॉलो करें
TalkAaj (बात आज की) के समाचार ग्रुप Facebook से जुड़े

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments