Home अन्य ख़बरें कारोबार E passport (ई-पासपोर्ट) अगले साल से सभी को जारी किया जाएगा, कैसा...

E passport (ई-पासपोर्ट) अगले साल से सभी को जारी किया जाएगा, कैसा होगा E passport देखे रिपोर्ट

E passport (ई-पासपोर्ट) अगले साल से सभी को जारी किया जाएगा, सरकार ने तैयार की योजना

न्यूज़ डेस्क :-  मोदी सरकार की सरकार अगले साल से सभी को E passport (ई-पासपोर्ट) जारी करने की तैयारी कर रही है। इन ई-पासपोर्टों में एक इलेक्ट्रॉनिक माइक्रोप्रोसेसर चिप होगी, जो नकली पासपोर्ट बनाने पर पूरी तरह से रोक लगा देगी।

सरकारी अधिकारियों के राजनयिकों के लिए 20 हजार E passport (ई-पासपोर्ट) जारी किए गए हैं। अब सरकार अगले साल से पासपोर्ट के लिए आवेदन करने वाले भारतीय नागरिकों को ई-पासपोर्ट उपलब्ध कराएगी।

एक अंग्रेजी अखबार की खबर के मुताबिक, इलेक्ट्रॉनिक माइक्रोप्रोसेसर चिप से लैस ई-पासपोर्ट फर्जी पासपोर्ट नहीं बनाएगा। इसके अलावा, आव्रजन की प्रक्रिया को भी तेज किया जाएगा।

ये भी पढें:-Credit Card उपयोगकर्ताओं को इन महत्वपूर्ण बातों को जानना चाहिए, भविष्य में परेशानी नहीं आएगी

E passport
File PhotoPTI E passport

सरकार E passport (ई-पासपोर्ट) बनाने के लिए एक आईटी इन्फ्रास्ट्रक्चर कंपनी का चुनाव करने जा रही है। चयनित एजेंसी इसके लिए एक विशेष इकाई बनाएगी, जो एक घंटे के भीतर 10 से 20 हजार व्यक्तिगत ई-पासपोर्ट का प्रसंस्करण करेगी।

खबर के मुताबिक, दिल्ली चेन्नई में ई-पासपोर्ट से संबंधित डेटा सेंटर स्थापित किए जाएंगे। वर्तमान में, हर घंटे 10 हजार E passport (ई-पासपोर्ट) जारी करने की तैयारी है।

लेकिन बाद में इसे बढ़ाकर 50 हजार करने की योजना है। बताया जा रहा है कि जरूरत पड़ने पर इसे हर घंटे 20 हजार से बढ़ाकर एक लाख किया जा सकता है। ई-पासपोर्ट से फर्जी पासपोर्ट की समस्या से छुटकारा मिलेगा।

ये भी पढें:-Sushant Singh Rajput की मौत के दो महीने पूरे होने के बाद भी बने रहे ये 10 सवाल, जानें अब तक का पूरा घटनाक्रम

E passport
File Photo PTI E passport

देश में अब तक जारी किए गए सभी E passport (ई-पासपोर्ट) विदेश मंत्रालय के मुख्यालय के सीपीवी डिवीजन से जारी किए गए हैं। जो ज्यादातर सरकारी अधिकारियों के राजनयिकों के लिए हैं। लेकिन अब देश के सभी 36 पासपोर्ट कार्यालय भी ई-पासपोर्ट जारी कर सकेंगे। सरकार की तरफ से ई-पासपोर्ट बनाने की पूरी तैयारी कर ली गई है।

विदेश मंत्रालय के सहयोग से राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र इस पर काम करेगा। विदेश मंत्रालय ने राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र से कहा है कि वह E passport (ई-पासपोर्ट) बनाने की प्रक्रिया को तेज करने के लिए आईटी इन्फ्रास्ट्रक्चर सॉल्यूशन एजेंसी का चयन करे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments