Home मनोरंजन मुकेश खन्ना (Mukesh Khanna) दी सफाई - मैं महिलाओं का जितना सम्मान...

मुकेश खन्ना (Mukesh Khanna) दी सफाई – मैं महिलाओं का जितना सम्मान करता हूं, शायद ही कोई करता होगा

मुकेश खन्ना (Mukesh Khanna) दी सफाई – मैं महिलाओं का जितना सम्मान करता हूं, शायद ही कोई करता होगा

मुकेश खन्ना (Mukesh Khanna) ने कहा है कि, मैंने कभी नहीं कहा कि महिलाओं को काम नहीं करना चाहिए। मैंने यह नहीं कहा कि अगर महिला बाहर जाती है, तो #MeToo होता है। मैं बस यह बताने जा रहा था कि #MeToo कैसे शुरू होता है। मुझे दुख है कि मैं अपनी बात सही तरीके से नहीं रख पा रहा था।

नेटिज़ेंस ने उन्हें मुकेश खन्ना के मीटू मूवमेंट पर दिए गए बयान पर ट्रोल किया, जिन्होंने टीवी धारावाहिक महाभारत में ‘भीष्म पितामह’ और ‘शक्तिमान’ (Shaktimaan)के पात्रों को पुनर्जीवित किया।  #MeToo के बारे में उनके बयान का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है।

वीडियो में, मुकेश खन्ना (Mukesh Khanna) कह रहे हैं कि – एक आदमी अलग है, एक महिला अलग है। एक महिला की रचना अलग है और एक पुरुष की अलग है। महिला का काम घर की देखभाल करना है, माफ करना मैं कभी-कभी बोलती हूं। मी-टू (#MeToo) की समस्या कहां है, जब महिलाओं ने भी काम करना शुरू कर दिया है। आज महिलाएं पुरुष के साथ कंधे से कंधा मिलाकर बात करती हैं।

ये भी पढ़े :-इन दोनों जानकारी को गैस एजेंसी से अपडेट करवा लें, नहीं तो LPG रसोई गैस डिलीवरी बंद हो जाएगी

अगर इस वीडियो के बारे में कोई विवाद था, तो मुकेश खन्ना ने एक स्पष्टीकरण प्रस्तुत किया है। मुकेश खन्ना ने कहा है कि जो वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है, वह एक छोटा सा अंश है और उसी के आधार पर उन्हें दोषी नहीं ठहराया जा सकता। अभिनेता ने अपने फेसबुक और इंस्टाग्राम अकाउंट पर एक वीडियो साझा करके अपनी सफाई दी है। उन्होंने वीडियो के साथ एक बड़ी पोस्ट भी लिखी है।

मुकेश खन्ना (Mukesh Khanna) ने एक बड़े पोस्ट में ये बातें लिखी हैं

उन्होंने लिखा है कि, ‘मैं वास्तव में हैरान हूं कि मेरे एक बयान को बहुत गलत तरीके से लिया जा रहा है। मुझे महिलाओं के खिलाफ बताया जा रहा है। महिलाओं के प्रति मैं जितना सम्मान करता हूं, शायद ही कोई करता हो। इसीलिए मैंने LAXMI BOMB नाम का विरोध किया। मुझे महिलाओं की सुरक्षा की चिंता है। मैंने हर रेप केस के खिलाफ बोला है। कुछ लोगों ने मेरे एक साक्षात्कार की क्लिपिंग के बारे में शोर किया है।

ये भी पढ़े :- Android Smartphone Slow Charge इन पांच कारणों से होता है, कहीं आप तो नहीं करते ये गलतियां

मैंने कभी नहीं कहा कि महिलाओं को काम नहीं करना चाहिए। मैं आपको केवल यह बताने जा रहा था कि Me Too कैसे शुरू होता है। हमारे देश में, महिलाओं ने हर क्षेत्र में अपनी जगह बनाई है। चाहे वह रक्षा मंत्री, वित्त मंत्री, विदेश मंत्री या अंतरिक्ष में हों। हर जगह महिलाओं ने अपना परचम लहराया है।

तो मैं एक महिला के लिए काम करने के खिलाफ कैसे हो सकता हूं। उस वीडियो साक्षात्कार में, मैं उन समस्याओं पर प्रकाश डाल रहा था जो महिला के बाहर काम करने से आ सकती हैं। जैसे घर के बच्चे अकेले पड़ जाते हैं। मैं पुरुष और महिला धर्म के बारे में बात कर रहा था, जो हजारों वर्षों से चल रहा है।

 

View this post on Instagram

 

मुझे सचमुच हैरानी हो रही है कि मेरे एक स्टेट्मेंट को बहुत ही ग़लत तरीक़े से लिया जा रहा है। मुझे औरतों के ख़िलाफ़ बताया जा रहा है। जितनी इज़्ज़त मैं नारियों की करता हूँ शायद ही कोई करता होगा। इसीलिए मैंने LAXMI BOMB नाम का विरोध किया। मैं नारियों की सुरक्षा को लेकर चिंतित हूँ। हर रेप कांड के ख़िलाफ़ मैं बोला हूँ।मेरे एक इंटर्व्यू की क्लिपिंग को लेकर कुछ लोगों ने शोर मचा दिया है। मैंने कभी नहीं कहा कि औरतों को काम नहीं करना चाहिए। मैं सिर्फ़ ये बताने जा रहा था कि Me Too की शुरुआत कैसे होती है। हमारे देश में औरतों ने हर फ़ील्ड में अपनी जगह बनाई है। फिर चाहे वो डिफ़ेन्स मिनिस्टर हो, फ़ाइनैन्स मिनिस्टर हो , विदेश मंत्री हो या स्पेस में हो हर जगह नारी ने अपना परचम लहराया है। तो मैं नारी के काम करने के ख़िलाफ़ कैसे हो सकता हूँ। उस विडीओ इंटर्व्यू में मैं सिर्फ़ नारी के बाहर जाकर काम करने से क्या दिक़्क़तें आ सकती हैं उस पर रोशनी डाल रहा था। जैसे घर के बच्चे अकेले पड़ जातें हैं। मैं पुरुष और नारी धर्म की बात कर रहा था जो हज़ारों सालों से चला आ रहा है। मैंने ये नहीं कहा कि नारी बाहर जाती है तो Me Too होता है। मैंने एक साल पहले इसी टॉपिक पर एक विडीओ बनाई थी जो मैं आप लोगों को दिखाना चाहता हूँ कि तब भी मैंने यही कहा था कि नारियों को अपने काम काने की जगह पर अपनी सुरक्षा कैसे करनी चाहिये। मैंने तब भी नहीं कहा कि नारियाँ काम पर ना जाएँ। तो आज कैसे कह सकता हूँ। मैं अपने सभी दोस्तों से यही कहना चाहता हूँ कि मेरे स्टेट्मेंट को ग़लत तरीक़े से मत पेश करें। मेरा पिछला चालीस साल, मेरा फ़िल्मी सफ़र इस बात की पुष्टि करता है मैंने हमेशा नारियों की इज़्ज़त की है। इस बात को हर कलाकार या हर फ़िल्म यूनिट का मेम्बर जानता है कि मैंने हमेशा सबकी इज़्ज़त की है।अगर कोई भी नारी मेरे इस स्टेट्मेंट से आहत हुई हो तो मुझे अफ़सोस है कि मैं अपनी बात सही ढंग से नहीं रख पाया। मुझे इस बात की चिंता नहीं कि नारी समाज मेरे ख़िलाफ़ हो जाएगा। उन्हें होना भी नहीं चाहिए।मेरी ज़िंदगी खुली किताब है। सब जानते हैं कि मैंने कैसे ज़िंदगी जी है और कैसे जी रहा हूँ। मैं अपना वही इंटर्व्यू आपको पूरा दिखाना चाहता हूँ जिसमें से ये क्लिपिंग ली गई है। आपको पता चलेगा मैं नारियों के प्रति क्या विचार रखता हूँ।

A post shared by Mukesh Khanna (@iammukeshkhanna) on

मैंने यह नहीं कहा कि अगर महिला बाहर जाती है, तो मी टू होता है। मैंने एक साल पहले इस विषय पर एक वीडियो बनाया था, जिसे मैं आपको दिखाना चाहता हूं, तब भी मैंने कहा था कि महिलाओं को अपने काम के स्थान पर खुद को कैसे रखना चाहिए। तब भी मैंने यह नहीं कहा कि महिलाएं काम पर नहीं जाती हैं, तो मैं आज कैसे कह सकता हूं।

ये भी पढ़े :- अब आप कश्मीर (Kashmir) में जमीन खरीद सकते हैं; आइए समझते हैं कैसे?

मैं हमेशा महिलाओं का सम्मान करता हूं

मैं अपने सभी दोस्तों से कहना चाहता हूं कि मेरे बयान को गलत न समझें। मेरा पिछले चालीस साल का मेरा फिल्मी सफर इस बात की पुष्टि करता है कि मैंने हमेशा महिलाओं का सम्मान किया है। हर फिल्म यूनिट का हर कलाकार या सदस्य इस बात को जानता है कि मैंने हमेशा सभी का सम्मान किया है। यदि इस कथन से किसी भी महिला को ठेस पहुंची है, तो मुझे खेद है कि मैं अपनी बात सही तरीके से नहीं रख पाई।

मुझे चिंता नहीं है कि महिला समाज मेरे खिलाफ हो जाएगा। वे भी होना नहीं है। मेरा जीवन एक खुली किताब है। सभी जानते हैं कि मैं कैसे जी रहा हूं और जी रहा हूं। मैं आपको वही साक्षात्कार दिखाना चाहता हूं, जिससे यह क्लिपिंग ली गई है। आपको पता चल जाएगा कि मैं महिलाओं के बारे में क्या सोचता हूं।

ये भी पढ़े :-

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments