Homeअन्य ख़बरेंकारोबारRBI ने MasterCard के Debit या Credit Card पर प्रतिबंध लगाया! तो...

RBI ने MasterCard के Debit या Credit Card पर प्रतिबंध लगाया! तो जानिए बैन से आप पर क्या पड़ेगा असर

RBI ने MasterCard के Debit या Credit Card पर प्रतिबंध लगाया! तो जानिए बैन से आप पर क्या पड़ेगा असर

MasterCard Debit and Credit Card: क्रेडिट कार्ड बाजार में MasterCard और Visa Card का बोलबाला है, लेकिन मास्टर कार्ड पर प्रतिबंध से Visa और RuPay Card का महत्व बढ़ जाएगा।

भारतीय रिजर्व बैंक (Reserve Bank Of India) द्वारा नया MasterCard जारी न करने के निर्णय ने क्रेडिट कार्ड बाजार में एक बड़ी हलचल पैदा कर दी। हालांकि इस फैसले से पुराने कार्डधारकों पर ज्यादा असर नहीं पड़ेगा। क्रेडिट कार्ड व्यवसाय में वीज़ा और MasterCard प्रमुख बल होने के साथ, मास्टरकार्ड पर प्रतिबंध लगने के बाद वीज़ा (Visa) का महत्व और बढ़ जाएगा। आइए जानते हैं देश के Credit Card बाजार में वीजा (Visa), MasterCard और रुपे की कितनी हिस्सेदारी है…

बैंकों और माइक्रो फाइनेंस कंपनियों द्वारा नए डेबिट और क्रेडिट कार्ड जारी करने को लेकर केंद्रीय बैंक आरबीआई ने बुधवार को बड़ा फैसला लिया है। आरबीआई (RBI) ने मास्टरकार्ड (MasterCard) जारी करने पर रोक लगा दी है। अब बैंक नए या पुराने ग्राहकों को मास्टर डेबिट (Master Debit) और क्रेडिट कार्ड (Credit Card) जारी नहीं कर सकेंगे। RBI का यह फैसला 22 जुलाई से लागू होगा।

यह भी पढ़िए | Amazon के साथ सिर्फ 4 घंटे काम करके हर महीने कमाएं 60 हजार रुपये, जानिए कैसे?

दरअसल, बैंकों द्वारा जारी किए गए डेबिट और क्रेडिट कार्ड कंपनियों द्वारा बनाए जाते हैं। इनमें से एक मास्टरकार्ड एशिया/पैसिफिक पीटीई लिमिटेड (MasterCard) है। मास्टरकार्ड देश में कार्ड नेटवर्क संचालित करने के लिए पीएसएस अधिनियम के तहत अधिकृत एक भुगतान प्रणाली ऑपरेटर है।

भारतीय रिज़र्व बैंक ने बुधवार को कार्य करते हुए Mastercard Asia / Pacific Pte Ltd ने 22 जुलाई से अपने कार्ड नेटवर्क में नए घरेलू डेबिट, क्रेडिट या प्रीपेड ग्राहकों को जोड़ने पर प्रतिबंध लगा दिया है।

क्रेडिट कार्ड बाजार में कंपनियों की हिस्सेदारी

वीजा (Visa) – 45%
मास्टरकार्ड (MasterCard) – 33%
रूपे (RuPay) – 20%.
एमेक्स (Amex) – 3%

स्रोत- 2020 भुगतान और ई-कॉमर्स रिपोर्ट, एशिया प्रशांत पीपीआरओ

यह भी पढ़िए | LPG Price | राहत की खबर! अब खाना बनाना होगा सस्ता, बढ़ती LPG महंगाई की कोई टेंशन नहीं

कितने लोगों के पास डेबिट और क्रेडिट कार्ड हैं?

देश में कई बैंक मास्टर कार्ड (MasterCard) , वीजा (Visa) और रुपे कार्ड (RuPay) जारी करते हैं। हालांकि नए मास्टरकार्ड (MasterCard) पर प्रतिबंध के बाद ग्राहकों और बैंकों के बीच वीजा और रुपे कार्ड का महत्व और बढ़ जाएगा। देश में अब तक 6.25 करोड़ लोगों को क्रेडिट कार्ड (Credit Card) जारी किए जा चुके हैं, यानी इतने कार्ड चलन में हैं. वहीं, डेबिट कार्ड (Debit Card) की बात करें तो 90 करोड़ डेबिट कार्ड चलन में हैं।

RBI ने मास्टरकार्ड पर प्रतिबंध क्यों लगाया?

RBI ने MasterCard पर डेटा स्टोरेज नियमों का पालन न करने के चलते यह कार्रवाई की है। मास्टरकार्ड (MasterCard) भारत में अपने ग्राहकों का डेटा स्टोर नहीं कर रहा था, जिसके चलते यह फैसला लिया गया। इसके लिए कंपनी को पर्याप्त समय और अवसर दिया गया। हालांकि साल 2018 में कई कंपनियों ने इसका विरोध किया, लेकिन बाद में नियमों का पालन करने के लिए राजी हो गई।

यह भी पढ़िए | 10 रुपये में 100 किमी दौड़ेगी ये Electric Bike, जानें कीमत समेत पूरी जानकारी

क्या यह ग्राहकों को प्रभावित करेगा?

आरबीआई (RBI) के फैसले के बाद बैंक नए मास्टर कार्ड जारी नहीं कर सकेंगे। हालांकि रिजर्व बैंक ने स्पष्ट किया है कि पुराना मास्टर कार्ड जारी रहेगा। इसका मतलब है कि उनके डेबिट और क्रेडिट कार्ड पर सभी सेवाएं पहले की तरह जारी रहेंगी। मास्टरकार्ड (MasterCard) के मौजूदा ग्राहकों पर आरबीआई के आदेश का कोई असर नहीं पड़ेगा। आरबीआई की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि ‘ MasterCard ‘ Debit and Credit Card जारी करने वाले सभी बैंकों और गैर-बैंकों को इन निर्देशों का पालन करने की सलाह देगा।

MasterCard ने क्या स्पष्ट किया है?

RBI के इस फैसले पर मास्टरकार्ड ने स्पष्ट किया कि वे केंद्रीय बैंक के इस फैसले से निराश हैं। कंपनी ने कहा कि वह अपने कानूनी और नियामक दायित्वों के लिए पूरी तरह से प्रतिबद्ध है। कंपनी ने कहा कि वह सरकार के डिजिटल इंडिया विजन को आगे बढ़ाने के लिए तैयार है। ग्राहकों और भागीदारों के साथ काम करने के लिए भी प्रतिबद्ध है।

बढ़ी RBL की मुश्किलें

वर्तमान में, RBL केवल MasterCard नेटवर्क पर Credit Card  जारी करता है। हालांकि, बैंक ने वीज़ा भुगतान नेटवर्क पर Credit Card जारी करने के लिए एक तत्काल समझौता किया है। इस नए समझौते में 8-10 सप्ताह लगने की उम्मीद है। बता दें कि आरबीएल (RBL) हर महीने एक लाख नए Credit Card  जारी करता है, जिसमें अब देरी होगी।

यह भी पढ़िए | अब पसीने से पैदा होगी 24 घंटे बिजली (Electricity) , चार्ज हो सकेगा फोन: Research

जानिए मास्टरकार्ड के बारे में

आप खरीदारी करने, ATM से नकद निकालने, ऑनलाइन भुगतान करने के लिए डेबिट कार्ड या क्रेडिट कार्ड का उपयोग करते हैं। आपने उन कार्डों पर मास्टरकार्ड, वीजा कार्ड और रुपेकार्ड लिखा हुआ देखा होगा। ये तीन कंपनियां हैं जो एटीएम और क्रेडिट कार्ड जारी करती हैं।

MasterCard एक अमेरिकी कंपनी है। इसका मुख्यालय न्यूयॉर्क में है। इस कंपनी की स्थापना वर्ष 1979 में अंतर बैंक लेनदेन के लिए की गई थी। शुरुआती समय में यह केवल अमेरिकी बैंकों में वित्तीय सेवाओं से जुड़ा था। यह वर्तमान में लगभग 160 देशों में सेवा प्रदान करता है। इसके तहत कई तरह के कार्ड जारी किए जाते हैं।

इस आर्टिकल को शेयर करें

ये भी पढ़े:- 

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें और  टेलीग्राम पर ज्वाइन करे और  ट्विटर पर फॉलो करें .डाउनलोड करे Talkaaj.com पर विस्तार से पढ़ें व्यापार की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments